• Hindi News
  • Db original
  • Those Who Killed Our Soldiers Are Hiding In Some Country, They Will Kill Them By Throwing Them Out Of The House, NIA Will Investigate

मणिपुर CM का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू:हमारे सैनिकों को मारने वाले किसी देश में छुपे हों, उन्हें घर से निकालकर मारेंगे : बीरेन सिंह

13 दिन पहलेलेखक: अक्षय बाजपेयी

13 नवंबर को असम राइफल्स के काफिले पर हमला हुआ था, जिसमें हमारे 5 जवान शहीद हो गए थे। अब मणिपुर सरकार इस मामले की जांच NIA को सौंप रही है, ताकि विदेश में छुपे आरोपियों को ढूंढा जा सके। उन्हें घर से निकालकर सजा देने की प्लानिंग हो चुकी है। यह बात मणिपुर के CM एन बीरेन सिंह ने भास्कर को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कही। CM सिंह ने बेहद बिजी शेड्यूल के बावजूद हैलीपेड पर रुककर भास्कर संवाददाता अक्षय बाजपेयी से बात की। पढ़िए पूरा इंटरव्यू…

सवाल: उग्रवादी हमारी ही जमीन से हमारे कमांडिंग ऑफिसर सहित 5 जवानों पर हमला करके भाग गए, सरकार क्या रणनीति बना रही है?

जवाब : आरोपियों को पकड़ने के लिए हम केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इस हमले में बॉर्डर के बाहर के लोग शामिल हैं, इसलिए केस NIA को सौंप रहे हैं। इसकी पूरी तैयारी हो चुकी है। आरोपी जहां भी होंगे, किसी भी देश में होंगे, उन्हें पकड़कर सजा दी जाएगी। उन्होंने हमारे एरिया में आकर हमला किया, लेकिन उनके कैंप हमारे एरिया में नहीं हैं। वे दूसरे देश से आए थे और हमला करके वापस वहीं भाग गए। भारत म्यांमार के साथ बहुत लंबी बॉर्डर साझा करता है, लेकिन 70 साल में भी इसमें फेंसिंग नहीं हो सकी। पूरा बॉर्डर खुला पड़ा है।

मोदीजी के आने के बाद फेंसिंग का काम बहुत तेजी से चल रहा है। 40 किमी में फेंसिंग हो चुकी है। इससे फ्यूचर में ऐसे हमले नहीं हो पाएंगे।

सवाल: क्या यह राज्य सरकार को अस्थिर करने के लिए उग्रवादियों की चाल है, जो उन्होंने चुनाव के ठीक दो महीने पहले चली है?

जवाब : लगता तो ऐसा ही है, क्योंकि साढ़े चार साल से जो राज्य शांत था। चुनाव के एकदम पहले ये सब कर रहे हैं तो इससे लग रहा है कि इसमें किसी ऐसे ग्रुप का हाथ है जो हमारे लिए अच्छा नहीं सोचता। यही मैसेज देने के लिए उन्होंने हमला किया है लेकिन उनके मंसूबों को हम पूरा नहीं होने देंगे।

सवाल : मणिपुर म्यांमार से 398 किमी बॉर्डर साझा करता है लेकिन इसमें से फेंसिंग 40 किमी में ही है, इसे सुरक्षित क्यों नहीं किया जा रहा ?

जवाब : हमने 100 किमी का संवेदनशील इलाका आइडेंटिफाई किया है। यह वो इलाका है, जहां से सीमा पार से आना-जाना हो सकता है। बाकि जगह तो पहाड़ी है। अब हम इस 100 किमी के संवेदनशील इलाके को कवर करने जा रहे हैं। एक से दो साल के अंदर ही इस पूरे एरिया में फेंसिंग कर दी जाएगी।

सवाल: एक्सपर्ट्स इस हमले के पीछे चीन का हाथ होने की आशंका जता रहे हैं, क्या आपको भी ऐसा लगता है?

जवाब : देखिए भारत को अस्थिर करने की कोशिशें तो हो ही रही हैं, लेकिन कौन क्या कर रहा है ये बोलने के लिए मैं सही व्यक्ति नहीं हूं। इसमें साजिश तो है।

सवाल : चीनी सेना ने कभी इस एरिया में पहले हमला नहीं किया। पहली बार कमांडेंट और सैनिकों के साथ ही परिजनों की भी हत्या की गई, क्या कोई संदेश देने की कोशिश है?

जवाब : म्यांमार में जो रहा है, उससे इसका रिलेशन हो सकता है। लेकिन ये स्ट्रेटिजिकल पॉइंट है इसलिए इस पर मैं कमेंट नहीं कर सकता।

सवाल : मणिपुर में पहली बार BJP सरकार बनी, अपने 5 साल की सबसे बड़ी उपलब्धि क्या मानते हैं?

जवाब : मणिपुर में पहले मां-बहन सब ग्रुप बनाकर घर के बाहर बैठी रहती थीं। उन्हें डर सताता था कि न जाने कौन आएगा और बेटे, पति को पकड़ेगा। रातभर गेट पर सोती थीं। आज सब घर में आराम से सोती हैं। अब मणिपुर बंद भी नहीं होता। सुरक्षा के साथ ही मोदीजी ने मणिपुर को इनरलाइन परमिट भी दे दिया, जिसकी सालों से डिमांड थी। स्टेट और नेशनल हाइवे बन रहे हैं। घर-घर गैस पहुंच गई है। वॉटर सप्लाय, आयुष्मान का फायदा लोगों को मिल रहा है। हम सरकार की स्कीम्स की डोर टू डोर डिलेवरी दे रहे हैं। इस बार हम दो तिहाई बहुमत से जीतेंगे।

सवाल: मणिपुर में एक ही सीट पर टिकट के चार-चार, पांच-पांच दावेदार हैं। ऐसे में टिकट कैसे बांटेंगे? नाराजगी कैसे दूर करेंगे?

जवाब : एक ब्यूटिफुल लड़की होने से जैसे उसके पीछे चार-चार, पांच-पांच जवान घूमते हैं वैसे ही सब BJP में आ रहे हैं। टिकट बांटने में कोई दिक्कत नहीं होगी। हमें मोदीजी के नाम पर नहीं बल्कि मोदीजी के काम पर वोट मिलेंगे।

खबरें और भी हैं...