लोकसभा चुनाव  / आप ने कहा- केंद्र की मदद कर रहा है इलेक्शन कमीशन, रिटर्निंग ऑफिसर बोलीं-गलत सूचना फैला रहे हैं

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 05:45 AM IST



AAP said Election commission helping Center government
X
AAP said Election commission helping Center government

  • काउंटिंग से 6 दिन पहले आरोप-प्रत्यारोप शुरू
  • साउथ दिल्ली सीट पर रिजल्ट से पहले घमासान

नई दिल्ली.  आप ने भाजपा के दबाव में काम कर केन्द्र की मदद करने का आरोप लगाया है। शुक्रवार को पार्टी कार्यालय पर आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने चुनाव अधिकारियों पर ही आरोप लगा दिया। उनका कहना है कि - 12 मई को दिल्ली में ईवीएम से चुनाव कराए गए। इसके बाद प्रोसीडिंग अधिकारी पोलिंग डायरी भरकर चुनाव आयोग के पास जमा कराया जाता है।

 

इसमें शिकायत, मॉक पोल की डिटेल, कितनी वोट डले, कितने महिला-पुरुष ने वोट डाला सहित अन्य जानकारी भरी जाती है। हमें जानकारी मिली है कि पोलिंग डायरी में गड़बड़ी कर उसे दोबारा भरा जा रहा है। मतदान के 3 दिन बाद 16 मई को दोबारा करीब 200-250 प्रोसीडिंग अधिकारियों को बुलाकर फ्रेश पोलिंग डायरी भरवाई गई। इसमें बदरपुर, अंबेडकर नगर के प्रोसीडिंग अधिकारियों को बुलाया गया है। इस मामले में चुनाव आयोग के अधिकारियों से बात कि तो उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं हो रहा है। मतलब साफ है कि यह सब गैरकानूनी तरीके से किया जा रहा है।

 

सौरभ भारद्वाज ने चुनाव आयोग मांग की है कि आयोग घटना पर जवाब दे। यह आरोप तब लगाया जा रहा है आप ने 20 से अधिक कार्यकर्ताओं की टीम जीजाबाई इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट फॉर वुमन स्थित स्ट्रांग रूम की निगरानी में तैनात किया है। महरौली, छतरपुर, अंबेडकर नगर, संगम विहार, कालकाजी,तुग़लक़ाबाद ,पालम, बदरपुर विस क्षेत्रों की वोट की गिनती होना है। दिल्ली में 23 मई को मतगणना होनी 
 

 

दस्तावेज फिर से क्यों बनाए जा रहे है, क्या ईवीएम को भी बदला जा रहा?

 

 

विश्वसनीय स्रोतों के माध्यम से पता चला है कि चुनाव आयोग ने साउथ दिल्ली संसदीय क्षेत्र के मतदान केंद्रों के पीठासीन अधिकारियों को ईवीएम संबंधित दस्तावेजों को फिर से बनाने और फिर से हस्ताक्षर करने के लिए बुलाया है। यह चौंकाने वाला है। क्या हो रहा है। दस्तावेज को फिर से क्यों बनाया जा रहा है? क्या ईवीएम को बदला जा रहा है?- राघव चड्‌ढा, आप के साउथ दिल्ली से प्रत्याशी 

 

 

गलत सूचना फैलाई जा रही-

 

 

इन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। सब बेबुनियाद हैं। राजनीति पार्टी के पोलिंग एजेंट के पास सभी कॉपी होती है। इसमें कोई बड़ा बदलाव नहीं किया जा सकता। जल्दबाजी में कोई त्रुटि होने पर उसको सुधारा गया है।  तीन लेयर की सुरक्षा है। बाहरी लेयर में पुलिस, बीच में आर्मड पुलिस और सबसे अंदर सीएपीएफ। वहां राजनीतिक दल के प्रतिनिधि बैठ सकते हैं। सिर्फ आप के प्रतिनिधि लगातार बैठे हैं, बाकी का भी स्वागत है। वोट से जुड़ी हर चीज  स्ट्रांग रूम में है। वोट गिनती वाले 17सी पोलिंग एजेंट को दिए जा चुके हैं तो अब किसी भी सूरत में गड़बड़ी नहीं हो सकती। किसी अधिकारी को चुनाव आयोग ने नहीं बुलाया है, गलत सूचना फैलाई जा रही है।- निधि श्रीवास्तव, रिटर्निंग ऑफिसर, साउथ दिल्ली 

 

 

इन्हें मालूम है कि ये तीसरे नंबर पर हैं, इनका खुद का सर्वे ही ऐसा कह रहा है

 

 

आप के मुखिया सहित पार्टी पदाधिकारियों के डीएनए में नौटंकी करना है। इन्हें खुद भी मालूम है कि ये तीसरे नंबर पर आने वाले हैं। इन्ही कारणों से यह कांग्रेस के सामने गिड़गिड़ा रहे थे। दिल्ली की जनता भी जान चुकी है कि पिछले 4 सालों में इन्होंने दिल्ली के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया। - रमेश बिधूड़ी - साउथ दिल्ली से बीजेपी प्रत्याशी

 

COMMENT