• Hindi News
  • Db original
  • When Google Lost Its Job, Anubhuti Started Selling Skin Care Products From Home, Profit Of 11 Lakhs In The First Year Itself.

आज की पॉजिटिव खबर:गूगल की नौकरी गई तो अनुभूति घर से ही स्किन केयर प्रोडक्ट बेचने लगीं, पहले साल 11 लाख का मुनाफा

9 महीने पहलेलेखक: सुनीता सिंह

जिंदगी हमें अक्सर चुनौतियां देती रहती है। ये हम पर निर्भर करता है कि हम उसे मौके के रूप में इस्तेमाल करते हैं या हारकर बैठ जाते हैं। लखनऊ की अनुभूति की कहानी भी कुछ ऐसी ही है। अनुभूति को प्रेग्नेंसी के चलते गूगल की नौकरी छोड़नी पड़ी। गर्भ में पल रहे बच्चे को किडनी की बीमारी थी। 7 महीने में ही प्रीमैच्योर डिलीवरी करनी पड़ी। इसका असर अनुभूति पर भी पड़ा और उन्हें हेयर और स्किन से जुड़ी कई दिक्कतें होने लगीं।

इसका समाधान उन्हें हर्बल प्रोडक्ट में दिखने लगा। पहले खुद के लिए कुछ प्रोडक्ट तैयार किए और जब डिमांड बढ़ने लगी तो शुरू किया Anubhuti–An Experience नाम से नेचुरल हेयर एंड स्किन केयर प्रोडक्ट का स्टार्टअप। 2500 से शुरू हुआ उनका सफर आज सालाना 11 लाख रुपए तक पहुंच चुका है। इसके साथ ही 10 लोगों को उन्होंने रोजगार भी दिया है।

गूगल की अच्छी खासी नौकरी छोड़नी पड़ी

33 साल की अनुभूति जैन मिश्रा ने UIET कानपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की है। उसके बाद उनकी नौकरी गूगल में लग गई।
33 साल की अनुभूति जैन मिश्रा ने UIET कानपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की है। उसके बाद उनकी नौकरी गूगल में लग गई।

अनुभूति जैन मिश्रा बताती हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान मेरी हालत ठीक नहीं थी। मेरे बच्चे की लाइफ को खतरा था। उस दौरान जॉब करते हुए मैं बच्चे को टाइम नहीं दे पा रही थी। तब मैंने नौकरी छोड़ना ही बेहतर समझा।

सातवें महीने में बच्चा हो गया। उसकी कंडीशन ठीक नहीं थी। कई महीने उसे ICU में रखना पड़ा। इस दौरान मेरा सारा वक्त उसकी देखभाल करने में गुजर जाता था। इसकी वजह से खुद की देखभाल नहीं कर पाई, जिससे मेरे स्किन और बालों पर बुरा असर पड़ा।

ट्रेनिंग लेने के बाद खुद ही तैयार करने लगीं प्रोडक्ट

अनुभूति बताती हैं कि उनके पति श्रेय मिश्रा काफी सपोर्ट करते हैं। मार्केटिंग में भी वे मदद करते हैं।
अनुभूति बताती हैं कि उनके पति श्रेय मिश्रा काफी सपोर्ट करते हैं। मार्केटिंग में भी वे मदद करते हैं।

अनुभूति कहती हैं कि जब मेरे बाल झड़ने लगे और स्किन पर असर होने लगा तो मैंने इसका उपाय ढूंढना शुरू किया। घर में पड़े हर्बल चीजों से ही कुछ-कुछ तैयार करना शुरू किया, फिर इंटरनेट से जानकारी जुटाई। कुछ दिनों बाद मुझे रियलाइज हुआ कि इससे स्किन ठीक हो रही है और बालों का गिरना भी कम हो रहा है।

इसके बाद मैंने इसको लेकर और ज्यादा रिसर्च की। तब तक मेरा बेटा भी 7-8 महीने का हो गया और मुझे थोड़ा-बहुत वक्त मिलने लगा। इसके बाद नेचुरल स्किन एंड हेयर केयर का 6 महीने का कोर्स किया और पहले की तुलना में बेहतर प्रोडक्ट बनाने लगी।

2500 रुपए से शुरू किया स्टार्टअप
वे बताती हैं कि सबसे पहले मैंने लिप बाम तैयार की। जिसकी शुरुआत मैंने घर के किचन से की। मात्र 25,000 रुपए में। चूंकि मुझे इस बिजनेस का आइडिया नहीं था, इसलिए जीरो से काम करना बेहतर समझा।

प्रोडक्ट तैयार करने के बाद मैंने उसे अपने दोस्तों को भेजा। जब उन्हें मेरा प्रोडक्ट अच्छा लगा तो वे इस तरह के और भी प्रोडक्ट की मांग करने लगे। इस तरह मैं धीरे- धीरे और प्रोडक्ट बनाती गई और लोगों को देती गई।

अनुभूति के पास फिलहाल 50 से ज्यादा वैराइटी के प्रोडक्ट हैं। इनमें वे किसी तरह के केमिकल का इस्तेमाल नहीं करती हैं।
अनुभूति के पास फिलहाल 50 से ज्यादा वैराइटी के प्रोडक्ट हैं। इनमें वे किसी तरह के केमिकल का इस्तेमाल नहीं करती हैं।

फिलहाल अनुभूति के पास शैम्पू, बॉडी बटर, एलोवेरा जेल, फेस टोनर, फेस पैक, हेयर स्क्रब, एंटी हेयर फॉल ट्रीटमेंट सहित 56 प्रोडक्ट हैं। 15 लोगों की टीम मार्केटिंग से लेकर सोशल मीडिया पर प्रमोशन का काम देखती है। इससे वे हर महीने करीब एक लाख रुपए की कमाई कर लेती हैं।

सस्टेनेबिलिटी को बढ़ावा देने की तरफ भी एक पहल
अनुभूति कहती हैं, ’जिस तरह हमने अपना बिजनेस नेचुरल रखा है वैसे ही हम सस्टेनेबिलिटी पर भी काम कर रहे हैं। हम अपने किसी भी प्रोडक्ट की पैकिंग या डिलीवरी के लिए प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करते हैं। इसकी जगह एल्यूमीनियम या कंटेनर का इस्तेमाल करते हैं। जिसे कस्टमर बाद में भी यूज कर सकें।

हमारे पास एक और स्कीम भी है। अगर कस्टमर हमें कंटेनर वापस भेजते हैं तो हम उन्हें अगले प्रोडक्ट में डिस्काउंट देते हैं। इसके अलावा हम बैंबू टूथब्रश, नीम वुड कॉम्ब, बैंबू टंग क्लीनर और नेचुरल लोफा जैसे प्रोडक्ट भी बना रहे हैं।

अनुभूति की टीम बैंबू टूथब्रश, नीम वुड कॉम्ब, बैंबू टंग क्लीनर और नेचुरल लोफा जैसे प्रोडक्ट भी बना रही है।
अनुभूति की टीम बैंबू टूथब्रश, नीम वुड कॉम्ब, बैंबू टंग क्लीनर और नेचुरल लोफा जैसे प्रोडक्ट भी बना रही है।

आप इस तरह का बिजनेस कैसे शुरू कर सकते हैं?
एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक साल के दौरान हर्बल प्रोडक्ट के मार्केट में दोगुना बढ़ोतरी हुई है। अगर आप इस सेक्टर में बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो बेहतर स्कोप है, लेकिन उसके पहले आपको रिसर्च और स्टडी की जरूरत होगी।

किन-किन प्रोडक्ट्स से हर्बल प्रोडक्ट बनाए जा सकते हैं और उन्हें तैयार करने का तरीका क्या होगा, यह आपको पता करना होगा। इसके लिए आप किसी एक्सपर्ट की राय ले सकते हैं।

अभी एलोवेरा, सहजन, लेमन ग्रास, तुलसी के पत्ते और हल्दी-काली मिर्च जैसी नेचुरल चीजों से बड़े लेवल पर हर्बल प्रोडक्ट तैयार किए जा रहे हैं। कई लोग तो घर में ही इस तरह के प्रोडक्ट तैयार कर रहे हैं। इसे तैयार करने का तरीका और इन प्रोडक्ट्स की उपलब्धता भी बहुत मुश्किल नहीं है। इसके लिए बहुत अधिक बजट की भी जरूरत नहीं होती है। अगर बेहतर तरीके से मार्केटिंग की जाए तो बढ़िया मुनाफा कमाया जा सकता है।

अगर हर्बल प्रोडक्ट के स्टार्टअप में आपकी दिलचस्पी है तो ये खबर जरूर पढ़ें
मुंबई में रहने वाली हिना योगेश ने MBA की पढ़ाई पूरी करने के बाद कुछ सालों तक नौकरी की। इसके बाद किसी कारणवश उन्हें अपनी नौकरी छोड़नी पड़ी। पिछले साल अगस्त में उन्होंने घर से ही हेल्थ सप्लीमेंट्स का स्टार्टअप शुरू किया। आज उनके पास 20 से ज्यादा प्रोडक्ट्स हैं, देशभर में मार्केटिंग कर रही हैं। हर महीने 2.5 लाख का टर्नओवर वे हासिल कर रही हैं। (पढ़िए पूरी खबर)