करिअर फंडाएग्जाम की तैयारी का सबसे अच्छा तरीका 'प्राइमो':प्लानिंग, मेमोरी और ऑर्गेनाइजेशन जरूरी

20 दिन पहले

‘यदि आप मुझे एक पेड़ काटने के लिए छह घंटे देंगे तो मैं पहले चार घंटे कुल्हाड़ी की धार तेज करने में लगाऊंगा।’

- अब्राहम लिंकन

करिअर फंडा में स्वागत!

समय की कमी कहां से होती है

कितने लोग काम और पढाई के बोझ में दबे हुए हैं?

कितने हैं जिन्हें पढाई और काम के कारण पारिवारिक फंक्शन्स, त्यौहार मनाने और यहां तक कि सोने और खाने-पीने का भी समय नहीं मिलता?

ये समय जाता कहां है?

अमेरिकन सिविल वॉर को सफलता पूर्वक जीतने वाले राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के ऊपर दिए स्टेटमेंट का मतलब यह है कि कम धार की कुल्हाड़ी से सीधे ही पेड़ काटना शुरू करने में अधिक मेहनत लगेगी और काम शायद समय पर पूरा भी ना हो। आपको मिलेगा पसीना और हाथों में दर्द, तो क्यों न इसके बजाय पहले कुल्हाड़ी को इतना तेज करें कि उससे पेड़ काटने में कोई परेशानी ना हो?

दो दोस्त मिस्टर मेहनती और मिस्टर स्मार्ट

कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी करने वाले दो दोस्तों की दिनचर्या पर गौर करते हैं – पहले हैं मिस्टर मेहनती और दूसरे हैं मिस्टर स्मार्ट।

1) मिस्टर मेहनती

A) ये प्लानिंग में विश्वास नहीं करते क्योंकि उनका मानना है ज्यादा पढ़ने वाला व्यक्ति ही कॉम्पिटिटिव एग्जाम क्लियर कर पाएगा।

B) पढ़ाई में अत्यधिक व्यस्त रहने से वे गंदे कपड़े पहनने को मजबूर हैं, लेकिन कॉम्पिटिटिव एग्जाम में सफलता के लिए वे यह त्याग कर के रहेंगे! कमरा किताबों से भरा हुआ है, और वे सोते समय तकिये की जगह भी किताब लगाते हैं, क्योंकि असली तकिया किताबों के बीच कहीं गुम है!

C) अपने खुद के कमरे में किताब तो क्या कोई भी चीज ढूंढना उनके लिए एक समयसाध्य कार्य है। कमरे की सफाई का तो सवाल ही नहीं उठता – एक तरफ गंदे बिना धुले कपड़ों का अम्बार।

D) बिल्कुल ऐसा लगता है जैसे कोई हठयोगी बाबा बरसों से जंगल में समाधि में बैठे हैं और उनके आस पास झाड़ झंखाड़ उग आया है। बाबा को प्रणाम!

2. वहीं दूसरी और मिस्टर स्मार्ट हैं

A) वे सुबह उठने के बाद जल्दी से अपना बिस्तर बनाते हैं, उसके बाद अपना पूरा दिन प्लान करते हैं।

B) उनके पास एक डायरी हैं, जिसमें वे अपने दिन भर के किए जाने वाले कामों को लिख लेते हैं। उन्हें समय नहीं मिलता इसलिए उन्होंने कुछ रुपयों में कमरे में रोज साफ-सफाई के लिए एक व्यक्ति को नियुक्त किया है, जिसके पास भी कमरे की एक चाबी है जिससे वह किसी भी वक्त आकर कमरा साफ कर सके।

C) उनकी किताबें साइंटिफिक तरीके से जमी हैं, ताकि जरूरत पड़ने पर सही किताब तुरंत मिल जाए।

D) वे समय निकाल कर अपने कपड़े खुद धो लेते हैं और इस्त्री करने के लिए कुछ पैसे और खर्च करके मदद लेते हैं।

E) मिस्टर मेहनती के बराबर ही पढ़ने के बाद भी वे प्रेजेंटेबल दिखते हैं।

कॉम्पिटिटिव एग्जाम की स्मार्ट तैयारी करने की प्राइमो (PriMO) अप्रोच

PriMO अप्रोच के तीन भाग है: P - प्लानिंग, M - मेमोरी, O - ऑर्गेनाइजेशन

1) P - प्लानिंग

भारत में युवाओं के साथ समस्या है कि वे स्कूल की दी हुई सबसे बड़ी सीख – डायरी और डिसिप्लिन – भूल जाते हैं। आपके लिए जरूरी है सबसे पहले पूरे दिन गतिविधि को प्लान करें, फिर इस प्लानिंग को वीकली, मंथली, ईयरली, फाइव-ईयरली पर ले जाएं।

नियमित रहें, सभी काम नहाना, व्यायाम, खाना, सोना सही समय पर नियमित रूप से करें। धन की कमी हो तब भी जरूरी खर्चों को समझें, और उनसे कोम्प्रोमाईज ना करें। बेहतर है उसके लिए धन का इंतजाम करें।

हमेशा प्लान बी तैयार रखें।

2) M – मेमोरी

एक अच्छी मेमोरी, बहुत सारा हार्डवर्क कम कर देती है, और इस प्रकार आपका टाइम और एनर्जी दोनों बचाती है।

बहुत ज्यादा इम्पॉर्टेंस के फैक्ट्स को तो कैसे भी कर के याद कर ही लें। इससे आपको कम्पाउंडिंग बेनिफिट मिलते हैं।

मेमोरी के लिए विभिन्न टेक्नीक्स जैसे इमेजिनेशन, निमोनिक्स आदि का उपयोग किया जा सकता है।

3) O - ऑर्गेनाइजेशन

काम की अधिकता नहीं अव्यवस्था मार देती है।

इसलिए व्यवस्थित रह कर अपने कमरे के सभी सामान को उचित जगह पर रखें। उठने के बाद सबसे पहला काम अपना बिस्तर बनाने मतलब ठीक से जमाने का करें, इसके कई फायदे हैं।

कॉन्सेप्ट्स को समझें तथा सिर्फ तथ्यों के पीछे ना भागें। किताबों को सब्जेक्ट-वाइज जमा कर रखे, सिस्टेमेटिक नोट्स बनाएं, करिक्युलम का बोझ अचानक कम लगेगा।

इस प्रकार आज का सार यह है कि जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफलता के लिए दो बड़ी बातों – आर्गेनाईजेशन और प्लानिंग – की आवश्यकता होती है तो इन दोनों को ओवरलुक ना करें। यदि आप की तैयारी में यह अभी शामिल नहीं है, तो इसे शामिल करें बेहतर रिजल्ट मिलेंगे।

तो आज का करिअर फंडा यह है कि संघर्ष करें लेकिन स्मार्टली!

कर के दिखाएंगे!

इस कॉलम पर अपनी राय देने के लिए यहां क्लिक करें।

करिअर फंडा कॉलम आपको लगातार सफलता के मंत्र बताता है। जीवन में आगे रहने के लिए सबसे जरूरी टिप्स जानने हों तो ये करिअर फंडा भी जरूर पढ़ें...

1) इंटरव्यू क्रैक करने के 6 पावर टिप्स:आई कॉन्टैक्ट बनाए रखें, रटे हुए उत्तर न दें

2) डेल कार्नेगी की किताब से 5 सबक:बहस से बचें, हमेशा मुस्कुराते रहें, दूसरे की सेल्फ रेस्पेक्ट बनाए रखें

3) स्पेशल चिल्ड्रन के लिए जरूरी स्पेशल पेरेंटिंग:6 तरीके जो स्पेशल नीड बच्चों की देखभाल बनाएंगे आसान

4) एलेक्जेंडर द ग्रेट के जीवन से लीजिए 4 सबक:वैज्ञानिक सोच और सोशल इंटेलिजेंस से असंभव भी संभव होगा

5) मूवी ‘द ग्रेट एस्केप’ से जीवन के 4 सबक:सबसे मुश्किल हालात में भी लड़ने की इच्छा ही सफलता दिलाएगी

6) 7 अंग्रेजी शब्दों की कहानी से मजबूत कीजिए इंग्लिश:सैंडविच है इंग्लैंड का टाउन...अंग्रेजी में शैम्पू शब्द हिंदी से आया था

7) GK और GS की तैयारी के लिए 5 पावर कॉन्सेप्ट्स:इन्हें समझिए और हर कॉम्पीटिशन के लिए हो जाइए तैयार