मैनेजमेंट मंत्राअच्छी नींद से बढ़ती है प्रोडक्टिविटी:जानिए जेफ बेजोस, एलन मस्क और बिल गेट्स कैसे करते हैं स्लीपिंग रूटीन मैनेज

18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

महान दार्शनिक फ्रेडरिक नीत्शे ने कहा था, ‘सजग रहने के लिए पहले सोना जरूरी है’। हममें से कुछ लोग हर सुबह बड़े उत्साह से बिस्तर से बाहर निकलकर अपने दिन की शुरुआत करना चाहते हैं। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो उठने के लिए अलार्म घड़ी का सहारा लेते हैं, जिसमें एक स्नूज़ बटन हो ताकि उन्हें उठने और काम पर जाने में देरी न हो। अगर आप काम के दौरान अपनी प्रोडक्टिविटी बढ़ाना चाहते हैं, तो टू-डू लिस्ट, कैलेंडर और कॉफी के परे सोचना होगा। इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी है लगातार रात को अच्छी नींद लेना।

आज मैनेजमेंट मंत्रा में जानिए अच्छी नींद से होने वाले फायदों के बारे में, साथ ही एलन मस्क, जेफ बेजोस और बिल गेट्स जैसे लोगों के उदारहण से सीखिए स्लीपिंग रुटीन मैनेज करने के तरीके…

सबसे पहले जानिए अच्छी नींद के क्या हैं फायदे?

शोध बताते हैं कि नींद हमारे काम की गुणवत्ता पर सीधा असर करती है। जब आप रात को पर्याप्त नींद लेते हैं तो सेहत के साथ आपके काम में भी सुधार होता है। अच्छी नींद से शरीर रिकवर करता है। नींद के दौरान शरीर टिशू रिपेयर कार्य में लग जाता है, हार्ट को आराम मिलता है और ब्लड प्रेशर आपकी कार्डियो वस्कुलर सेहत सुधारने में मदद करता है। नींद के दौरान शरीर कुछ ऐसे हार्मोन भी बनाता है, जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। कुल मिलाकर अच्छी नींद आपको कई तरीके की बीमारियों से बचाकर रखती है। अच्छी नींद से आपकी मेंटल हेल्थ, मूड और ब्रेन फंक्शन में भी सुधर होता है। जब नींद की क्वांटिटी और क्वालिटी में सुधार होता है तो दिनभर आप ऊर्जा से भरे रहते हैं।

अब दो पाइंट में जानिए कि कैसे लाएं अपने स्लीपिंग रूटीन में सुधार

1. स्लीप हाइजीन में सुधार लाएं

हर दिन एक ही समय पर सोने और जागने से शरीर एक रिदम में ढल जाता है। रोज के वर्कआउट्स या आउटडोर एक्टिविटी भी अच्छी नींद में योगदान देते हैं। लेकिन सोने से ठीक पहले एक्सरसाइज करने से बचना चाहिए। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि सोने से ठीक पहले आप क्या खाते हैं। सोने से पहले हेवी मील, ऐल्कोहॉल, निकोटीन और कैफीन से दूर रहें। ये आपकी नींद में बाधक साबित होते हैं।

2. बेड टाइम रूटीन बनाने की कोशिश करें

सोने जाने से घंटे भर पहले किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की आर्टिफिशियल लाइट्स से बचें। इनमें टीवी, कंप्यूटर और मोबाइल शामिल हैं। ये लाइट्स आपके ब्रेन को देर तक जगाकर रखती हैं। इसकी बजाय किसी शांत और रिलैक्सेशन एक्टिविटी पर फोकस करें। जैसे गर्म पानी से नहाएं, मेडिटेट करें, कुछ पढ़ें या सॉफ्ट म्यूजिक सुनें।

नींद और प्रोडक्टिविटी एक ही सिक्के के दो पहलू हैं और इस बात से दुनिया के टॉप टाइकून्स बखूबी वाकिफ हैं। अब जानिए कि कैसे जेफ बेजोस, एलन मस्क और बिल गेट्स मैनेज करते है स्लीपिंग रूटीन…

1. जेफ बेजोस: जल्दी सोने और उठने की आदत

अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस चाहते हैं कि वो रोजाना पूरे आठ घंटे की नींद लें। वो कहते हैं- मुझे आठ घंटे की नींद चाहिए होती है। बेजोस अपने काम को मैनेज करने के लिए एक खास रणनीति अपनाते हैं। वो सबसे जरूरी मीटिंग्स लंच से पहले रखते हैं। जो मीटिंग मेंटली चैलेंजिंग लगती है, उसे सुबह 10 बजे तक कर लेना चाहता हैं। क्योंकि उन्हें लगता है कि शाम 5 बजे वे किसी विषय पर ज्यादा सोचने लायक नहीं बचते हैं। सुबह उठकर बेजोस अखबार पढ़ते हैं और परिवार के साथ बैठकर नाश्ता करते हैं।

2. एलन मस्क: 6 घंटे की नींद लेना पसंद करते हैं

बहुत सारे काम एक साथ संभालने वाले मस्क रात को कम से कम 6 घंटे की नींद लेना पसंद करते हैं। मस्क कहते हैं कि मैं जरूरत से कुछ ज्यादा काम करने वाले लोगों में से हूं। अक्सर मैं रात को दो या तीन बजे तक काम करता हूं। कई बार तो शनिवार और रविवार को भी छुट्‌टी नहीं लेता।

3. बिल गेट्स: नींद के पीछे के विज्ञान को अच्छी तरह समझते हैं

माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर जानते हैं कि क्यों नींद हमारी सेहत और रचनात्मकता के लिए आवश्यक है। उन्होंने अपने एक ब्लॉग में लिखा था कि माइक्रोसॉफ्ट के शुरुआती दौर में मैं मानता था कि ज्यादा नींद अच्छी नहीं होती और वो आपको काफी हद तक आलसी बना देती है। लेकिन मैथ्यू वॉकर्स की किताब वाय वी स्लीप को पढ़ने के बाद मेरा नजरिया बदल गया। अब राेज कम से कम सात घंटे की नींद लेना पसंद करते हैं।

खबरें और भी हैं...