बौखलाए इमरान अब पाकिस्तान की आजादी पीओके में मनाएंगे, भारत विरोधी रैली भी करेंगे

Delhi-ncr News - एजेंसी | इस्लामाबाद/ नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने से बौखलाया पाकिस्तान एक के बाद एक बेतुके कदम उठा...

Bhaskar News Network

Aug 14, 2019, 07:25 AM IST
New Delhi News - impatient imran will now celebrate pakistan39s independence in pok will also hold anti india rally
एजेंसी | इस्लामाबाद/ नई दिल्ली

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने से बौखलाया पाकिस्तान एक के बाद एक बेतुके कदम उठा रहा है। अब प्रधानमंत्री इमरान खान ने 14 अगस्त को पाकिस्तानी स्वतंत्रता दिवस को पीओके में मनाने का फैसला किया है। वह वहां पाकिस्तानी झंडा फहराएंगे। मुजफ्फराबाद में पीआेके विधानसभा को भी संबोधित करेंगे। इसके अलावा कश्मीर की अवाम के समर्थन में भारत विरोधी रैली भी करने वाले हैं।

वहीं, पाकिस्तान ने 15 अगस्त के दिन देश भर में काला दिवस मनाने का ऐलान भी किया है। कश्मीर एकजुटता दिवस के लिए एक लोगो भी जारी किया है, जिस पर ‘कश्मीर बनेगा पाकिस्तान’ नारा लिखा हुआ है। वहीं, पाक सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा भी पीओके पहुंचे हुए हैं। बाजवा ने कहा है कि हमने कश्मीर में स्थिति के समाधान के लिए कई प्रयास शुरू किए हैं। उनका देश कश्मीरी लोगों का समर्थन करेगा।

यूएन में पाक प्रतिनिधि मलीहा को युवक ने चोर कहा: यूएन में पाक की स्थाई प्रतिनिधि मलीहा लोधी को उनके ही देश के एक युवक ने चोर कहकर बुलाया। बोला- आपको पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने का हक नहीं है। आप यूएन में 15-20 साल से कर क्या रही हैं? हमारी नुमाइंदगी नहीं करतीं। हमारा पैसा चुराया है। लोधी न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम में पहुंची थीं।

नापाक हरकतें

पाक के मंत्री, सेना कश्मीर पर फेक न्यूज फैला रहे हैं

पाकिस्तान के मंत्री, सेना से जुड़े लोग कश्मीर को लेकर फेक ट्वीट कर रहे हैं। ताकि दुनिया में भारतीय सेना की छवि खराब हो। विज्ञान मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने ट्वीट किया है कि भारतीय सेना में पंजाबी सैनिकों को कश्मीर में जुल्म का हिस्सा बनने से इनकार कर देना चाहिए। पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक ने लिखा- भारतीय सेना कश्मीर में हेलीकॉप्टरों से हमला कर रही है।

कैप्टन का जवाब: भारतीय सेना एक राष्ट्रवादी फोर्स है

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने फवाद को फटकार लगाई। उन्हें टैग करते हुए कैप्टन ने ट्वीट किया कि भारत के आंतरिक मामले में दखल देना बंद कर दो। भारतीय सेना एक अनुशासित और राष्ट्रवादी फोर्स है, यह तुम्हारी पाकिस्तानी सेना नहीं है। तुम्हारा बयान काम नहीं करेगा।’ रहमान के ट्वीट का जवाब देते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा- तुम्हारा बयान झूठ है।

विकास: जम्मू-कश्मीर का पहला वैश्विक निवेशक सम्मेलन 12 अक्टूबर से शुरू हाेगा

फुल ड्रेस रिहर्सल के बाद पाबंदियों में छूट

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने उम्मीद जताई कि 15 अगस्त की फुल ड्रेस रिहर्सल के बाद पाबंदियाें में अाैर ढील दी जा सकती है। प्रधान सचिव राेहित कंसल ने कहा कि जम्मू से पाबंदियां पूरी तरह हट चुकी हैं। कश्मीर के कुछ हिस्साें में ढील दी जा रही है। घाटी में चरणबद्ध तरीके से पाबंदियां हटाई जाएंगी।


बयान: भारतीय राजदूत बोले- ट्रम्प ने कश्मीर पर मध्यस्थता का प्रस्ताव पेश ही नहीं किया

भारतीय सेना तैयार

पाकिस्तान ने एलओसी पर कोई हरकत की तो सबक सिखाएंगे: जनरल रावत

पाकिस्तान की धमकियों के बीच सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि अगर पड़ोसी देश नियंत्रण रेखा पर सक्रियता बढ़ाना चाहता है तो यह उसका फैसला है। हमें इससे चिंतित होने की जरूरत नहीं है। जहां तक सेना और एजेंसियों का सवाल है, हमें हर स्थिति के लिए हमेशा तैयार रहना होता है। भारतीय सेना अलर्ट पर है। यदि उन्होंने एलओसी पर कोई हरकत की तो उनको वाजिब जवाब मिलेगा। कश्मीरी लोगों के साथ हमारी बातचीत सामान्य है। पहले हम उनसे बिना बंदूक के मिलते थे, उम्मीद है कि आगे बिना बंदूक के मिलते रहेंगे।

जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन को लेकर चुनाव अायाेग में अनाैपचारिक चर्चा




पेज- 1 से जारी...

कश्मीर के सिर्फ ढाई जिले में अब आतंकवाद बचा है: मलिक


बुरहान वानी के मारे जाने के बाद हफ्तेभर में 50 लोगों की मौत हुई थी। लेकिन, 4 अगस्त से अभी तक एक भी नहीं। कुछ पत्थरबाजी की घटनाएं हुई हैं, पर किसी को भी गंभीर चोट नहीं आई है। 500 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें 150 नेता हैं। अन्य पत्थरबाज और आतंकियों के मददगार हैं।


कश्मीर के सिर्फ ढाई जिले में आतंकवाद रह गया है। हम यहां के युवाओं को आतंकवाद से दूर ले जाने का हर प्रयास कर रहे हैं। उनके लिए काम करके और मुहब्बत से उन्हें हम जीत लेंगे, ऐसी मुझे पूरी उम्मीद है।


दुर्भाग्य है कि 370 केवल झूठे आत्मगौरव की कहानी है। यहां नेता, अधिकारी तक अभी इसके बारे में नहीं जानते। मैं सेक्रेटरी और बाकी अधिकारियों से मिलकर उन्हें समझा रहा हूं। कह रहा हूं कि जिनसे वो मिलते हैं, उन्हें भी बताएं कि ये था क्या और इसके न होने से क्या होगा? हम टीवी, रेडियो और अखबार के जरिए लोगों को समझाने का प्रयास करेंगे।


ऐसी कोई स्थिति नहीं बनेगी। जो नेता जेलों में हैं वो भी जब बाहर आएंगे तो इन लोगों को अलगाववाद और आतंकवाद से दूर रहना सिखाएंगे। ये नेता बाहर आकर बदले हुए मिलेंगे। टूटने के बाद वे मुख्यधारा में आ जाएंगे।


यदि आप सच और सही काम दृढ़ता के साथ करें तो कुछ भी चुनौतीपूर्ण नहीं होता। मैं जिस लक्ष्य को लेकर दिल्ली से यहां भेजा गया था, मैं बस वही काम कर रहा हूं और प्रधानमंत्री हमारे काम से खुश हैं।


मैंने कभी राहुल गांधी को यहां आने का न्योता नहीं दिया। वो जो कह रहे थे, मैंने उन्हें यहां आकर मसले को समझने को कहा था, ताकि वह अनाप-शनाप न कहें। मैंने सुरक्षाबलों से हालात जांचने को कहा है, उसके बाद ही किसी को भी आने की इजाजत दी जा सकती है। मैंने उनकी कोई भी शर्त नहीं मानी है और न ही मानूंगा। वह लोकतंत्र की बात करते हैं, लेकिन उनकी दादी ने इमरजेंसी के वक्त हमें अपने बच्चों से भी नहीं मिलने दिया था।

X
New Delhi News - impatient imran will now celebrate pakistan39s independence in pok will also hold anti india rally
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना