• Hindi News
  • Db original
  • Union Minister Of State Arjun Meghwal Interview Uttar Pradesh Election Rajasthan Politics Farmer

केंद्रीय मंत्री मेघवाल का इंटरव्यू:‘टेनी का बेटा जेल में है इससे बड़ा रूल ऑफ लॉ क्या हो सकता है, मायावती अभी तक एक भी मीटिंग क्यों नहीं कर पाईं?’

नई दिल्ली4 महीने पहलेलेखक: प्रेम प्रताप सिंह

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दलित वोट बैंक को साधने के लिए भाजपा ने केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल को चुनावी मैदान में उतारा है। उन्हें यूपी में बृज क्षेत्र का प्रभारी बनाया गया है। पिछले दिनों भाजपा नेताओं में भगदड़ मची और ओबीसी नेताओं ने पार्टी पर उपेक्षा का आरोप लगाकर सपा का दामन थामा। भाजपा के प्रति किसानों में नाराजगी है। उसको लेकर दैनिक भास्कर ने मेघवाल का इंटरव्यू किया।

पेश है बातचीत के प्रमुख अंश-

सवाल : उत्तर प्रदेश भाजपा में भगदड़ मची है। विधानसभा चुनाव पर क्या असर पड़ेगा?

जवाब : कुछ अवसरवादी लोग भाजपा छोड़कर जा रहे हैं। भाजपा के लोग एकजुट हैं। संगठन भी मजबूत है। सीएम योगी ने पीएम की नीतियों को धरातल पर उतरा है। चाहे वो पीएम आवास, शौचालय, हर घर बिजली देने की योजना, एक्सप्रेस वे या फिर एयरपोर्ट बनाने की बात हो। हर योजना को योगी सरकार ने अच्छे से धरातल पर उतारा है। ऐसे में इन घटनाओं का चुनाव पर असर नहीं पड़ेगा। भाजपा प्रचंड बहुमत से चुनाव जीतेगी, ये तय है।

सवाल : ओबीसी से आने वाले जो नेता, मंत्री पार्टी छोड़ रहे हैं उन्होंने उपेक्षा का आरोप लगाया है?

जवाब : जो आरोप लगा रहे हैं, वो अलग बात है। मोदी कैबिनेट का विस्तार जुलाई 2021 में हुआ। ओबीसी से आने वाले 27 नेताओं को केंद्रीय मंत्री परिषद में लिया गया। ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का काम मोदी सरकार ने किया। ये आरोप निराधार है।

सवाल : किसानों की नाराजगी क्या विधानसभा चुनाव में भाजपा पर भारी पड़ेगी ?

जवाब : किसान वर्ग के लिए सबसे अधिक काम मोदी सरकार ने किया। योगी सरकार ने गन्ना रेट बढ़ाने का काम किया। इससे किसान योगी सरकार की नीतियों से खुश है। चीनी मिलें बंद दी थीं, जो चालू हुईं हैं।

सवाल : पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मायावती के दलित वोट बैंक में सेंध लगाने के लिए आपको उतारा गया है। क्या आप सेंध लगा पा रहे हैं?

जवाब : दलित समाज धीरे-धीरे मोदी सरकार की नीतियों से प्रभावित होकर राष्ट्रीय स्तर पर वोट करने लगा है। मायावती अभी तक उत्तर प्रदेश में मीटिंग ही नहीं कर पाईं हैं। दलित समाज भाजपा की योजनाओं से आकर्षित हो रहा है।

सवाल : उत्तर प्रदेश चुनाव में किसान आंदोलन, अजय मिश्र टेनी प्रकरण से भाजपा को कितना नुकसान होगा?

जवाब : यह कोई विषय ही नहीं है। अजय मिश्र टेनी के बेटे हिरासत में है। सुप्रीम कोर्ट की निगरानी से जांच हो रही है। इससे बड़ा रूल आफ लॉ क्या हो सकता है।

सवाल : उत्तर प्रदेश चुनाव में कांग्रेस भाजपा को कितना नुकसान पहुंचा रही है?

जवाब : उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सांस फूल रही है। कांग्रेस एक अंक में ही रहेगी।

सवाल : राजस्थान भाजपा में गुटबाजी चरम पर है। उपचुनाव में भाजपा हार तो नहीं जाएगी?

जवाब : कांग्रेस का आरोप निधाराधार है। भाजपा नहीं कांग्रेस दो खेमे में बटी है। एक अशोक गहलोत गुट और दूसरा सचिन पायलट गुट। भाजपा एकजुट है। 2023 के विधानसभा चुनाव में भी यह देखने को मिल जाएगा।

सवाल : राजस्थान में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में सीएम चेहरा कौन होगा?

जवाब : यह संसदीय बोर्ड तय करता है। वैसे भी जब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह राजस्थान गए थे तो स्पष्ट संकेत दिया था कि विधानसभा चुनाव तो पीएम मोदी के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा।