पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Db original
  • Here The Strength Of ISIS Is Supporting SDPI UDF, Rahul Gandhi Should Reply To This; This Organization Has Made The Youth Of Kasargod A Terrorist.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

केरल के BJP अध्यक्ष का इंटरव्यू:यहां ISIS की ताकत SDPI-UDF को सपोर्ट कर रही है, राहुल गांधी इस पर जवाब दें; इसी संगठन ने कासरगोड़ के युवाओं को आतंकी बनाया है

कासरगोड़12 दिन पहलेलेखक: गौरव पांडेय

के. सुरेंद्रन सबरीमाला आंदोलन के फेस और केरल भाजपा के अध्यक्ष हैं। पिछले दो महीने से वे लगातार पूरे राज्य में कैंपेन कर रहे हैं। पहले विजय यात्रा निकाली, फिर अब चुनावी यात्रा पर हैं। साथ ही वे खुद भी केरल की दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसी ही एक यात्रा के दौरान कासरगोड़ में उनसे मुलाकात हुई। सुरेंद्रन कासरगोड़ की मंजेश्वरम सीट से मैदान में हैं, यहां पिछले चुनाव में वे सिर्फ 86 वोटों से हार गए थे। उनकी दूसरी सीट कोन्नी है, जो सबरीमाला के पास है।

सुरेंद्रन एक दिन पहले ही करीब 600 किमी की यात्रा करके त्रिवेंद्रम से कासरगोड़ पहुंचे थे। सुबह फोन करने पर बोले- आ जाइए मंजेश्वरम में मिलते हैं, वहीं पर स्मृति ईरानी का रोड शो भी है। रोड शो और रैली के बाद बोले- आइए अब गाड़ी में ही चलते-चलते बात करते हैं, यहां कई इलाकों के लोगों से मिलना अभी बाकी है। फिर हमारी बातचीत का सिलसिला शुरू होता है...

प्रधानमंत्री मोदी की केरल में 3 रैलियों के बाद भाजपा के फेवर में कितना माहौल बदला है?

बहुत बदला है माहौल। मोदी जी की रैली के बाद मुख्यमंत्री विजयन ने अपना आपा ही खो दिया है, उन्होंने तो प्रधानमंत्री जी के बारे में अनाप-शनाप बोल डाला। CM उन्हें आरोपी बताने लगे हैं। यह एक लोकतांत्रिक देश है और प्रधानमंत्री यहां स्वामी शरणम् नहीं बोल सकते हैं। यह केरल का सेक्युलरिज्म है। ये बस टेरिस्ट ऑर्गेनाइजेशन PFI और SDPI के साथ टाईअप कर सकते हैं, लेकिन प्रधानमंत्री स्वामी शरणम् नहीं बोल सकते हैं।

मोदी जी ने सबरीमाला इलाके में रैली की, आप भी आंदोलन से जुड़े रहे हैं, वहां कोन्नी से चुनाव भी लड़ रहे हैं, क्या इस बार अयप्पा के फॉलोअर भाजपा को वोट करेंगे?

के. सुरेंद्रन पिछले दो महीने से लगातार पूरे राज्य में कैंपेन कर रहे हैं। वे इस बार दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं।
के. सुरेंद्रन पिछले दो महीने से लगातार पूरे राज्य में कैंपेन कर रहे हैं। वे इस बार दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं।

हां, बिल्कुल। पिछली बार भी हमें लोकसभा चुनाव में अच्छा वोट मिला था, वहां की पत्तनमिट्‌टा सीट पर 1.35 लाख वोट मिले थे, लेकिन हम जीत नहीं पाए थे। पर इस बार हमें सबरीमाला के सभी भक्तों का वोट मिलेगा, जरूर मिलेगा। खासकर, साउथ के इलाके में भी मिलेगा।

विजयन सरकार ने सबरीमाला आंदोलन के दौरान लोगों के ऊपर दर्ज किए गए केस वापस लेने का ऐलान किया था, क्या आप से केस वापस हुआ?

केस हटाने का निर्णय सिर्फ पेपर में है। मेरे ऊपर अभी भी 370 केस दर्ज हैं, आप मेरा एफिडेविट देख सकते हैं। दरअसल, मुस्लिम ऑर्गेनाइजेशन ने केरल में CAA के खिलाफ आंदोलन किया था, उसमें भी कुछ लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था, विजयन सरकार ने उन्हीं लोगों से केस वापस करने के लिए ये ऐलान किया है। इसीलिए उसमें सबरीमाला का नाम भी डाल दिया है, यह उनकी बैलेंस राजनीति है, लेकिन सबरीमाला के भक्तों के ऊपर से केस हटाने के लिए उन्होंने कुछ नहीं किया।

भाजपा केरल में लव जिहाद का मुद्दा उठा रही है, CPM और कांग्रेस के नेता कह रहे हैं, यहां ऐसा कुछ नहीं, ये सिर्फ भाजपा का प्रोपेगेंडा है?

नहीं, नहीं, यह सिर्फ भाजपा का विषय नहीं है। सभी चर्च भी इस बारे में बात कर रहे हैं। क्रिश्चियन भी इस मुद्दे को उठा रहे हैं। मेरी जानकारी में 100 से ज्यादा ऐसे केस केरल में हुए हैं। केरल से ISIS के जरिए सीरिया भेजे गए 100 से ज्यादा केस हैं। इसलिए यह सिर्फ हमारा मुद्दा नहीं, पूरे केरल का है।

आप कासरगोड़ की मंजेश्वरम से भी चुनाव लड़ रहे हैं, पर कासरगोड़ अपनी खासियतों के बजाय देश में इसलिए मशहूर हो गया कि यहां ISIS है, यहां के युवा IS क्यों ज्वॉइन करने लगे हैं?

चुनावी सभा के बाद गाड़ी के अंदर से एक बच्ची को दुलारते हुए के. सुरेंद्रन। सुरेंद्रन पिछली बार बहुत ही कम वोटों से चुनाव हार गए थे।
चुनावी सभा के बाद गाड़ी के अंदर से एक बच्ची को दुलारते हुए के. सुरेंद्रन। सुरेंद्रन पिछली बार बहुत ही कम वोटों से चुनाव हार गए थे।

ये आज जो PFI (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) की पार्टी SDPI (सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया) ने UDF (यूनाईटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट) को ओपन सपोर्ट देने का ऐलान किया है। अब कांग्रेस का इस पर क्या जवाब है, राहुल गांधी को इस बारे में उत्तर देना चाहिए। PFI, UDF को सपोर्ट करेगी, यह क्या है? इसीलिए केरल में आतंकवाद बढ़ रहा है।

ISIS, यहां PFI की बहुत बड़ी ताकत है। पिछली बार वह वामपंथियों के साथ थे, इस बार वे कांग्रेस के साथ हैं। यहां के युवा ISIS में इसलिए शामिल हो रहे हैं, क्योंकि उसमें PFI, SDPI और जमाते-इस्लामी का हाथ है।

CM विजयन कहते हैं कि भाजपा और कांग्रेसच्चाई क्या है?

मिली हुई का क्या मतलब है, आप पिछली बार मंजेश्वरम को ही देखिए, CPM के लोगों ने मुझे हराने के लिए मुस्लिम लीग को वोट डाला। इसलिए वास्तव में जो गठबंधन है, वह LDF और UDF के बीच है, लेकिन वे ब्लेम भाजपा को करते हैं।

आप भी युवा हैं, राहुल गांधी भी युवा हैं, आपको क्या लगता है, यहां का युवा आप दोनों में से किसे चुनेगा?

इस बार युवाओं का ज्यादा वोट हमें मिलेगा। राहुल गांधी को लोकसभा में यहां ज्यादा वोट कैसे मिला, क्योंकि सभी मीडिया वालों ने कहा कि 350 सीट के साथ राहुल गांधी की सरकार आएगी, हमें यहां से प्रधानमंत्री मिलेगा। और वह सिर्फ वायनाड के प्रधानमंत्री हैं। लेकिन, इस बार ऐसा नहीं होगा। राहुल गांधी ने वायनाड के लिए भी कुछ नहीं किया, वह ट्राइबल डिस्ट्रिक्ट है, लेकिन उन्होंने क्या किया, कुछ विकास नहीं किया।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के साथ के. सुरेंद्रन। स्मृति यहां मंजेश्वरम में रोड शो और रैली कर चुकी हैं।
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के साथ के. सुरेंद्रन। स्मृति यहां मंजेश्वरम में रोड शो और रैली कर चुकी हैं।

कांग्रेस के कुछ लोग कह रहे हैं कि राहुल गांधी यहां जीते तो वह CM होंगे?

केरल का, अरे कैसे संभव है। यह तो कांग्रेस के साथ ब्लफिंग चल रहा है, लेकिन केरल के लोग मूर्ख नहीं, आप उन्हें मूर्ख नहीं बना सकते हैं। एक बार प्रधानमंत्री बनाने के नाम पर आपने मूर्ख बना लिया, अब दोबारा ऐसा होने वाला नहीं है, लेकिन अब यहां हर कोई यह बात समझ गया है। अमेठी में क्या हुआ, वहां हारने वाले थे, इसलिए केरल आए।

केरल में आप भाजपा का फिर मना किया गया। आप क्या सोचते हैं कि भाजपा जीती तो आप CM होंगे या श्रीधरन?

श्रीधरन जी केरल के युवाओं के इंटेलेक्चुअल्स के रोल मॉडल हैं। राजनीति के अलावा जाति-धर्म के परे जाकर यहां लोग श्रीधरन जी को सपोर्ट कर रहे हैं, क्योंकि उन्होंने डेवलप मॉडल को इंट्रोड्यूज किया है। पार्टी में इंडिविजुअल व्यक्ति बहुत इंपॉर्टेंट नहीं है। पार्टी में अध्यक्ष हैं, महामंत्री हैं, बहुत से नेता हैं, लेकिन यहां विषय यह नहीं है। लेकिन श्रीधरन जी भी इससे अलग नहीं हैं। सेंट्रल लीडरशिप हमारी हर बात को सुनती है। हम चाहते थे, श्रीधरन जी चुनाव लड़ें, पार्लियामेंट्री बोर्ड और इलेक्शन कमेटी ने इस बात को सुना।

आप लोगों ने इस बार चर्च से जुड़े लोगों से बहुत सी मुलाकातें की हैं, क्या क्रिश्चियन कम्युनिटी का वोट पाने में भाजपा कामयाब होगी?

इस बार क्रिश्चियन कम्युनिटी का माइंडसेट काफी बदला है। हादिया सोफिया केस में क्या हुआ? केरल में ISIS का बहुत प्रभाव है, तो यह सिर्फ हिंदुओं का विषय नहीं है। क्रिश्चियन को लेकर भी गुंडा राजनीति केरल में चल रही है। टेरर ऑर्गेनाइजेशंस से क्रिश्चियन लोग बहुत डरे हुए हैं, इसलिए वे हमें सपोर्ट कर रहे हैं।

मंजेश्वरम में रैली के दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी। यहां उन्होंने राहुल गांधी पर आरोप लगाते हुए उन्हें टूरिस्ट पॉलिटिशियन कहा था।
मंजेश्वरम में रैली के दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी। यहां उन्होंने राहुल गांधी पर आरोप लगाते हुए उन्हें टूरिस्ट पॉलिटिशियन कहा था।

तो केंद्र सरकार इसे बैन क्यों नहीं कर रही है?

देखिन बैन करना अलग विषय है। यह चुनाव का विषय नहीं है। उसे बाद में देखेंगे। अभी कांग्रेस पार्टी PFI और SDPI का सपोर्ट लेकर क्या उत्तर देना चाहती है, उनका इस पर क्या नजरिया है, क्या स्टैंड है? मैं यह पूछना चाहता हूं। SDPI भाजपा को हराने की नहीं, देश को हराने वाली पार्टी है। वे टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोग हैं, टुकड़े-टुकड़े करेंगे। कांग्रेस कैसी नेशनल पार्टी है? वे कैसे PFI का समर्थन ले रही है, मैं इतना ही कांग्रेस पार्टी से पूछना चाहता हूं।

इस बार केरल भाजपा की कितनी सीटें आने वाली हैं?

हम केरल में सरकार बनाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। उतनी सीटें हमें मिलेंगी। 35 से 40 सीटें हमें मिलेंगी। हम केरल में सरकार जरूर बनाएंगे।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

और पढ़ें