टेक्नोलॉजी नौकरियों में ग्रोथ एक साल में 6 गुना हुई, डेटा वेयरहाउसिंग, सॉफ्टवेयर डिजाइनिंग में मिल रही है सालाना 25 लाख तक की सैलरी

Delhi-ncr News - दुनियाभर में इन दिनों अर्थव्यवस्था से जुड़ी नकारात्मक खबरों में इजाफा हुआ है। हाल ही में खबर आई कि गाड़ियों की...

Aug 15, 2019, 02:25 PM IST
दुनियाभर में इन दिनों अर्थव्यवस्था से जुड़ी नकारात्मक खबरों में इजाफा हुआ है। हाल ही में खबर आई कि गाड़ियों की बिक्री घटने से ऑटो सेक्टर में बड़ी संख्या में लोगों को नौकरी गंवानी पड़ी। ऐसे माहौल में भारत में आईटी सेक्टर से एक बेहद सकारात्मक जानकारी सामने आई है।

इंटरनेशनल जॉब पोर्टल इनडीड की रिपोर्ट के मुताबिक फरवरी 2018 से लेकर फरवरी 2019 तक भारत में टेक्नोलॉजी से जुड़े जॉब 31% बढ़े हैं। फरवरी 2017 से लेकर फरवरी 2018 तक यह ग्रोथ सिर्फ 5% थी। यानी एक साल में टेक्नोलॉजी से जुड़ी नौकरियों में छह गुना से ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। ऐसा तब हुआ है जब भारतीय आईटी इंडस्ट्री को ग्लोबल मंदी का सामना करना पड़ा रहा है। स्थानीय टेक कंपनियां इसके बावजूद प्रोफेशनल्स को बड़ा सैलरी पैकेज ऑफर कर रही हैं। इनडीड के मुताबिक टेक्नोलॉजी से जुड़े जॉब सर्च करने में भी 8% की बढ़ोतरी हुई है। इसका कारण यह भी है कि पिछले कुछ सालों में इस सेक्टर में जॉब ग्रोथ अच्छी रही है। 2014 से लेकर 2019 तक भारत में टेक जॉब सालाना 8% की दर से बढ़ी है।

इनमें ऐसी जॉब ओपनिंग की संख्या ज्यादा है जिन्हें टेक कंपनियां ऑनलाइन लिस्ट करती हैं। ऐसी ओपनिंग इनडीड सहित कई जॉब पोर्टल पर लिस्ट की जाती हैं। इनडीड इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर शशी कुमार कहते हैं, ‘2017-18 की तुलना में टेक टैलेंट की डिमांड छह गुना बढ़ी है। हालांकि जॉब प्रोफाइल में लगातार बदलाव हो रहा है और अब अलग तरह की स्किल की डिमांड ज्यादा है।’ कई कंपनियां अपने स्टाफ को हायरिंग के बाद नई स्किल सिखाती है ताकि वे समय के साथ बदलती जरूरतों के हिसाब से खुद को ढाल सकें।

मौजूदा समय में डेटा वेयरहाउसिंग, टेक्निकल रोल, एनालिटिक्स और सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट टेक सेक्टर में करियर के बेहतर मौके प्रदान कर रहे हैं। वहीं, सिस्टम इन्फ्रास्ट्रक्चर, एप्लीकेशन डेवलपमेंट और जावा डेवलपमेंट जैसी स्किल की मांग घट रही है। इनडीड की वेबसाइट पर पिछले 36 महीनों में पोस्ट किए गए नौकरियों के विज्ञापन के आधार पर पता चलता है कि डेटा वेयरहाउसिंग के काम के लिए इन दिनों सबसे ज्यादा सैलरी दी जा रही है। डेटा वेयरहाउसिंग में औसत सालाना सैलरी 15 लाख रुपए है। यह 25 लाख रुपए सालाना तक भी जाती है।

बिजनेस का डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन होने से टेक सेक्टर में अवसर बढ़े

टेक्नोलॉजी से जुड़े जॉब में इजाफा आने के पीछे सबसे बड़ा कारण ज्यादातर बिजनेस का डिजिटल की ओर रुख करना है। अधिकांश बिजनेस हाउस डिजिलटाइजेशन, डेटा एनालिसिस, मशीन लर्निंग जैसे एरिया पर फोकस कर रहे हैं। इसलिए इन काम को करने वाले प्रोफेशनल्स की डिमांड बढ़ी है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना