दिल्ली / भाजपा-शिवसेना के विवाद पर भागवत बोले- स्वार्थ बुरी बात, दाेनाें काे नुकसान



Bhagwat said on BJP-Shiv Sena dispute- selfishness is bad, loss of both
X
Bhagwat said on BJP-Shiv Sena dispute- selfishness is bad, loss of both

Dainik Bhaskar

Nov 20, 2019, 03:33 AM IST

नागपुर/मुंबई/नई दिल्ली . महाराष्ट्र में अाने वाले कुछ दिनाें में नई सरकार बनने की संभावनाएं बनती नहीं दिख रही हैं। शिवसेना के साथ गठबंधन पर चर्चा के लिए एनसीपी अाैर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताअाें के बीच मंगलवार काे हाेने वाली बैठक टल गई। एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि कांग्रेस नेता इंदिरा गांधी जयंती के कार्यक्रमाें में व्यस्त थे। अब यह बैठक बुधवार काे हाेगी। वहीं, शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने अब सरकार बनने का समय दिसंबर तक बढ़ा दिया है। उन्हाेंने कहा कि दिसंबर के शुरू में शिवसेना के नेतृत्व में गठबंधन सरकार बनेगी। इसी बीच, मुख्यमंत्री पद काे लेकर भाजपा-शिवसेना के गीच हुए झगड़े पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख माेहन भागवत ने इशाराें-इशाराें में स्वार्थ छाेड़ने की नसीहत दी है। 

 

भागवत ने मंगलवार सुबह एक कार्यक्रम में कहा, “सभी जानते हैं कि किसी बात पर झगड़ा जारी रहने से दाेनाें पक्षाें का नुकसान हाेता है। सब जानते हैं कि स्वार्थ बुरी बात है लेकिन बहुत कम लाेग हैं, जाे स्वार्थ छाेड़ पाते हैं।’ उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में भाजपा अाैर शिवसेना ने मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ा था। लेकिन शिवसेना ढाई साल के लिए अपने मुख्यमंत्री की मांग पर अड़ गई। इसके चलते भाजपा ने सरकार बनाने से इनकार कर दिया अाैर शिवसेना अब एनसीपी अाैर कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की काेशिशाें में जुटी है। तीनाें दलाें का गठबंधन तय माना जा रहा था लेकिन साेमवार काे कांग्रेस अध्यक्ष साेनिया गांधी से मुलाकात के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि सरकार के गठन पर उनके बीच बात नहीं हुई। इसके बाद से तीनाें दलाें के गठबंधन की संभावनाअाें काे लेकर अटकलें शुरू हाे गई थीं।


पवार का कहा समझने को 100 बार जन्म लेना होगा: संजय राउत
शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने कहा कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार की कही बात समझने के लिए 100 बार जन्म लेना होगा। शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी की सरकार बनाने पर पवार के लगभग यू-टर्न से जुड़े सवाल पर राउत ने यह प्रतिक्रिया दी। राउत ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री माेदी द्वारा पवार की तारीफ में कुछ गलत नहीं है। इसी बीच, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने 22 नवंबर काे पार्टी के सभी विधायकाें की बैठक बुलाई है।


एनडीए से हटाने पर नाराज शिवसेना ने भाजपा की तुलना माेहम्मद गाैरी से की 
एनडीए से हटाने पर नाराज शिवसेना ने भाजपा की तुलना 13वीं सदी के हमलावर मोहम्मद गौरी से की है। शिवसेना ने मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा कि वह भाजपा को उखाड़ फेंकेगी, जिसने उसे चुनौती देने का साहस किया है। संपादकीय में लिखा है, ‘मोहम्मद गौरी ने भारत में इस्लामी शासन की नींव रखी और हिंदू शासक पृथ्वीराज चौहान से कई युद्ध लड़े। हार के बाद हमेशा चौहान ने उसे बख्श दिया लेकिन जब गौरी ने युद्ध जीता तो पृथ्वीराज चौहान को मार डाला।’ भाजपा का नाम लिए बिना कहा गया, ‘महाराष्ट्र में भी शिवसेना ऐसे कृतघ्न लोगों को कई बार माफ कर चुकी है, लेकिन अब वे हमारी पीठ में छुरा घोंपना चाहते हैं।’ शिवसेना ने खुद काे संसद के दोनों सदनों में विपक्ष की ओर सीटें देने पर भी नाराजगी जताई है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना