• Hindi News
  • Db original
  • NYSE; Today History (Aaj Ka Itihas) 17 May | New York Stock Exchange Story And Facts

आज का इतिहास:230 साल पहले 24 लोगों ने की थी न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज की शुरुआत, आज है दुनिया का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दुनिया के सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज ‘दि न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज’ यानी NYSE की शुरुआत आज ही के दिन की गई थी। इसकी शुरुआत महज 24 लोगों ने की थी। आज इस स्टॉक एक्सचेंज में 2 हजार से भी ज्यादा कंपनियां रजिस्टर्ड हैं। मार्केट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से ये दुनिया का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। आज NYSE में हर दिन 90 लाख से भी ज्यादा स्टॉक और सिक्योरिटी की ट्रेडिंग होती है। NYSE को ‘द बिग बोर्ड’ के नाम से भी जाना जाता है।

इसकी शुरुआत करने वाले सभी लोग न्यूयॉर्क में बॉन्ड और सिक्योरिटी की ट्रेडिंग का बिजनेस करते थे। मार्च 1792 में इन लोगों ने न्यूयॉर्क के एक होटल में मीटिंग की। इसका उद्देश्य बिजनेस को और सुरक्षित और बेहतर बनाना था।

आज ही के दिन 1792 में ही इन्हीं 24 व्यापारियों ने एक एग्रीमेंट साइन किया, जिसे बटनवुड एग्रीमेंट नाम दिया गया। इस एग्रीमेंट में बिजनेस से जुड़े नियम-कायदे थे। दरअसल एक गार्डन में बटनवुड के पेड़ के नीचे ये एग्रीमेंट साइन हुआ था इसी वजह से इसे बटनवुड एग्रीमेंट नाम दिया गया। इसी के साथ न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज की शुरुआत हुई।

NYSE ने 2 बैंक बॉन्ड और 3 सरकारी बॉन्ड के साथ बिजनेस शुरू किया। 1967 में म्यूरल सीबर्ट नामक पहली महिला ने NYSE में ट्रेडिंग की। 2007 में NYSE और यूरोप के स्टॉक एक्सचेंज ‘यूरोनेक्स्ट’ का मर्जर हुआ। अगले ही साल NYSE ने अमेरिका स्टॉक एक्सचेंज का अधिग्रहण कर लिया

1978: चार्ली चैपलिन का चुराया हुआ ताबूत खोज लिया गया

आज ही के दिन 1978 में चार्ली चैप्लीन का चोरी हुआ ताबूत 11 हफ्ते बाद खोज लिया गया था।
आज ही के दिन 1978 में चार्ली चैप्लीन का चोरी हुआ ताबूत 11 हफ्ते बाद खोज लिया गया था।

मशहूर अभिनेता चार्ली चैपलिन का निधन 25 दिसंबर 1977 को हुआ था। उनके शव को जेनेवा में एक झील के पास दफनाया गया था, लेकिन दफनाने के तीन महीने बाद कब्र से उनकी डेड बॉडी चोरी हो गई। बॉडी को चुराने के बाद चोरों ने चार्ली की पत्नी से डेड बॉडी को वापस करने के बदले में 4 लाख पाउंड की रकम की मांग की।

इसके पांच हफ्ते बाद पुलिस ने बुल्गारिया के दो लोगों को चार्ली की डेड बॉडी चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया। उनका नाम रोमना वारदास और गेंचो गानेव था। आखिरकार 17 मई 1978 को दोनों ने पुलिस को उनकी डेड बॉडी सौंप दी।

पूछताछ के दौरान दोनों चोरों ने बताया कि वे आर्थिक तंगी से गुजर रहे थे, इसलिए उन्होंने चार्ली की डेड बॉडी ही चुरा ली। इसके बदले में मिलने वाले पैसों से दोनों नया बिजनेस शुरू करना चाहते थे। बाद में चार्ली की डेड बॉडी को स्विट्जरलैंड के पास विलेज ऑफ नोविले में दफनाया गया। इस बार चार्ली के शव को कंक्रीट के एक मजबूत स्लैब के नीचे दफनाया गया, ताकि उनकी डेड बॉडी दोबारा चोरी न हो सके।

1939: पहले स्पोर्ट्स इवेंट का लाइव टेलीकास्ट

1939 में आज ही के दिन अमेरिका के NBC ने टीवी पर पहली बार किसी मैच का लाइव टेलीकास्ट किया।
1939 में आज ही के दिन अमेरिका के NBC ने टीवी पर पहली बार किसी मैच का लाइव टेलीकास्ट किया।

आज दुनिया के हर छोटे-बड़े स्पोर्ट्स इवेंट का लाइव टेलीकास्ट किया जाता है। इसकी शुरुआत 1939 में आज ही के दिन हुई थी। कैलिफोर्निया के बेकर फील्ड में कोलंबिया और प्रिंसटन के बीच बेसबॉल मैच था।

नेशनल ब्रॉडकास्टिंग कंपनी (NBC) ने करीब 400 से ज्यादा टेलीविजन पर इस मैच का लाइव टेलीकास्ट किया। पूरे टेलीकास्ट के लिए केवल एक ही कैमरे का इस्तेमाल किया गया। ये एक प्रयोग के तौर पर किया गया था। इसी के साथ ये पहला स्पोर्ट्स इवेंट बन गया जिसे लोगों ने घर बैठे टीवी पर लाइव देखा।

इसके सफल होने के 5 महीनों बाद ब्रुकलिन से इसी तरह के दूसरे मैच का टेलीकास्ट किया गया। इस प्रयोग ने खूब वाहवाही बटोरी और अगले दिन के अखबारों में इसे खूब जगह मिली। इसके बाद तो लगभग हर बड़े स्पोर्ट्स इवेंट का लाइव टेलीकास्ट होने लगा। जैसे-जैसे टीवी का इस्तेमाल बढ़ने लगा, लाइव टेलीकास्ट भी बढ़ता गया।

आज वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे

आज के दिन को दुनियाभर में वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे, यानी विश्व उच्च रक्तचाप दिवस यानी हाई ब्लड प्रेशर डे के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य उच्च रक्तचाप के बारे में जागरूकता फैलाना और लोगों को इसे नियंत्रित करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

हाई ब्लड प्रेशर दुनियाभर में होने वाली मौतों की एक बड़ी वजह है। शरीर का नॉर्मल ब्लड प्रेशर 80/120 होना चाहिए। जब यह 135/185 तक पहुंच जाता है तो इसे हाइपरटेंशन कहते हैं। अधिकतर लोगों को पता ही नहीं होता कि वे इस बीमारी से पीड़ित हैं और वे इस पर कोई ध्यान ही नहीं देते। इस वजह से धीरे-धीरे दिल और ब्लड वेसल्स कमजोर होती जाती हैं। इसलिए इस बीमारी को साइलेंट किलर भी कहा जाता है।

17 मई को इतिहास में और किन-किन वजहों से याद किया जाता है

2010: भारतीय बॉक्सरों ने कॉमनवेल्थ बॉक्सिंग चैंपियनशिप के सभी 6 स्वर्ण पदक जीत लिए। भारत ने सर्वाधिक 36 अंक लेकर टीम चैंपियनशिप भी जीती।

2004: अमेरिका का मेसाचुसेट्स समलैंगिक शादी को मान्यता देने वाला पहला राज्य बना।

1975: जापानी पर्वतारोही जुनको तैबेई माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली पहली महिला बनीं।

1918: भारत के प्रसिद्ध उद्योगपति और टाटा समूह के शीर्ष सदस्य रूसी मोदी का जन्म हुआ।

1865: विश्व संचार दिवस मनाने की शुरुआत हुई।

1749: ‘चेचक’ के टीके के आविष्कारक एडवर्ड जेनर का जन्म हुआ।