पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Db original
  • Speak Dr. Naresh Trehan Now The Second Wave Of Corona Is Going On In The Country, Until 60% Of The People Are Vaccinated Then The Situation

भास्कर इंटरव्यू:डॉ. नरेश त्रेहन बोले- देश में यह कोरोना की दूसरी वेव है; यह कहां रुकेगी कुछ पता नहीं, जब तक 60% लोगों को वैक्सीन नहीं लगती तब तक हालात मुश्किल

नई दिल्ली3 महीने पहलेलेखक: रवि यादव
  • कॉपी लिंक

'अब भारत में कोरोना की दूसरी वेव चल रही है जो काफी भयंकर है। मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। पता नहीं यह वेव कहां जाकर रुकेगी। जितनी जल्दी वैक्सीन लगेगी, उतनी ही जल्दी बचाव होगा।’ यह कहना है मेदांता के चेयरमैन और कार्डियोथोरेसिक सर्जन डॉक्टर नरेश त्रेहन का। कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर भास्कर ने डॉक्टर नरेश त्रेहन से विशेष बातचीत की। पढ़िए बातचीत के प्रमुख अंश...

अब भारत में कोरोना की कौन सी स्टेज चल रही है?

भारत में अभी कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। यह आम लोगों तक पहुंच गई है।

आने वाले समय में कोरोना कितना भयानक होने वाला है?

यह दूसरी वेव है। ये भयानक है क्योंकि मरीजों के नंबर बढ़ रहे हैं। यह नहीं पता कि ये आंकड़ा कहां जाकर रुकेगा। इसका एक ही उपाय है वैक्सीन। यह जितनी जल्दी लगेगी, उतना ही जल्द बचाव होगा। अब युवा कह रहे हैं कि उन्हें कोरोना से कोई दिक्कत नहीं है। वे स्वयं अपना बचाव तो कर सकते हैं, लेकिन अपने माता-पिता को बीमारी दे रहे हैं। जब तक लोग अपनी जिम्मेदारी नहीं समझेंगे और 60% लोगों को वैक्सीन नहीं लग जाती, तब तक हमें ये सब झेलना पड़ेगा।

वैक्सीन का कितना असर आप मानते हैं? कई लोग वैक्सीन के बाद भी करोना से पीड़ित हो रहे हैं ऐसा क्यों?

वैक्सीन जिस-जिस देश में लग चुकी है, वहां बीमारी कम है। ऐसा कहा जा रहा है कि यह 80 से 90% तक कारगर है। इसका मतलब यह है कि वैक्सीन लगवाने वालों में से भी 10-20% को कोरोना होगा।

भारत सरकार जो कदम कोरोना को लेकर उठा रही है, वो कितने सही हैं?

सरकार पूरी तरह सजग है। उसकी यही कोशिश है कि वैक्सीन ज्यादा मिले। सरकार ने उत्पादन करने वालों से बोला है कि जल्द से जल्द मैन्युफैक्चरिंग करें ताकि लोगों को वैक्सीन उपलब्ध करवाई जा सके।

यदि आने वाले समय में कोरोना भयानक होता है तो क्या देश के अस्पताल स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं?

बहुत से लोगों को हल्की दिक्कत हुई तो उनको हॉस्पिटल लाने की जरूरत नहीं पड़ती। पहली वेव में हॉस्पिटलों ने क्षमता बढ़ा ली थी। हालांकि अगर ज्यादा लोगों को ICU की जरूरत पड़ेगी तो दिक्कत आ सकती है।

आपको क्या लगता है कोरोना देश से कब तक खत्म हो जाएगा?

ये किसी को नहीं पता! तभी तो हम लोगों को आगाह कर रहे हैं कि वायरस गया नहीं है। जनता को सोशल डिस्टेंस मेंटेन करना व मास्क लगाना और हाथ धोना जरूरी है। कोरोना कितना फैलेगा, ये लोगों पर निर्भर है कि वो कितनी जिम्मेदारी से नियमों का पालन करते हैं।

कुछ लोग वैक्सीन को लेकर सवाल उठा रहे हैं, आपका क्या कहना है?

ऐसा करना ठीक नहीं है। वैक्सीन सबको लेनी चाहिए। हम सभी ने वैक्सीन ली है। इससे एंटीबॉडी भी बन रहे हैं।

एक अप्रैल से 45 साल से ऊपर वाले लोगों को वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी, इससे कितना फायदा होगा?

बहुत बड़ी राहत मिलेगी क्योंकि 34 करोड़ लोग हैं जिनको इस फेज में वैक्सीन लगेगी।

आपके नाम से कोरोना को लेकर एक ऑडियो वायरल हो रहा है, क्या वो सही है?

वह पूरी तरह से फर्ज़ी है। मैं उसका खंडन करता हूं।