दिल्ली / गठबंधन या ब्लेमगेम : 4 बनाम 18 पर अटका आप-कांग्रेस का समीकरण



AAP-Congress alliance on 4 vs 18!
X
AAP-Congress alliance on 4 vs 18!

  • आप 9-6-3 के फॉर्मूले पर गठबंधन चाहती है
  • कांग्रेस सिर्फ दिल्ली में गठबंधन के लिए अड़ी

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 04:05 AM IST

नई दिल्ली. राहुल गांधी के सोमवार को गठबंधन पर ट्वीट के बाद दिल्ली में आप और कांग्रेस के बीच सियासी हलचल फिर तेज हो गई हैं। दोनों ही पार्टियों अपनी-अपनी शर्तों पर गठबंधन पर बातचीत के लिए तैयार है। मंगलवार सुबह पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मनीष सिसोदिया, संजय सिंह और गोपाल राय के साथ बैठक की। 2 घंटे की बैठक के बाद तीन बयान आए।

 

पहला, मनीष सिसोदिया का ट्वीट- आप ने कांग्रेस से बात करने के लिए संजय सिंह को अधिकृत किया है। राहुल जी भी कांग्रेस की तरफ से एक ऐसे व्यक्ति को अधिकृत करें। दूसरा, संजय सिंह का बयान- बातचीत हो सकती है। इसमें कोई रोक नहीं है। राहुल गांधी को समझना चाहिए कि गठबंधन की बातें ट्विटर पर नहीं होती है। तीसरा, आप के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने कहा- कांग्रेस बड़ी पार्टी का अहंकार छोड़कर विचार करें। जल्दी निर्णय लें । जो सभी के लिए बेहतर होगा। 

 

पीसी चाको ने कहा- आप को ब्लेमगेम बंद करके जल्दी गठबंधन करना चाहिए
कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने कहा है कि आप नेता संजय सिंह या मनीष सिसोदिया के कहने से कौन विश्वास करेगा कि हम भाजपा को फायदा पहुंचाना चाहते हैं। सिर्फ कांग्रेस ही है जो भाजपा से लड़ रही है। हम अभी भी गठबंधन को तैयार हैं,अभी देरी नहीं हुई है। जेजेपी ने कांग्रेस से गठबंधन को मना कर दिया है तो अब आरोप-प्रत्यारोप से कुछ नहीं मिलेगा। ब्लेमगेम छोड़कर जल्दी गठबंधन करना चाहिए। हम अभी भी आम आदमी पार्टी के जवाब का इंतजार कर रहे हैं। सातो सीट पर मिलकर लड़ना चाहिए।कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा है कि राहुल गांधी ने ट्वीट पर ये साफ कर दिया है कि दिल्ली में आप को 4 सीट और कांग्रेस के 3 सीट पर गठबंधन के अलावा किसी अन्य राज्य पर कोई बात नहीं होगी। 

 

आप का फार्मूला

दिल्ली- कुल 7 सीटें

आप 5+कांग्रेस 2= 7


हरियाणा- कुल 10 सीटेंआप

1+कांग्रेस 6+जेजेपी 3= 10

 

चंडीगढ़ सीट पर आप कांग्रेस का समर्थन करेगी 

 

यह है 18 सीटों का गणित 
आम आदमी पार्टी दिल्ली के साथ हरियाणा, चंडीगढ़ की 18 सीटों पर समझौता करना चाहती है। पार्टी सूत्र के अनुसार आप 9-6-3 के फॉर्मूले पर कांग्रेस से बातचीत करना चाहती है। इसमें तीनों राज्यों की 18 सीटों में 9 सीट कांग्रेस को, 6 आप और 3 सीट जेजेपी के लिए मांग रही है। वहीं, कांग्रेस सिर्फ दिल्ली की 7 सीटों में 4 और 3 के फार्मूले पर ही गठबंधन चाहती हैं। 

 

सवाल- कांग्रेस का मानना है कि शर्त लगाकर आप अपना दायरा बढ़ाने के लिए गठबंधन करना चाहती है?

गाेपाल राय का जवाब- यदि आप का अस्तित्व बढ़ता है तो इससे कांग्रेस को क्या परेशानी। कांग्रेस भाजपा को क्यों फायदा पहुंचाना चाहती है। हम अपनी बात रखना चाहते है और कांग्रेस के 11 सीटों पर जीतने के फॉर्मूले को समझना भी चाहते हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना