--Advertisement--

खुलासा / बच्ची की हत्या में गे-पार्टनर मामा-भांजे निकले आरोपी, दुष्कर्म के बाद की थी हत्या



symbolic image symbolic image
X
symbolic imagesymbolic image
  • शोर न मचाए बच्ची इसलिए मुंह कपड़े से बंद करते थे
  • हत्या के बाद रात तक कमरे में ही छुपाकर रखा था

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2018, 06:50 AM IST

गाजियाबाद. मुरादनगर में 7 साल की बच्ची की हत्या के बाद मस्जिद की छत पर शव को छुपाने की घटना का गाजियाबाद पुलिस ने 72 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया। पुलिस ने बुधवार को दो आरोपियों मामा-भांजे को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी बच्ची के दूर के रिश्तेदार हैं और आपस में दोनों के समलैंगिक संबंध हैं।

 

घटना वाले दिन बच्ची को दोनों पास के घर में झांसा देकर ले गए थे। वहां उन्होंने  उसके साथ दुष्कर्म और अप्राकृतिक यौन संबंध भी बनाए। बच्ची के शोर मचाने पर आरोपियों ने पाजामे के नाड़े से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और फिर उसके शव को पास की मस्जिद की छत पर छुपा दिया था। घटना को लेकर कोई सर्विलांस से मदद नहीं मिलने और बच्ची के परिवार की तरफ से पुरानी रंजिश में सभासद पर आरोप लगाने को देखते हुए पुलिस ने घर-घर की तलाशी और लोगों से पूछताछ शुरू की। इस दौरान पुलिस ने 80 घर और 100 लोगों से पूछताछ की तब दोनों आरोपियों का सुराग मिला था।

 

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि पुलिस ने मुरादनगर के ही रहने वाले मुजीब (24) और उसके भांजे शीबू (19) को गिरफ्तार किया है। शीबू का परिवार कैला भट्टा में रहता है लेकिन वह अपने मामा के घर रहकर 12वीं की पढ़ाई कर रहा था। मुजीब बीफार्मा करने के बाद हिमाचल प्रदेश की एक एंटीबायोटिक्स कंपनी में जॉब कर रहा था। हालांकि, मुहर्रम की छुट्टी पर 22 सितंबर को मुजीब मुरादनगर आया और फिर कंपनी नहीं गया था। एसएसपी ने दावा किया कि मामा के घर रहकर पढ़ रहे शीबू और मुजीब के बीच डेढ़ साल से समलैंगिक रिश्ते हैं। शीबू छुट्टी में हिमाचल प्रदेश भी जाता था।

 

आरोपियों ने पुलिस को बताया था कि बच्ची के साथ दुष्कर्म करते समय दोनों बारी-बारी से उसका मुंह कपड़े से बंद कर देते थे ताकी वह शोर न मचाए। इसके बाद अपने पजामे के नाड़े से बच्ची की गला दबाकर हत्या कर दी थी। घर के लोगों को इसका पता न चले, इसलिए शव को बोरे में रखकर कमरे में बेड के नीचे छुपा दिया था। घटना वाली रात 4 बजे के बाद चुपके से दोनों मामा-भांजे पास के धार्मिक स्थल की छत पर गए और शव को छुपा दिया था। पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपी बच्ची के लापता होने के बाद उसकी तलाश में भी गांव में घूमते रहे थे।

 

6 अक्टूबर की दोपहर पौने 1 बजे बच्ची 4 वर्षीय भाई के साथ दुकान पर गई थी। बच्ची ने अपनेे भाई को फ्रूटी दिलाई और खुद चिप्स लिया था। इसके बाद उसका भाई घर चला गया था और बच्ची पड़ोस के घर के बाहर बैठकर चिप्स खाने लगी थी। उसी समय शीबू आया और खेलने के बहाने मामा के कमरे में ले गया था। घर पर कोई नहीं था इसलिए दोनों ने पोर्न वीडियो देखने के बाद बच्ची से दुष्कर्म किया और अप्राकृतिक दुष्कर्म भी किया था। 

--Advertisement--
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..