पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Db original
  • Medical Staff Says Leave 18+, For Now Only 45+ Is The Vaccine Shortage, Vaccine Is Being Offered For Rs 900 In A Private Hospital.

18+ के वैक्सीनेशन पर रिपोर्ट:मेडिकल स्टाफ कहता है- 18+ छोड़िए अभी तो 45+ के लिए ही वैक्सीन की शॉर्टेज है, निजी अस्पताल में 900 रुपए में लग रहा टीका

नई दिल्ली /नोएडा5 महीने पहलेलेखक: पूनम कौशल

नोएडा की भंगेल सीएचसी पर 1 मई बारह बजे के करीब वैक्सीनेशन कराने आ रहे लोगों की लाइन लगी है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पोशाक पहने स्वयंसेवकों ने काउंटर संभाल रखा है। वो लोगों के दस्तावेज जांच रहे हैं और सोशल डिस्टेंस सुनिश्चित करा रहे हैं।

1 मई से देश में 18-44 साल के लोगों का टीकाकरण भी शुरू होना था, इस वैक्सीनेशन सेंटर पर सिर्फ 45 से अधिक उम्र के लोगों को ही टीका लगाया जा रहा है। 18 से अधिक उम्र के जो लोग यहां पहुंच रहे हैं उनसे बाद में आने को कहा जा रहा है। यहां सौ से अधिक लोगों को टीका लग चुका है। कुछ लोग बिना रजिस्ट्रेशन के ही यहां पहुंचे हैं और अपने दस्तावेजों को मौके पर ही पंजीकृत करा रहे थे, लेकिन यह सब 45 से ज्यादा उम्र वाले हैं।

कई वैक्सीनेशन सेंटर पर वॉलंटिर्स भी मदद कर रहे हैं। दिल्ली में नोएडा-गाजियाबाद के मुकाबले वैक्सीनेशन ज्यादा आसानी से लग रही है, इसलिए इन इलाकों में रहने वाले लोग भी दिल्ली जाकर वैक्सीन लगवा रहे हैं।
कई वैक्सीनेशन सेंटर पर वॉलंटिर्स भी मदद कर रहे हैं। दिल्ली में नोएडा-गाजियाबाद के मुकाबले वैक्सीनेशन ज्यादा आसानी से लग रही है, इसलिए इन इलाकों में रहने वाले लोग भी दिल्ली जाकर वैक्सीन लगवा रहे हैं।

23 साल के गौरव तंवर ने कोविन एप के जरिए अपने आप को वैक्सीनेशन के लिए पंजीकृत कराया था। वो भंगेल सीएचसी पर टीका लगवाने पहुंचे थे, लेकिन उन्हें अब दोबारा आने के लिए कहा गया है। गौरव कहते हैं, 'दोबारा आने के लिए फिर खतरा उठाना होगा। इस समय घर से निकलने का मतलब है संक्रमण का खतरा उठाना। ये सोचकर डर लग रहा है कि फिर से आना होगा।'

रजिस्ट्रेशन काउंटर पर बैठे वॉलंटियर बताते हैं, 'दोपहर एक बजे तक 18-44 आयु वर्ग के करीब दो दर्जन लोग वैक्सीन लगवाने पहुंचे थे, लेकिन अभी 18 प्लस के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू नहीं हुआ है।'

आरोग्य सेतु एप या कोविन एप पर नहीं दिख रही एवेबिलिटी
दरअसल आरोग्य सेतु एप या कोविन पोर्टल पर नोएडा में 18-44 आयु वर्ग के लोगों के लिए वैक्सीन की उपलब्धता दिख ही नहीं रही थी इसी वजह से वैक्सीन के लिए पंजीकरण कराने वाले अधिकतर लोग केंद्र पर पहुंचे ही नहीं। भंगेल के अलावा हमने कई और वैक्सीन सेंटर्स का जायजा लिया, लेकिन नोएडा में शनिवार को कहीं भी 18 साल आयु वर्ग के लोगों के लिए टीका उपलब्ध नहीं था।

सत्यप्रकाश जैन भंगेल सीएचसी पर स्वयंसेवकों की टीम को संभाल रहे हैं। आरएसएस से जुड़े सत्यप्रकाश कहते हैं, 'यहां अस्पताल में स्टाफ की कमी थी, इसलिए हमें अपने स्वयंसेवक लगाने पड़े हैं। हम लोगों को लाइन में लगाते हैं और उनके डाटा की एंट्री करते हैं। जिनका पंजीकरण नहीं हुआ होता उसमें भी मदद करते हैं।'

काफी लोग वैक्सीनेशन के लिए निजी अस्पतालों का रुख कर रहे हैं। कई प्राइवेट अस्पतालों में 900 रुपए में वैक्सीन का एक शॉट लगाया जा रहा है।
काफी लोग वैक्सीनेशन के लिए निजी अस्पतालों का रुख कर रहे हैं। कई प्राइवेट अस्पतालों में 900 रुपए में वैक्सीन का एक शॉट लगाया जा रहा है।

दिल्ली में भी ज्यादातर सेंटर्स पर नहीं शुरू हो सका 18+ का वैक्सीनेशन
दिल्ली में भी सरकारी टीकाकरण केंद्रों में शनिवार को 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण शुरू नहीं हो सका। मयूर विहार के पब्लिक हेल्थ सेंटर में जब हम पहुंचे तो वहां भी 45 से ज्यादा उम्र वालों को ही टीका लग रहा था। दिल्ली सिविल डिफेंस के वॉलंटियर टीकाकरण में मेडिकल स्टाफ की मदद कर रहे हैं। इस टीकाकरण केंद्र पर टीका लगवाने आने वाले लोगों की कोई खास भीड़ नहीं थी। गिने-चुने लोग ही वैक्सीन लगवा रहे थे।

जब हमने मौजूद स्टाफ से 18 साल के लोगों को टीका लगने के बारे में पूछा तो उनका कहना था कि इसको लेकर अभी कोई आदेश नहीं दिया गया है। उन्होंने एक सर्कुलर की कॉपी दिखाई, जिसके मुताबिक अभी सिर्फ 45 से ऊपर के लोगों को ही टीका लगाया जाना है।

दिल्ली के ही पटपड़गंज इलाके में भी आम आदमी पॉलीक्लीनिक के बाहर लोगों की लाइन लगी है। ये लोग भी टीका लगवाने आए हैं। इनमें से कई ऐसे हैं जो पास के ही गाजियाबाद से आए हैं।

51 वर्षीय आलोक जैन भी वैक्सीन का पहला डोज लगवाने आए हैं। उन्होंने अपना रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है। आलोक कहते हैं, 'करीब एक घंटे में मेरा नंबर आ जाएगा। मैं अपने दस्तावेज लेकर आया हूं जिनके आधार पर टीका लग जाएगा।' दोपहर ढाई बजे के करीब यहां कोई पचास लोग टीके की लाइन में थे।

धर्मसिंह ने बताया, 'गाजियाबाद में हम कई टीकाकरण केंद्रों पर गए, लेकिन कहीं भी टीका उपलब्ध नहीं था। फिर हम यहां दिल्ली आए। यहां बिना किसी खास परेशानी के हमें टीका लगा दिया गया। हमने अपने गाजियाबाद के दस्तावेज दिखाकर बस इतना बताया कि हम यहां दिल्ली में अपने रिश्तेदार के घर रह रहे हैं।'

दिल्ली के इस टीकाकरण केंद्र पर भी 18 साल से कम उम्र के लोगों को टीका नहीं लगाया जा रहा था। एक मेडिकल स्टाफ ने नाम न जाहिर करते हुए बताया कि वैक्सीन की शॉर्टेज है और शायद 45 से ऊपर के लोगों के लिए भी पर्याप्त डोज उपलब्ध ना हों।

केंद्र सरकार ने घोषणा की है 1 मई से 18 प्लस वाले भी वैक्सीन लगवा सकते हैं। लेकिन वैक्सीन सेंटर पर मौजूद स्टाफ का कहना है कि इस बारे में उनके पास अभी कोई औपचारिक आदेश नहीं आया है।
केंद्र सरकार ने घोषणा की है 1 मई से 18 प्लस वाले भी वैक्सीन लगवा सकते हैं। लेकिन वैक्सीन सेंटर पर मौजूद स्टाफ का कहना है कि इस बारे में उनके पास अभी कोई औपचारिक आदेश नहीं आया है।

निजी क्लीनिक पर 900 रुपए में लग रही है वैक्सीन
इस पॉलीक्लीनिक के नजदीक ही स्थिति मैक्स सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल के वैक्सीनेशन केंद्र पर लोगों की भीड़ लगी है। यहां आने वाले अधिकतर लोग 18 से 45 आयु वर्ग के बीच के ही हैं। यहां 900 रुपए की दर से वैक्सीन का एक डोज लगाया जा रहा है।

अपनी दो बेटियों के साथ यहां पहुंचे एक व्यक्ति ने नाम न जाहिर करते हुए कहा, 'हमने को-विन के जरिए रजिस्ट्रेशन कराया था लेकिन दिल्ली या एनसीआर में कहीं भीं सेंटर उपलब्ध नहीं था इसलिए हम यहां प्राइवेट अस्पताल में आए हैं।' एक और शख्स बिना अपने नाम बताए कहते हैं कि 'सरकारी टीका केंद्रों पर लाइन में लगना पड़ रहा है जिससे संक्रमण का खतरा है। इसलिए ही हम यहां प्राइवेट अस्पताल में आए हैं। यहां बिना किसी भी दिक्कत के टीका लग गया है।'

वैक्सीनेशन सेंटर पर अपनी बारी का इंतजार करती महिला। वैक्सीनेशन के लिए कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन कराना है, लेकिन ज्यादातर लोग अपने दस्तावेज दिखाकर सेंटर पर ही रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं।
वैक्सीनेशन सेंटर पर अपनी बारी का इंतजार करती महिला। वैक्सीनेशन के लिए कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन कराना है, लेकिन ज्यादातर लोग अपने दस्तावेज दिखाकर सेंटर पर ही रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं।

केंद्र सरकार का कहना है कि राज्य सरकारों के पास एक करोड़ से अधिक डोज उपलब्ध हैं और अगले तीन दिनों में बीस लाख अतिरिक्त डोज उपलब्ध करवा दिए जाएंगे, लेकिन दिल्ली और नोएडा के ज्यादातर सरकारी वैक्सीन सेंटर्स पर 18 प्लस के लोगों को टीका नहीं लग रहा था।

खबरें और भी हैं...