3 बार भारत आईं एलिजाबेथ-II:रिपब्लिक डे पर शाही मेहमान बनीं, काशी नरेश के साथ हाथी की सवारी की

नई दिल्ली3 महीने पहले

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ-II नहीं रहीं। 96 साल की महारानी ने स्कॉटलैंड में अंतिम सांस ली। एलिजाबेथ-II तीन बार भारत आईं। 1961, 1983 और 1997 में वो भारत की शाही मेहमान बनी थीं। आज हम उन यादों को फिर से फ्रेम कर रहे हैं। तो चलिए उन चुनिंदा 10 तस्वीरों से होकर गुजरते हैं..

21 जनवरी 1961, महारानी एलिजाबेथ-II और प्रिंस फिलिप का पहला भारत दौरा। पूर्व राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद और पूर्व PM जवाहरलाल नेहरू पालम एयरपोर्ट पर अगवानी करने पहुंचे थे।
21 जनवरी 1961, महारानी एलिजाबेथ-II और प्रिंस फिलिप का पहला भारत दौरा। पूर्व राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद और पूर्व PM जवाहरलाल नेहरू पालम एयरपोर्ट पर अगवानी करने पहुंचे थे।
1961 में भारत के गणतंत्र दिवस की परेड के गवाह बने महारानी एलिजाबेथ-II और प्रिंस फिलिप। परेड के बाद तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद के साथ बग्घी में सवार होकर वापस लौटते हुए।
1961 में भारत के गणतंत्र दिवस की परेड के गवाह बने महारानी एलिजाबेथ-II और प्रिंस फिलिप। परेड के बाद तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद के साथ बग्घी में सवार होकर वापस लौटते हुए।
तस्वीर 26 जनवरी 1961 की है। महारानी एलिजाबेथ-II और तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद राष्ट्रपति भवन में घूमते हुए। उनके पीछे प्रिंस फिलिप भी नजर आ रहे हैं।
तस्वीर 26 जनवरी 1961 की है। महारानी एलिजाबेथ-II और तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद राष्ट्रपति भवन में घूमते हुए। उनके पीछे प्रिंस फिलिप भी नजर आ रहे हैं।
अपने पहले भारत दौरे पर आईं एलिजाबेथ-II काशी भी पहुंची थीं। उन्होंने काशी नरेश विभूति नारायण सिंह के साथ शाही हाथी की सवारी की थी।
अपने पहले भारत दौरे पर आईं एलिजाबेथ-II काशी भी पहुंची थीं। उन्होंने काशी नरेश विभूति नारायण सिंह के साथ शाही हाथी की सवारी की थी।
1961 में एलिजाबेथ-II 6 हफ्ते के दौरे पर भारत आई थीं। इस दौरान उन्होंने ताजमहल का भी दीदार किया था। साथ में उनके पति प्रिंस फिलिप भी थे।
1961 में एलिजाबेथ-II 6 हफ्ते के दौरे पर भारत आई थीं। इस दौरान उन्होंने ताजमहल का भी दीदार किया था। साथ में उनके पति प्रिंस फिलिप भी थे।
1961 में एलिजाबेथ-II और उनके पति प्रिंस फिलिप जयपुर पहुंचे थे। तस्वीर में उनके साथ जयपुर के महाराज और महारानी भी नजर आ रहे हैं। इस दौरान प्रिंस फिलिप ने बाघ का शिकार किया था।
1961 में एलिजाबेथ-II और उनके पति प्रिंस फिलिप जयपुर पहुंचे थे। तस्वीर में उनके साथ जयपुर के महाराज और महारानी भी नजर आ रहे हैं। इस दौरान प्रिंस फिलिप ने बाघ का शिकार किया था।
ब्रिटिश महारानी 1983 में कॉमनवेल्थ देशों की बैठक में हिस्सा लेने भारत के दौरे पर आई थीं। इस दौरान उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से भी मुलाकात की थी।
ब्रिटिश महारानी 1983 में कॉमनवेल्थ देशों की बैठक में हिस्सा लेने भारत के दौरे पर आई थीं। इस दौरान उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से भी मुलाकात की थी।
7 नवंबर 1983 को ब्रिटेन के इस शाही जोड़े के सम्मान में राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह की मेजबानी करते हुए तत्कालीन राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह।
7 नवंबर 1983 को ब्रिटेन के इस शाही जोड़े के सम्मान में राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह की मेजबानी करते हुए तत्कालीन राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह।
ब्रिटेन की महारानी भारत की आजादी के 50 साल पूरे होने पर 1997 में आखिरी बार भारत आई थीं। इस दौरान क्वीन को राष्ट्रपति भवन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया था।
ब्रिटेन की महारानी भारत की आजादी के 50 साल पूरे होने पर 1997 में आखिरी बार भारत आई थीं। इस दौरान क्वीन को राष्ट्रपति भवन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया था।
1997 में क्वीन एलिजाबेथ-II अमृतसर पहुंची थीं। वहां उन्होंने सिखों के सबसे पवित्र स्थल स्वर्ण मंदिर में माथा टेका था।
1997 में क्वीन एलिजाबेथ-II अमृतसर पहुंची थीं। वहां उन्होंने सिखों के सबसे पवित्र स्थल स्वर्ण मंदिर में माथा टेका था।

जलियावालां में शहीदों को श्रद्धांजलि देने नंगे पैर गई थीं क्वीन, एयरपोर्ट से गोल्डन टैंपल जाना था, अचानक काफिले ने रास्ता बदला

14 अक्टूबर 1997 को अमृतसर एयरपोर्ट पर लैंड होने के बाद क्वीन एलिजाबेथ के काफिले को एयरपोर्ट से सीधे गोल्डन टैंपल पहुंचना था, लेकिन वे सीधे जलियांवाला बाग पहुंच गईं। उनके कार्यक्रम में यह बदलाव आखिरी समय में हुआ था। क्वीन ने जलियांवाला बाग में उन भारतीय शहीदों को श्रद्धांजलि दी, जिन्हें ब्रिटिश राज के दौरान जनरल डायर ने गोलियों से भून दिया था। क्वीन नंगे पैर जलियांवाला पहुंची थीं। पूरी खबर पढ़ें...

दिवंगत महारानी से जुड़ी ये खबरें भी जरूर पढ़ें...

25 की उम्र में संभाला था शासन, 17 PHOTOS में देखें प्रिंसेस से क्वीन तक का सफर

महारानी एलिजाबेथ II ने 6 फरवरी 1952 को पिता किंग जॉर्ज की मौत के बाद ब्रिटेन का शासन संभाला। तब उनकी उम्र सिर्फ 25 साल थी। तब से 70 साल तक उन्होंने शासन किया। उन्होंने 2 दिन पहले ‌‌ब्रिटेन की 15वीं PM लिज ट्रस को शपथ दिलाई थी। वे ब्रिटेन के इतिहास में सबसे लंबे समय तक शासन करने वाली पहली महिला सम्राट हैं। पढ़ें पूरी खबर...

नोटों और सिक्कों से हटाई जा सकती है एलिजाबेथ की फोटो; राष्ट्रगान में भी बदलाव की संभावना

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद अब कई शाही प्रतीक बदले जा सकते हैं। फ्लैग, नोट, सिक्के में अभी तक महारानी की अलग-अलग तस्वीर होती थी। अब इसे हटाकर नए किंग बने प्रिंस चार्ल्स की फोटो लगाए जाने की उम्मीद है। पढ़ें पूरी खबर...

15 देशों की सिंबॉलिक महारानी थीं एलिजाबेथ-II, रोज मिलता था सरकारी काम का ब्योरा

एलिजाबेथ सिर्फ ब्रिटेन ही नहीं, 14 अन्य आजाद देशों की भी महारानी थीं। ये सभी देश कभी न कभी ब्रिटिश हुकूमत के अधीन रहे थे। पढ़ें पूरी खबर...

एलिजाबेथ-II तीन बार भारत आईं। 1961, 1983 और 1997 में वो भारत की शाही मेहमान बनी थीं। 1961 में भारत के गणतंत्र दिवस की परेड में भी शामिल हुई थीं। उनके साथ प्रिंस फिलिप भी थे। पढ़ें पूरी खबर...

प्रिंस चार्ल्स बने ब्रिटेन के नए किंग, 24 घंटे के भीतर सौंपा जाएगा ताज

एलिजाबेथ-II के निधन के बाद उनके बेटे प्रिंस चार्ल्स नए किंग बन गए हैं। अब उन्हें किंग चार्ल्स-III के नाम से जाना जाएगा। महारानी के निधन के 24 घंटों के भीतर लंदन स्थित सेंट जेम्स पैलेस में एक सेरेमोनियल बॉडी के बीच चार्ल्स को आधिकारिक तौर पर राजा घोषित किया जाएगा। पढ़ें पूरी खबर...