आरुषि-हेमराज मर्डर / आज भी कातिल का रहस्य बरकरार, सुप्रीम कोर्ट में चल रहे मामले को 11 साल पूरे

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 02:30 AM IST



Aarushi-Hemraj murder still mystery
X
Aarushi-Hemraj murder still mystery

  • नोेएडा के सेक्टर-25 जलवायु विहार में 15 मई 2008 की रात हुई थी दो हत्याएं
  • इस केस में आरुषि के माता-पिता को सजा हुई थी, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बरी कर दिया

नोएडा. देश के चर्चित आरुषि-हेमराज मर्डर केस को अब 11 साल पूरे हो गए मगर आज भी कातिल का रहस्य बरकरार है। नोेएडा के सेक्टर-25 जलवायु विहार में 15 मई 2008 की देर रात में हुए डबल मर्डर की गुत्थी अभी भी नहीं सुलझ पाई है।

 

हालांकि, इस केस में पहले आरुषि के माता-पिता डॉ. राजेश तलवार और डॉ. नूपुर तलवार को आरोपी बताकर नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद सीबीआई की पहली टीम ने जांच करते हुए तीन नौकरों को आरोपी बताया था। जिसके बाद डॉ. राजेश तलवार को जमानत मिल गई थी। 


हालांकि, इसके बाद सीबीआई की दूसरी टीम ने तलवार दंपती को ही आरोपी बताया था। दोनों को आजीवन कारावास की सजा हो गई थी, मगर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 12 अक्टूबर 2017 को साक्ष्यों के अभाव में दोनों को बरी कर दिया था। इस मामले में मार्च 2018 में हेमराज की पत्नी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस भेज आरुषि के माता-पिता से जवाब मांगा था। इसके अलावा हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सीबीआई की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त 2018 में स्वीकार कर लिया था। अभी मामला सुप्रीम कोर्ट में है।
 

आज दिल्ली के हौजखास में लगेगा ब्लड डोनेशन कैंप
आरुषि के माता-पिता हर साल 16 मई को बेटी की याद में ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन करते हैं। इससे पहले कई साल तक प्रार्थना सभा आयोजित करते रहे हैं। गुरुवार को दिल्ली के हौजखास में डॉ. राजेश के भाई की क्लीनिक पर ब्लड डोनेशन कैंप लगाया जाएगा। इसके अलावा 24 मई को आरुषि के जन्मदिन पर गुरुद्वारे में प्रार्थना सभा का आयोजन किया जाएगा।

COMMENT