मंडे मेगा स्टोरीसमंदर में चलता-फिरता शहर है INS विक्रांत:3 सेकेंड में टेक-ऑफ करते हैं फाइटर जेट्स; 1 घंटे में बन सकता है 1600 लोगों का खाना

5 महीने पहलेलेखक: आदित्य द्विवेदी/प्रज्ञा भारती

उत्तरी आयरलैंड के बेलफास्ट में 4 मार्च 1961 की एक सर्द सुबह थी। भारत की उच्चायुक्त विजय लक्ष्मी पंडित ब्रिटेन से खरीदे गए HMS हरक्यूलिस के डेक पर पहुंचीं। विजय लक्ष्मी ने यहां इंडियन नेवी का झंडा फहराया। नेवी में शामिल होते ही इस एयरक्राफ्ट कैरियर का नाम रखा गया- INS विक्रांत।

31 जनवरी 1997 को नेवी से रिटायर होने तक, 36 सालों में INS विक्रांत ने देश की बड़ी सेवा की। 1971 की जंग में INS विक्रांत ने अपने सीहॉक लड़ाकू विमानों से बांग्लादेश के चिटगांव, कॉक्स बाजार और खुलना में दुश्मन के ठिकानों को तबाह किया था।

2 सितंबर 2022 को INS विक्रांत का पुनर्जन्म होगा, जब PM मोदी इसे इंडियन नेवी को सौंपेंगे। नया INS विक्रांत भारत में बना पहला एयर क्राफ्ट कैरियर है। आज मंडे मेगा स्टोरी में कहानी INS विक्रांत के पुनर्जन्म की...

ग्राफिक्सः पुनीत श्रीवास्तव

अब आखिर में एक रीडर्स पोल पर हम आपकी राय जानना चाहते हैं...

References:-

खबरें और भी हैं...