बजट सत्र / जेएनयू राजद्राेह मामले में हंगामा कर रहे भाजपा विधायकों को मार्शल ने बाहर किया

X

  • एलजी के अभिभाषण से पहले ही जोरदार हंगामा 
  • विधानसभा अध्यक्ष के पास आकर शोर मचाने पर विपक्षी नेताओं को सदन से बाहर किया गया
  • विजेंद्र गुप्ता बोले- एलजी के सामने सीएम से जवाब चाहते थे लेकिन मार्शल से निकलवा दिया

Feb 23, 2019, 12:48 AM IST

नई दिल्ली. बजट सत्र के पहले दिन शुक्रवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल के अभिभाषण में बाधा डालने पर भाजपा विधायकों को सदन से बाहर कर दिया गया। भाजपा विधायक जेएनयू राजद्राेह मामले में पुलिस को आरोप-पत्र दाखिल करने में अनुमति देने में दिल्ली सरकार की ओर से की जा रही देरी के विरोध में हंगामा कर रहे थे।

 

विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने आसंदी के पास आकर शोर मचा रहे भाजपा विधायक विजेंद्र गुप्ता, ओपी शर्मा और जगदीश प्रधान को सदन से बाहर करने का मार्शल को आदेश दिया। विजेंद्र गुप्ता ने सरकार पर जेएनयू मामले में पुलिस को आरोप-पत्र दाखिल करने की अनुमति देने में जानबूझकर देरी करने का आरोप लगाया। बाद में गुप्ता ने ट्वीट किया कि हम चाहते थे कि मुख्यमंत्री बयान दें, लेकिन हमें जबरन सदन से बाहर कर दिया गया। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि भाजपा विधायकों को उपराज्यपाल का सम्मान करना चाहिए। 

 

पूर्ण राज्य और सर्विस नहीं मिलने पर हंगामा तय :
बजट सत्र में दूसरे दिन मनीष सिसोदिया 2018-19 का आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश करेंगे और उपराज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद दिया जाएगा। लेकिन इसी बीच दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं दिए जाने और अधिकारियों पर चुनी सरकार के अधिकार नहीं मिलने को लेकर हंगामा हो सकता है।

 

36 मिनट के अभिभाषण में एलजी अनिल बैजल ने 61 प्वाइंट गिनाए :

एलजी अनिल बैजल ने वर्तमान सरकार के चौथे अभिभाषण में 61 प्वाइंट पर 36 मिनट में सरकार की उपलब्धियां और सरकार के काम पर बात रखी। इसमें सरकार की उपलब्धियां गिनाने में शिक्षा, स्वास्थ्य, पब्लिक ट्रांसपोर्ट में क्या काम चल रहे हैं, उसकी जानकारी दी। विपक्ष उस दौरान नहीं था और सत्तापक्ष के विधायक मेज थमथपा रहे थे। उपराज्यपाल ने दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय चालू वित्त वर्ष में 3.65 लाख रुपए रहने का अनुमान बताया जो पिछले साल 3.28 लाख रुपए रही है। भास्कर ने वर्तमान सरकार में 24 फरवरी, 2015 से 22 फरवरी, 2019 तक के 5 अभिभाषण से सरकार के काम और विजन को तलाशने की कोशिश की।

 

पुरानी योजनाएं दोहराई, पानी माफ-बिजली हाफ, बस खरीदेंगे, मेट्रो फेज-4  :

भास्कर ने वर्तमान सरकार में 24 फरवरी, 2015 से 22 फरवरी, 2019 तक के चार अभिभाषण से सरकार के काम और विजन को तलाशने की कोशिश की। सामने आया कि हर बार फोकस स्कूल भवन निर्माण, बिजली हाफ और पानी माफ का जिक्र किए जाने के अलावा मोहल्ला क्लीनिक और अस्पतालों में बिस्तर बढ़ाने, सड़क पर बस बढ़ाने का जिक्र, सराय काले खां से मयूर विहार तक एलिवेटेड रोड, मेट्रो फेज-चार का जिक्र जरूर किया है। अभिभाषण में ‘सिग्नेचर ब्रिज’ का भी जिक्र किया गया। बैजल ने कहा कि 2018-19 में राज्य का सकल घरेलू उत्पाद 12.98 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 7,79,652 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना