55 साल के एसवी राव 1 रुपए में सिखाते हैं गिटार बजाना, फुटपाथ पर लगाते हैं क्लास

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राव दिन में दो जगह संगीत की क्लासेस देते हैं। - Dainik Bhaskar
राव दिन में दो जगह संगीत की क्लासेस देते हैं।
  • स्टूडेंट्स में बच्चे, इंजीनियरिंग छात्र और पुलिसकर्मी भी शामिल
  • अब तक 1000 से ज्यादा को सिखा चुके हैं गिटार बजाना 

नई दिल्ली. आंध्रप्रदेश के रहने वाले 55 साल के एसवी राव पेशे से सिविल इंजीनियर हैं। उन्होंने कुछ दिनों तक मल्टीनेशलन कंपनी में काम किया। लेकिन फिर 2009 में नौकरी छोड़ दी। अब यह सिर्फ 1 रुपए में बच्चों को गिटार सिखा रहे हैं। एसवी राव दिल्ली के आंध्रा भवन के बाहर फुटपाथ पर हर दिन बच्चों को गिटार सिखाते दिख जाते हैं। वे बच्चों को गिटार भी मुहैया कराते हैं। 

 

बच्चों के अलावा इंजीनियरिंग के छात्र और पुलिसकर्मी भी गिटार सीखने आते हैं। लोग इन्हें गिटार राव के नाम से भी जानते हैं। राव बताते हैं, \'वे अब तक 1000 से ज्यादा लोगों को गिटार सिखा चुके हैं। रावजी गिटार के अलावा बांसुरी, कीबोर्ड और वॉयलिन भी बजाते हैं। इशान्वी (8) ने बताया, रावजी ने उसे 7 दिन में गिटार बजाना सिखा दिया है। 

 

भारत में संगीत कैंपेन चलाने की सपना: राव का सपना है कि वे पीएम को स्वच्छ भारत अभियान की तर्ज पर संगीत भारत कैंपेन चलाने को राजी करें। वे दिन में दो जगह संगीत की क्लासेस देते हैं। दोपहर 2 से शाम 6 बजे तक विजय चौक पर। फिर शाम 6 से 9 बजे तक इंडिया गेट पर गिटार सिखाते हैं। 

 

तिरुपति जाकर सीखा संगीत, अब पीएचडी की तैयारी: राव 2010 में डिप्रेशन में चले गए थे। इसके बाद वे तिरुपति मंदिर चले गए और संगीत सीखा। तिरुपति के एसवी म्यूजिक कॉलेज से संगीत की शिक्षा लेने के बाद अब जल्द वह तेलंगाना यूनिवर्सिटी से म्यूजिक में ग्रेजुएट हो जाएंगे। अब वे पीएचडी करना चाहते हैं। 
 

खबरें और भी हैं...