संसद / उपराष्ट्रपति नायडू ने देश में चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर चिंता जताई, सरकार ने कहा- पोर्नोग्राफी राेकने के तरीके खोज रहे

Government said- pornography is a serious threat, finding ways to prevent
X
Government said- pornography is a serious threat, finding ways to prevent

  • केंद्र सरकार ने पोर्नोग्राफी, खासकर चाइल्ड पोर्नोग्राफी काे देश के लिए गंभीर खतरा माना
  • सरकार ने लाेकसभा में बताया- इस पर लगाम लगाने के लिए सरकार और पुलिस काम कर रही

दैनिक भास्कर

Feb 06, 2020, 01:16 PM IST

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने पोर्नोग्राफी, खासकर चाइल्ड पोर्नोग्राफी काे देश के लिए गंभीर खतरा करार दिया है। सरकार ने बुधवार काे लाेकसभा में कहा कि इस पर लगाम लगाने के लिए सरकार और पुलिस मिलकर काम कर रही हैं। सूचना प्राैद्याेगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि देश में रिवेंज पाेर्न का भी चलन बढ़ा है। साेशल मीडिया प्लेटफाॅर्म्स के जरिए फेक न्यूज, पाेर्नाेग्राफी और देश विराेधी सामग्री फैलने से राेकने के लिए केंद्र सरकार, राज्य और पुलिस साथ मिलकर योजना पर काम कर रही है।

उधर, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने देश में चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर चिंता जताई। उन्हाेंने उम्मीद जताई कि राज्यसभा इस मामले में पेश की गई रिपोर्ट पर चर्चा करेगी। नायडू ने कहा, ‘मैं चाहता हूं कि संसद पोर्नोग्राफी से संबंधित रिपोर्ट पर जल्द से जल्द चर्चा करे।’ नायडू ने पिछले साल दिसंबर में चाइल्ड पाेर्नाेंग्राफी के खिलाफ कारगर कार्रवाई करने के लिए सुझाव देने के लिए तदर्थ समिति का गठन किया था।

सोशल मीडिया से जुड़े मुद्दों पर बहस जरूरी: बिड़ला

लाेकसभा में एक प्रश्न के जवाब में रविशंकर प्रसाद ने स्पष्ट किया कि साेशल मीडिया प्राेफाइल काे आधार से जाेड़ने का प्रस्ताव मंत्रालय के पास विचाराधीन नहीं है। इसी दाैरान स्पीकर ने कहा कि साेशल मीडिया से जुड़े मुद्दाें पर गंभीर बहस की जरूरत है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना