करिअर फंडासिविल सर्विसेज में सफलता दिलाएंगे ये 10 टिप्स:UPSC और स्टेट सर्विसेज की तैयारी में ध्यान रखें ये बातें

4 महीने पहले

ये जो शहतीर है पलकों पे उठा लो यारों,

अब कोई ऐसा तरीका भी निकालो यारों

कैसे आकाश में सुराख़ हो नहीं सकता,

एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों

- दुष्यंत कुमार

हर साल लाखों स्टूडेंट्स बेहद मेहनत से देशभर की सिविल सर्विसेज एग्जाम्स की तैयारी करते हैं। आज हम, वर्षों के अनुभव से आपको बताएंगे, सिविल सर्विसेज में सफलता के अचूक टिप्स। ये आपको यूपीएससी और स्टेट सर्विसेज दोनों में हेल्प करेंगी।

कुछ भ्रम जो गलती से पाल लिए जाते हैं - यूपीएससी परीक्षा दुनिया की सबसे कठिन परीक्षा है, आपको यूनिवर्स की सब बातों का एक्सपर्ट लेवल ज्ञान होना चाहिए, इसकी तैयारी में 18-20 घंटे रोज पढ़ना जरूरी है, इसमें ज्यादातर अंग्रेजी माध्यम के छात्रों का ही सलेक्शन होता है, तैयारी के लिए दिल्ली जा कर कोचिंग करना जरूरी है - ऐसी तमाम अफवाहों के बीच सच क्या है?

मैंने सफल स्टूडेंट्स से बात की और उन्होंने बताए सफलता के 10 स्ट्रॉन्ग टिप्स -

1) खुद को मेंटली तैयार करें: सबसे पहले अपने आप को एग्जाम के लिए मेंटली और फिजिकली तैयार करना पड़ता है। ये तय कर लीजिए कि अगले एक या दो या तीन साल इस एग्जाम को देंगे, और चूंकि ये सिर्फ एक एग्जाम है जीवन नहीं, इसलिए असफलता के लिए भी तैयार रहें। पॉजिटिव एटीट्यूड, मेन्टल बैलेंस तथा सेहत और मेहनत के बीच संतुलन रखना होगा।

2) पढ़ने को बोझ न बनाएं, नॉलेज में एन्जॉयमेंट ढूंढें: आने वाले वर्षों में एक रिच नॉलेज बेस ही आपको आगे रखेगा, तो इस एग्जाम की तैयारी एक वरदान की तरह है। इसे बोझ न समझें। एंजॉय करें, और ‘मैं लगातार ग्रो हो रहा हूं’ ऐसा बोलते रहें।

3) गोल फिक्स करें और इफेक्टिव टाइम मैनेज करें: सफल स्टूडेंट्स एक पूरा किया जाने योग्य, प्रैक्टिकल टाइम टेबल बनाते है, और डेली टार्गेट सेट करते हैं। डेली पढ़ाई के घंटे नहीं बल्कि क्वालिटी महत्वपूर्ण है। तो पहले से यह सोच कर मत बैठिे कि इतने घंटे पढ़ना है, इसके बजाय यह निर्धारित कीजिए की कौन से टॉपिक कम्पलीट करना है। उसके लिए चाहे कितना भी समय लगे। यदि टॉपिक जल्दी कम्पलीट हो जाए तो बचे हुए समय को रिक्रिएशन में लगाएं।

4) सिलेबस, परीक्षा पैटर्न को समझें, पिछले वर्षों के पेपर्स देखें: जिस तरह एक लम्बी जर्नी में गाड़ी स्टार्ट करने से पहले रास्तों का पता और गूगल मैप्स की मदद लेना जरूरी है, ठीक उसी तरह सिविल सर्विसेज एग्जाम्स में अपनी मंजिल पर पहुंचने का रास्ता है परीक्षा पैटर्न को अच्छे से स्टडी करना, पिछले कई सालों के पेपर्स पूरी तरह सॉल्व करना, और कॉन्फिडेंस बिल्ड करना। एक बढ़िया रिसोर्स ये है – https://bit.ly/solvedpapers - कई वर्षों के फुली सॉल्व्ड पेपर मिलेंगे।

5) पहले फाउंडेशन मजबूत बनाएं: आप NCERT की बुक्स से बेसिक कॉन्सेप्ट्स सीख सकते हैं। कक्षा छह से बारह तक की NCERT बुक्स IAS परीक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। पिछले वर्षों में यू.पी.एस.सी. ने कभी-कभी सीधे यहीं से से प्रश्न पूछे हैं। एडवांस्ड बुक्स पर इसके बाद जाएं।

6) सुंदर नोट्स बनाएं: तैयारी के दौरान सुंदर नोट्स बनाना यूजफुल है। सुंदर का मतलब है क्रिएटिव + नीट + कम्पलीट। ऐसे नोट्स आपके कॉन्फिडेंस को जबरदस्त पुश देते हैं, दिमाग में छप जाते हैं और 'रेडी रेकनर' का काम करते हैं।

7) आंसर राइटिंग प्रैक्टिस रेगुलर करें: मुख्य परीक्षा (मेन्स) के प्रश्न डिस्क्रिप्टिव होते हैं। यह मुख्य रूप से आपकी विश्लेषणात्मक, आलोचनात्मक और संचार क्षमताओं का परीक्षण करता है। आपकी वैचारिक स्पष्टता के साथ सोचने और अपने विचारों और धारणाओं को एक स्ट्रक्चर्ड और सिंपल तरीके से लिखने की स्किल होनी चाहिए। प्रश्नों का उत्तर जल्दी और प्रभावी ढंग से और न्यूनतम शब्दों में देना होता है। पर्याप्त उत्तर लेखन अभ्यास के बिना ये करना संभव नहीं है।

8) करंट अफेयर्स अपडेट रखें: इस परीक्षा में कुछ प्रश्न प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से करंट अफेयर्स से जुड़े होते हैं, इसलिए, डेली न्यूज पेपर्स पढ़ना बहुत जरूरी है। IAS परीक्षा के लिए योजना, कुरुक्षेत्र, आर्थिक और राजनीतिक साप्ताहिक, इंडिया पर्सपेक्टिव आदि जैसी पत्रिकाएं महत्वपूर्ण हैं। बीबीसी / डीडी न्यूज बुलेटिन आदि के समाचार सुनना भी लाभदायक हो सकता है।

9) कोचिंग करें या नहीं: कई सफल स्टूडेंट्स कोचिंग करते हैं। एक्सपर्ट की हेल्प लेना सिविल सर्विसेज एग्जाम्स की तैयारी में महत्वपूर्ण हो सकता है। कुछ उसके बिना भी सफलता हासिल कर लेते हैं। अपनी-अपनी नीड्स के हिसाब से क्लासरूम कोर्स या ऑनलाइन में एनरोल करें और शुरुआत करें।

10) ताकत और कमजोरियों का अहसास: बार-बार मॉक टेस्ट देना सिविल सर्विसेज परीक्षाओं की तैयारी का एक अनिवार्य हिस्सा है। इससे गलतियों को समझने और उनसे सीखने में मदद मिलती है, व ताकत और कमजोरियों की पहचान होती है।

एक लम्बी यात्रा की शुरुआत एक कदम लेने से ही होती है!

फीडबैक दें कैसा लगा आपको आज का करियर फंडा।

कर के दिखाएंगे

इस कॉलम पर अपनी राय देने के लिए यहां क्लिक करें।

करिअर फंडा में ये भी जरूर पढ़ें

IT सेक्टर में 5 नई फील्ड में मिलेंगे नए मौके:AI में है फास्ट ग्रोथ, डेटा साइंस करेगा बेस मजबूत

4 बातें जिनसे वोकेशनल कोर्स नहीं हो सके पॉपुलर:सुरक्षित करिअर का आधार बन सकती है वोकेशनल ट्रेनिंग

जानिए, ऑनलाइन एजुकेशन के कौन से एलिमेंट्स सबसे काम के:स्कूल्स इनोवेट करेंगे तो होगा स्टूडेंट्स का फायदा

एलन मस्क की जिंदगी से सीखिए 5 बड़े सबक:ट्रेडिशन तोड़ सक्सेस की कहानी लिखना बनाइए स्वभाव

परफॉरमेंस, प्रैक्टिस और परफेक्शन का 3-पी फार्मूला:सक्सेस के सबक बहरे मेंढक और माउंटेन मैन से सीखिए

जानिए, 7 डेली स्किल्स जो रखेंगी आपको आगे:करिअर से जीवन तक छोटी-छोटी बातों का बड़ा इम्पैक्ट

मॉक टेस्ट में छुपा है सफलता का राज:कॉम्पिटिटिव एग्जाम्स क्रैक करने के लिए याद रखिए 3 प्रैक्टिकल बातें