• Hindi News
  • Interesting
  • A seat will be reserved for Lord Shiva in the Kashi Mahakal Express, will be aware of it; The temple was built on the seat for this

दिल्ली / काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित; आईआरसीटीसी ने खंडन किया

काशी-महाकाल एक्सप्रेस (वाराणसी-इंदौर) 20 फरवरी से शुरू होगी। काशी-महाकाल एक्सप्रेस (वाराणसी-इंदौर) 20 फरवरी से शुरू होगी।
इस ट्रेन को रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखाई। इस ट्रेन को रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखाई।
यह देश की पहली ऐसी ट्रेन है, जिसका हर कोच सीसीटीवी कैमरे से लैस है। यह देश की पहली ऐसी ट्रेन है, जिसका हर कोच सीसीटीवी कैमरे से लैस है।
X
काशी-महाकाल एक्सप्रेस (वाराणसी-इंदौर) 20 फरवरी से शुरू होगी।काशी-महाकाल एक्सप्रेस (वाराणसी-इंदौर) 20 फरवरी से शुरू होगी।
इस ट्रेन को रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखाई।इस ट्रेन को रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखाई।
यह देश की पहली ऐसी ट्रेन है, जिसका हर कोच सीसीटीवी कैमरे से लैस है।यह देश की पहली ऐसी ट्रेन है, जिसका हर कोच सीसीटीवी कैमरे से लैस है।

  • उत्तर रेलवे के प्रवक्ता ने बताया था- ट्रेन के काेच बी-5 में सीट नंबर 64 काे उज्जैन के राजा महाकाल के लिए आरक्षित रखा गया
  • ट्रेन वाराणसी से इंदौर के बीच सप्ताह में दो दिन चलेगी,  इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने रविवार काे हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था

दैनिक भास्कर

Feb 17, 2020, 04:29 PM IST

नई दिल्ली.  उत्तर प्रदेश के काशी और मध्य प्रदेश के उज्जैन, ओंकारेश्वर ज्याेतिर्लिंग तीर्थस्थलाें काे जाेड़ने वाली आईआरसीटीसी की निजी ट्रेन काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट आरक्षित रखी गई है। इसका आईआरसीटीसी ने खंडन किया है। उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने पहले बताया था कि ट्रेन के काेच बी5 में सीट नंबर 64 काे भगवान भाेले बाबा के लिए आरक्षित रखा गया है। दावा किया गया था लोगाें काे जानकारी रहे, इसके लिए सीट पर मंदिर बनाया गया है।

ऐसा पहली बार था, जब किसी भगवान के लिए सीट आरक्षित रखने का दावा किया गया था। ट्रेन में भक्ति संगीत, हर कोच में दो निजी गार्ड और केवल शाकाहारी भोजन मिलेगा। इस ट्रेन काे प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने रविवार काे वाराणसी में वीडियाे लिंक के जरिए हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। यह ट्रेन 20 फरवरी से शुरू होगी।

सीट उज्जैन के महाकाल के लिए आरक्षित

  • ट्रेन में 9 एसी थ्री कोच, पैंट्री कार, दो ब्रेकवॉन कोच होंगे। यह देश की तीसरी निजी ट्रेन होगी, लेकिन इसमें क्रू मेंबर लड़कियां नही होगीं। हर बोगी में कॉफी और चाय की वेंडिंग मशीन होगी, जिसके लिए पैसे नहीं चुकाने होंगे।
  • इस ट्रेन के हर कोच में 5 सुरक्षाकर्मी तैनात होंगे, कुल 1080 सीटें होंगी। न्यूनतम किराया 1629 रु. होगा। ट्रेन हफ्ते में दो दिन मंगलवार और गुरुवार को वाराणसी से चलेगी।
  • यह लखनऊ, कानपुर, बीना, भाेपाल, उज्जैन होते हुए इंदौर तक पहुंचेगी। इंदौर से बुधवार और शुक्रवार को उज्जैन, संत हिरदाराम नगर (भोपाल), बीना, कानपुर और लखनऊ होकर वाराणसी जाएगी। वाराणसी-इंदौर वाया इलाहाबाद-कानपुर-बीना (82403) ट्रेन रविवार को चलेगी। सोमवार को इंदौर पहुंचेगी।
  • आईआरसीटीसी ने इसके लिए बुकिंग शुरू कर दी है। ट्रेन में डायनाॅमिक फेयर रहेगा। यानी 70 फीसदी सीटें पैक होने के बाद प्रति सीट का किराया 10 फीसदी बढ़ेगा। 90% से ज्यादा सीटें पैक होने के बाद किराया 20% बढ़ेगा। हर यात्री का 10 लाख रुपए तक का बीमा भी रहेगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना