--Advertisement--

कार्रवाई / सीएम केजरीवाल, सांसद मनोज तिवारी और आप विधायक अमानतुल्ला पर केस



Case against CM Kejriwal, MP Manoj Tiwari and MLA Amanatullah
X
Case against CM Kejriwal, MP Manoj Tiwari and MLA Amanatullah

  • सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन समारोह के दौरान विवाद के मामले में 3 एफआईआर
  • अमानतुल्ला पर मारपीट करने व जान से मारने की धमकी देने की लगी धाराएं

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 03:09 AM IST

नई दिल्ली. सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन समारोह में हुए राजनीतिक बवाल ने आपराधिक मोड़ ले लिया है। 4 नवंबर की घटना के मद्देनजर मिली शिकायतों पर न्यू उस्मानपुर थाने में तीन केस दर्ज किए गए थे। उनमें आप विधायक अमानतुल्ला के साथ ही सीएम अरविंद केजरीवाल और भाजपा सांसद मनोज तिवारी को भी आरोपी बनाया गया है। तीनों ही केस की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है।

 

एफआईआर

 

रविवार को सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के अवसर पर सांसद तिवारी की आप कार्यकर्ताओं से झड़प हो गई थी। आप विधायक अमानतुल्ला ने तिवारी को धक्का दे दिया था। हंगामा बढ़ने और हिंसा की आंशका को देख पुलिस ने सांसद को रोकने की कोशिश की। इस कारण उनकी पुलिस के साथ भी गर्मागर्मी हो गई थी। घटना को लेकर भाजपा कार्यकर्ता बीएन झा की ओर से दी शिकायत में अमानतुल्ला को आरोपी बनाया गया। दूसरी शिकायत में तिवारी ने केजरीवाल को घटना के लिए जिम्मेदार ठहराया। तीसरी शिकायत आप कार्यकर्ता तौकीर के बयान पर तिवारी के खिलाफ दर्ज की गई। केजरीवाल पर आप विधायकों को उकसाने का आरोप लगा है।

 

अमानतुल्ला खान के खिलाफ 6 धाराएं लगाईं : पुलिस के एक अधिकारी ने बताया ओखला विधानसभा क्षेत्र के विधायक अमानतुल्ला खान के खिलाफ आईपीसी की छह धाराएं लगाई गई हैं। जिनमें 323 (मारपीट करना), 506 (जान से मारने की धमकी देना), 341 (रास्ता रोकना), 120बी (आपराधिक षड़यंत्र रचना), 308 (चोट पहुंचाना) व 34 (कॉमन इंटेंशन) शामिल हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हंगामे के पीछे का साजिशकर्ता बताया गया है, जिनके उकसाने पर ही विधायक ने सांसद से गालीगलाैच की और उन्हें धक्का दिया।

 

मनोज तिवारी के खिलाफ 3 धाराओं में केस दर्ज: क्राइम ब्रांच के पुलिस अधिकारी ने कहा उस दिन हुई घटना को लेकर सांसद तिवारी की ओर से एक वीडियो भी मुहैया करवाया गया है। उसमें साफ नजर आ है कि सांसद एक जगह खड़े हैं, तभी मंच पर खड़े अमानतुल्ला उन्हें पीछे की ओर धक्का देते हैं। वहीं, आप कार्यकर्ता की तरफ से मिली शिकायत पर तिवारी के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 506 व 34 लगी हैं। अभी क्राइम ब्रांच की टीम उस दिन हुई घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग खंगाल रही पुलिस आरोपियों को नोटिस देकर जांच में शामिल होने के लिए बुला सकती है।

 

भाजपा ने सोची-समझी साजिश के तहत किया था सीएम पर हमला: आप की पूर्वी दिल्ली से लोकसभा प्रभारी आतिशी और साउथ दिल्ली से लोकसभा प्रभारी राघव चड्‌ढा ने शनिवार को इस मामले में भाजपा को घेरा। दोनों ने कहा कि भाजपा पर सोची-समझी साजिश के तहत सीएम पर हमला करने की योजना बनाई थी। उन्होंने पीएम मोदी और एलजी को लेकर कहा सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में सीएम केजरीवाल पर बोतलें फेंकी गईं। लेकिन केजरीवाल के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज कर ली गई। जिसने हमला किया उसे छोड़ दिया।  

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..