दिल्ली / इलाहाबाद हाईकाेर्ट का आदेश- चीफ जस्टिस को जन्माष्टमी पर शुभकामना संदेश न भेजें, उन्हें परेशानी होती है

Do not send Chief Justice a happy message on Janmashtami, they are in trouble
X
Do not send Chief Justice a happy message on Janmashtami, they are in trouble

दैनिक भास्कर

Aug 25, 2019, 05:18 AM IST

पवन कुमार | नई दिल्ली. जन्माष्टमी पर माेबाइल पर अाने वाले व्हाट्सएप मैसेज से परेशान इलाहाबाद हाईकाेर्ट के चीफ जस्टिस गोविंद माथुर ने उत्तरप्रदेश में सभी जिला जजों को एक अजब फरमान जारी किया है। एक सर्कुलर जारी कर कहा गया है कि काेई भी चीफ जस्टिस काे जन्माष्टमी की बधाई अाैर शुभकामना संदेश न भेजे। इससे काम में व्यवधान पड़ता है और वह परेशान हो रहे हैं। यह सर्कुलर मोस्ट अर्जेंट कैटेगरी का है।

 

यानी तुरंत अमल करने वाला। रजिस्ट्रार जनरल मयंक कुमार जैन ने शुक्रवार को चीफ जस्टिस की ओर से जारी सर्कुलर में कहा है कि कुछ जिला जज चीफ जस्टिस के मोबाइल पर जन्माष्टमी के मैसेज भेज रहे हैं। इनसे चीफ जस्टिस को परेशानी हो रही है। उन्हाेंने आदेश दिया है कि उनके मोबाइल पर जन्माष्टमी या भविष्य में किसी अन्य माैके पर एसएमएस, व्हाट्सएप मैसेज, बधाई संदेश न भेजें। सर्कुलर में कहा गया है कि जिला जज सिर्फ आपात स्थिति में ही मैसेज भेज सकते हैं। यह आदेश उत्तरप्रदेश के हर जिला कोर्ट में कार्यरत हर न्यायिक अधिकारी पर लागू होगा। इसका उल्लंघन करने वालाें पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना