निर्भया केस / दाेषी मुकेश ने कहा- राष्ट्रपति ने दया याचिका पर जल्दबाजी में निर्णय लिया

मुकेश- फाइल फोटो मुकेश- फाइल फोटो
X
मुकेश- फाइल फोटोमुकेश- फाइल फोटो

  • दया याचिका खारिज करने के राष्ट्रपति के फैसले काे सप्रीम काेर्ट में चुनाैती
  • राष्ट्रपति के पास 100 से अधिक याचिकाएं लंबित, तो मेरी याचिका का ही जल्द क्याें निपटारा किया
     

दैनिक भास्कर

Jan 26, 2020, 04:45 AM IST

नई दिल्ली . निर्भया के गुनहगार मुकेश कुमार सिंह ने फांसी की सजा काे टलवाने के लिए एक अाैर कानूनी पैंतरा चला है। मुकेश ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। इसमें दया याचिका खारिज करने के राष्ट्रपति के फैसले काे चुनाैती दी गई अाैर उसकी न्यायिक समीक्षा का अनुराेध किया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ काेविंद ने 17 जनवरी काे मुकेश की याचिका खारिज कर दी थी। याचिका में 1 फरवरी को उसकी फांसी की सजा पर रोक लगाने की भी मांग की गई है। याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 27 जनवरी को सुनवाई कर सकता है।


याचिका में कहा है कि राष्ट्रपति ने उसकी दया याचिका पर निर्णय बहुत जल्दबाजी में लिया है। राष्ट्रपति के पास 100 से ज्यादा दया याचिकाएं लंबित हैं। उनका अभी तक राष्ट्रपति ने निपटारा तक नहीं किया है, जबकि उसकी दया याचिका का दायर करने के कुछ दिन में आनन-फानन में निपटारा कर दिया गया। मुकेश ने दलील दी है कि उसने दया याचिका में कई महत्वपूर्ण तथ्य बताए थे। इन पर विचार नहीं किया गया। इसमें फांसी न देकर उसे सुधरने का एक माैका दिए जाने का अनुराेध किया था, लेकिन उन तथ्यों पर विचार ही नहीं किया गया। इसलिए राष्ट्रपति को उनकी याचिका पर दोबारा से विचार करना चाहिए। मुकेश को तिहाड़ जेल की काल कोठरी से निकालने के आदेश देने का भी अनुराेध किया गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना