• Hindi News
  • Db original
  • From Sanjay Gandhi, Madhav Rao Scindia To Lok Sabha Speaker And 2 Chief Ministers Have Been Killed

10 बड़े हेलिकॉप्टर और विमान हादसे:संजय गांधी, माधव राव सिंधिया से लेकर लोकसभा स्पीकर और 2 मुख्यमंत्रियों तक की जा चुकी है जान

नई दिल्ली2 महीने पहलेलेखक: संध्या द्विवेदी

CDS बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश में निधन हो गया। इस हादसे ने उन सभी घटनाओं की यादें ताजा कर दीं, जिनमें कई बड़ी हस्तियों को जान गंवानी पड़ीं। भारतीय राजनेता वाई एस राजशेखर रेड्डी, संजय गांधी, माधव राव सिंधिया, जीएमसी बाल योगी, एस मोहन कुमारमंगलम, ओपी जिंदल, अरुणाचल प्रदेश के चीफ मिनिस्टर दोरजी खांडू जैसे दिग्गज प्लेन क्रैश का शिकार हो चुके हैं।

आइए एक नजर डालते हैं उन हादसों की टाइम लाइन पर...

लेफ्टिनेंट जनरल दौलत सिंह 1963 में जम्मू-कश्मीर के पुंछ में हुए विमान हादसे में शहीद हो गए थे।
लेफ्टिनेंट जनरल दौलत सिंह 1963 में जम्मू-कश्मीर के पुंछ में हुए विमान हादसे में शहीद हो गए थे।

1. 23 नवंबर 1963 को जम्मू कश्मीर के पुंछ में भारतीय वायुसेना का विमान क्रैश हुआ था। इसमें वायुसेना के 6 अधिकारियों की जान चली गई थी। जान गंवाने वालों में लेफ्टिनेंट जनरल दौलत सिंह, लेफ्टिनेंट जनरल बिक्रम सिंह और एयर वाइस मार्शल एरलिक पिंटो भी शामिल थे।

2. 31 मई 1973 को कांग्रेस लीडर मोहन कुमार मंगलम की मौत भी प्लेन क्रैश में हुई थी। वे इंडियन एयरलाइंस 440 नाम के प्लेन पर सवार थे। उनके मृत शरीर को उनके पार्कर पेन से पहचाना गया था।

3. 23 जून 1980 को भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बेटे संजय गांधी की मौत भी प्लेन क्रैश में हुई थी। उनकी मौत नई दिल्ली स्थित सफदरजंग एयरपोर्ट के करीब हुई थी। चौंकाने वाली बात यह थी कि वे कहीं सफर पर नहीं निकले थे बल्कि वे अपना प्राइवेट प्लेन खुद उड़ा रहे थे। वे अच्छे पायलट थे। घटना के बाद पता चला कि वे प्लेन से किसी खतरनाक करतब को अंजाम दे रहे थे।

साल 2011 में अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दोरजी खांडू की हेलिकॉप्टर हादसे में मौत हो गई थी। उनका शव कई दिनों तक लापता रहा था।
साल 2011 में अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दोरजी खांडू की हेलिकॉप्टर हादसे में मौत हो गई थी। उनका शव कई दिनों तक लापता रहा था।

4. साल 2001 में अरुणाचल प्रदेश के एजुकेशन मिनिस्टर नटुंग की हेलिकॉप्टर क्रैश में ही मौत हुई थी।

5. 30 सितंबर, 2001 को उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में कांग्रेस नेता माधवराव सिंधिया की मौत भी प्लेन क्रैश में हुई थी। वे अपने 10 सीटर निजी प्लेन में सवार थे। उसमे 4 पत्रकार भी शामिल थे। यह घटना भी खराब विजिबिलिटी की वजह से हुई थी। भारी बरसात की वजह से हेलिकॉप्टर क्रैश होकर मोटा गांव में एक धान के खेत में गिर गया था।

6. 3 मार्च 2002 को लोकसभा स्पीकर तेलुगू देशम पार्टी लीडर जीएमसी बालयोगी भी आंध्र प्रदेश में हेलिकॉप्टर क्रैश में मारे गए थे। बालयोगी बेल 206 नाम के हेलिकॉप्टर में सवार थे। घटना की वजह खराब विजिबिलिटी थी। गलती से पायलट ने हेलिकॉप्टर को एक तालाब के ऊपर लैंड करवा दिया था।

3 मार्च 2002 को आंध्र प्रदेश के पश्चिमी गोदावरी जिले में पूर्व लोकसभा स्पीकर बालयोगी का हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हो गया था।
3 मार्च 2002 को आंध्र प्रदेश के पश्चिमी गोदावरी जिले में पूर्व लोकसभा स्पीकर बालयोगी का हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हो गया था।

7. सितंबर 2004 में केंद्रीय मंत्री और मेघालय के कम्युनिटी डेवलपमेंट मिनिस्टर सी संगमा की मौत की वजह भी हेलिकॉप्टर क्रैश ही बनी। पवन हंस नाम के हेलिकॉप्टर पर सवार होकर संगमा गुवाहाटी से शिलॉन्ग की तरफ जा रहे थे।

8. 31 मार्च 2005 को हरियाणा के पावर मिनिस्टर ओ पी जिंदल की मौत भी प्लेन क्रैश में हुई थी। जांच में पता चला था कि तकनीकी खराबी की वजह से प्लेन उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में क्रैश हो गया था।

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी का शव हादसे के 27 घंटे बाद मिला था।
आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी का शव हादसे के 27 घंटे बाद मिला था।

9. 3 सितंबर 2009 को आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी जिस हेलिकॉप्टर में सवार थे, वह चित्तूर जिले के जंगल में क्रैश हो गया था। यह यह अमेरिकन टेक्नोलॉजी पर आधारित डबल इंजन वाला बेल 430 चॉपर था। वाईएसआर का शव 27 घंटे बाद मिला था।

10. माना जाता है कि बड़ी हस्तियों में जान गंवाने वाले पहले नेता सुभाष चंद्र बोस थे, जिनका प्लेन 18 अगस्त 1945 को क्रैश हुआ था, लेकिन उनकी मौत को लेकर संदेह बरकरार है।