वीडियो एक्सक्लूसिव:दुनिया भर से ई-कचरा इम्पोर्ट कर रहा है भारत, जानिए इससे कितना बड़ा हो सकता है नुकसान?

4 महीने पहलेलेखक: शाश्वत/अभिषेक कुमार उपाध्याय

भारत लगातार ई-वेस्ट का हब बनता जा रहा है। ई-वेस्ट पैदा करने के मामले में भारत तीसरे नंबर पर है। एक आंकड़ा है कि देश में कुल होने वाले ई-वेस्ट यानी इलेक्ट्रिक वेस्ट का 95% कबाड़ी वाले या रद्दी कलेक्ट करते हैं। जो गैरकानूनी तो है ही प्रतिबंधित भी है। आनतौर पर ई- वेस्ट को जला दिया जाता है या लैंडफिल्ड पर छोड़ दिया जाता है। ये हवा, पानी और जमीन तीनों को जहरीला बना देता है।

WHO के अनुसार साल 2019 में भारत में 17 लाख लोगों की जान एयर पल्यूशन की वजह से गई। आज वीडियो एक्सक्लूसिव में देखते हैं कि इससे कैसे और कितना नुकसान हो सकता है, लेकिन उससे पहले ऊपर जाकर वीडियो को क्लिक करना होगा।