पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Db original
  • Start Up Series: IIT Super30 Alumni Startup FILO Self Education Study App; Who Is Imbesat Ahmad Shadman Anwar? Indian Entrepreneur Success Story

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्टार्टअप सीरीज:मोबाइल पर एक क्लिक और 60 सेकेंड में ट्यूटर हाजिर; दो IITians अपने स्टार्टअप से आसान बना रहे पढ़ाई

एक महीने पहलेलेखक: आदित्य द्विवेदी

स्टार्टअप सीरीज में हम ऐसे स्टार्टअप्स के बारे में बता रहे हैं जिनका आइडिया इनोवेटिव है और जो चुनौतियों के बावजूद अच्छी ग्रोथ दिखा रहे हैं। आज बात फिलो ऐप की, जो स्टूडेंट को सेल्फ स्टडी के दौरान होने वाली समस्याओं के समाधान का दावा करता है।

श्रीनगर की राइज इंस्टीट्यूट में पढ़ाते वक्त इम्बेसात अहमद अपने स्टूडेंट से बात करते तो अक्सर बच्चों की एक ही शिकायत रहती थी। 'सर, आप तो इस टॉपिक पर पहुंच गए हम अभी तीन-चार टॉपिक पीछे ही अटके हुए हैं।' कई बार उन्हें रात 12 बजे भी स्टूडेंट प्रॉब्लम भेज देते थे। जल्द ही इम्बेसात को एहसास हो गया कि भले ही स्टूडेंट स्कूल जाते हैं, कोचिंग जाते हैं, इसके बावजूद उन्हें घर पर पढ़ते वक्त एक साथी की जरूरत होती है जो प्रॉब्लम में उलझने पर फौरन उनकी मदद कर सके। यहीं से इम्बेसात को 'Filo' का आइडिया आया।

आइडियाः स्टूडेंट्स के सेल्फ स्टडी का साथी

Filo एक मोबाइल ऐप है जो एंड्रॉयड और iOS में मौजूद है। स्टार्टअप का दावा है कि इस ऐप पर कोई भी स्टूडेंट किसी भी वक्त किसी भी सब्जेक्ट की प्रॉब्लम शेयर कर सकता है। 60 सेकेंड के अंदर एक ट्यूटर वीडियो कॉल पर आएगा और उस प्रॉब्लम को सॉल्व करने में स्टूडेंट की मदद करेगा। फिलहाल इस ऐप पर स्टूडेंट के लिए 15 मिनट की कॉल मुफ्त है। अगर स्टूडेंट को उससे ज्यादा की जरूरत है तो एक दिन, एक महीने या एक साल का सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

स्टार्टः इम्बेसात को मिला शादमान का साथ

पटना के रहने वाले इम्बेसात ने अभयानंद सुपर 30 से JEE की तैयारी की। उनका सेलेक्शन IIT खड़गपुर में हुआ। इम्बेसात को हमेशा से पढ़ाने का शौक था उन्होंने कॉलेज के बाद श्रीनगर के RISE इंस्टीट्यूट में पढ़ाना शुरू किया। यहीं पर Filo का कॉन्सेप्ट तैयार किया।

इम्बेसात बताते हैं, 'इसे लाखों लोगों तक पहुंचाने के लिए एक प्रोडक्ट बनाने की जरूरत थी। इसके लिए मेरे दिमाग में पहला नाम शादमान अनवर का आया। शादमान मेरे स्कूल और सुपर 30 के सीनियर रहे हैं फिर IIT दिल्ली चले गए। टेक्नोलॉजी सेक्टर में उन्होंने खूब काम किया है। मैंने शादमान से बात की। वो इसके लिए तैयार हो गए। मैं उस वक्त कश्मीर में था। एक फ्लाइट लेकर सीधा दिल्ली आ गया।'

स्ट्रगलः शून्य से हजारों स्टूडेंट्स तक का सफर

इम्बेसात ने बताया, 'सबसे मुश्किल होता है प्रोडक्ट को बनाना। हमने एक और दोस्त को अपने साथ जुड़ने के लिए तैयार किया। अगली समस्या थी प्रोडक्ट को स्टूडेंट तक पैसे पहुंचाएं। हमने आईआईटी से इंटर्न हायर किए। उन्होंने स्टूडेंट कम्युनिटी तक इसे पहुंचाया। जिस दिन Filo का पहला ट्रायल था उस दिन 3 कॉल आई थी। अगली समस्या ट्यूटर जोड़ने की थी क्योंकि फ्री में कोई कब तक पढ़ाएगा। इसके लिए हमने प्रति मिनट के हिसाब से पेमेंट करनी शुरू की।'

इम्बेसात बताते हैं, 'लॉकडाउन के बाद मुझे सैलरी मिलनी भी बंद हो गई थी। ऐसे में मैंने फिलो ऐप के लिए अपने पिछले दो साल की पूरी सेविंग लगा दी। ट्यूटर्स को पैसा देते वक्त मैं अपना बैंक बैलेंस भी देख रहा था क्योंकि उसमें पैसे बहुत सीमित थे।'

फंडिंगः बेटर कैपिटल से मिले 1.80 करोड़ रुपए

Filo ऐप को बेटर कैपिटल से फरवरी 2021 में करीब 1.80 करोड़ रुपए की फंडिंग मिली। इसकी कहानी भी रोचक है। इम्बेसात बताते हैं, 'बेटर कैपिटल के वैभव से हमारी मुलाकात हुई। हमने उन्हें अपना प्रोडक्ट शेयर किया तो उन्होंने कहा कि मुझे दो दिन का वक्त दो और अब इस प्रोडक्ट के बारे में किसी से बात मत करना। अगले दो दिन में उन्होंने मुझसे प्रोडक्ट, इसके प्लान से जुड़े 500 से ज्यादा सवाल पूछे। पूरी तरह संतुष्ट होकर हामी भरी। उसके बाद हमने कंपनी रजिस्टर करवाई और फाइनली फरवरी में हमें चेक मिला।'

टारगेटः अभी रोजाना 4-5 हजार कॉल, प्रोडक्ट की मजबूती पर फोकस

Filo के पास अभी 4 फुलटाइम कर्मचारी, 4 इंटर्न और 3 फ्रीलांसर हैं। अक्टूबर 2020 में लॉन्चिंग के बाद पिछले पांच महीने में Filo के साथ 70 हजार से ज्यादा स्टूडेंट जुड़े हैं। इस ऐप पर करीब 25 लाख मिनट की क्लास पूरी हुई है। रोजाना औसतन 4-5 हजार स्टूडेंट की कॉल आती हैं। इस प्लेटफॉर्म पर 6 हजार ट्यूटर रजिस्टर्ड हैं जिनमें से 1500 से 2000 एक्टिव हैं।

इम्बेसात कहते हैं फंडिंग का इस्तेमाल सबसे पहले ट्यूटर को पैसे देने में किया जाएगा। उसके बाद प्रोडक्ट बनाने वाली टीम पर भी पैसे खर्च होंगे। ट्यूटर के लिए सरकारी और प्राइवेट स्कूल के टीचर्स से भी कनेक्ट करने की योजना है। अगले राउंड की फंडिंग के लिए भी कोशिश शुरू हो गई है।

इम्बेसात कहते हैं, 'फिलो एक ग्रीक शब्द है जिसका मतलब होता है दोस्त। फिलो आपका एक दोस्त है जो आपको अकेला फील नहीं होने देगा। जब भी जरूरत हो बस मोबाइल में टैप कीजिए और आपका दोस्त हाजिर।'

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

और पढ़ें