दिल्ली / जामिया मामले में अब तक आए 4 वीडियो, असली-नकली की जांच करेगी एसआईटी

वायरल हुए जामिया में हिंसा वीडियो। वायरल हुए जामिया में हिंसा वीडियो।
X
वायरल हुए जामिया में हिंसा वीडियो।वायरल हुए जामिया में हिंसा वीडियो।

  • आलोचना- कई राजनीतिक दल और कुछ छात्र पुलिस और सुरक्षा जवानों की आलोचना कर रहे हैं
  • दिल्ली पुलिस की ओर से दावा किया गया है लाइब्रेरी में वो लोग घुस गए थे, जिन्होंने वहां हिंसा की थी

दैनिक भास्कर

Feb 18, 2020, 08:25 AM IST

नई दिल्ली. जामिया में हुई हिंसा का मामला सुलझने के बजाए उलझता दिख रहा है। कौन सही और कौन गलत इसे लेकर पूरा मामला गर्माया हुआ है। एक के बाद एक हिंसा से जुड़े नए वीडियो लगातार सामने आ रहे हैं। जहां एक तरफ छात्र और राजनीतिक दल के नेता लाइब्रेरी में घुसकर सुरक्षा बलों द्वारा छात्रों को पीटे जाने की कार्रवाई पर निंदा कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर पुलिस ने भी खुद की आलोचना होते देख दो वीडियो फुटेज चुपचाप मीडिया में लीक कर दिए। जिनके सामने आने पर कुछ हद तक क्लीयर हुआ कि छात्रों की भूमिका भी संदिग्ध है।

जांच के लिए एसआईटी गठित की

बहरहाल, अप्रत्यक्ष रूप से आरोप-प्रत्यारोप के बीच क्राइम ब्रांच ने पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है। वीडियो दो महीने बाद रविवार को जामिया काॅर्डिनेशन कमेटी ने जारी किया था। सभी वीडियो को एसआईटी जोड़कर जांच कर रही है। उधर, पुलिस सूत्रों की ओर से दावा किया गया है एक वीडियो में जो छात्र पत्थर हाथ में लिया नजर आया है, यह वही लड़का है जो पिछले दिनों में जामिया नगर इलाके में एक नाबालिग द्वारा सरेआम की गई फायरिंग की घटना में जख्मी हो गया था। जामिया में 15 दिसंबर को पुलिस द्वारा बिना इजाजत घुसने को लेकर शुरू से ही विवाद हो रहा था। उस दिन छात्रों की ओर से आरोप लगाए गए थे पुलिस कर्मियों ने उन्हें लाइब्रेरी में घुसकर बुरी तरह मारा पीटा। तब पुलिस की ओर से दावा किया गया था पुलिस अंदर दाखिल तो जरूर हुई लेकिन वह उन लोगों को पकड़ने गई थी जो हिंसक घटना में शामिल थे। 

वीडियो-1

इस वीडियो में दिखाया गया कैसे सुरक्षा बल के जवान लाइब्रेरी में जाते हैं और वहां बैठे छात्रों पर डंडे बरसाने शुरू कर देते हैं। सुरक्षाकर्मी उन्हें बाहर निकालने का प्रयास करते दिखते हैं। इस वीडियो में कुछेक छात्र मुंह पर रूमाल बांधे रखते हैं और उनकी बेचैनी को आसानी से देखा सकता है। इस वीडियो में सुरक्षा कर्मियों को विलेन के तौर पर दिखाने की कोशिश की गई। जवानों के एक्शन पर सवाल खड़े किए गए। 

वीडियो- 2 

दूसरे वीडियो में लाइब्रेरी में सुरक्षा कर्मियाें के एक्शन से पहले का हाल दिखाया गया। इस वीडियो में दिखाया गया कि कुछ लोगों को लाइब्रेरी में एंट्री करायी जाती है। वे भाग कर अंदर की ओर आते हैं, कइयों ने अपने चेहरे को रूमाल से कवर कर रखा था। वे डरे से नजर आते हैं। जवान अंदर ना आ जाएं इसलिए उन्हें बाहर ही रोकने के लिए दरवाजे के आगे मेज लगा देते हैं। 

वीडियो-3

इसके बाद तीसरे वीडियो में जामिया के कॉरिडोर में हलचल नजर आती है। छात्र इधर उधर भागने का प्रयास करते हैं। वे कॉरिडोर की बालकनी से नीचे झांकते दिखते हैं। उन्हें पकड़े जाने का डर रहता है, जिस कारण इधर-उधर भागते हैं। इनमंें कुछ ने अपने चेहरे को कवर कर रखा था तो कुछ ने हाथ में पत्थर उठा रखे थे। इस पूरे वीडियो में वे सीढ़ी को ओर देखकर भागते नजर आते हैं। 

वीडियो-4 

वहीं सोमवार को एक बार फिर नया वीडियो सामने आ गया। इस वीडियो में नजर आता है कि सुरक्षाकर्मी कैसे उस लाइब्रेरी में जबरन घुसते हैं। मेज को हटाया जाता है। जिसके बाद पहले सुरक्षाकर्मी लड़कियाें को बाहर की अोर जाने को कहते हैं और फिर लड़कों पर डंडे बरसाने शुरू कर देते हैं। उन्हें बुरी तरह मारा जाता है। जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी की आेर से दावा किया गया है यह उनकी ओर से जारी नहीं किया है

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना