दिल्ली / प्रॉपर्टी विवाद में मदद न करने पर रेप केस में फंसा करियर बर्बाद करने की धमकी दे रहा था इंस्पेक्टर



Inspector was threatening to ruin career implicated in rape case
X
Inspector was threatening to ruin career implicated in rape case

  •  डीसीपी आत्महत्या कांड में पुलिस का खुलासा

Dainik Bhaskar

Aug 18, 2019, 05:36 AM IST

फरीदाबाद . डीसीपी विक्रम कपूर आत्महत्या कांड में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। रिमांड पर पूछताछ के दौरान निलंबित आरोपी इंस्पेक्टर अब्दुल शहीद ने कबूल किया है कि वह अपनी महिला मित्र के साथ मिलकर डीसीपी को रेप के आरोप में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेल कर रहा था। वह महिला मित्र के एक प्रॉपर्टी विवाद की जांच उसके पक्ष में कराने व हत्या के प्रयास के आरोपी भांजे का केस से नाम हटवाने का डीसीपी पर दबाव बना रहा था। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि दोनों मामले डीसीपी कपूर के क्षेत्राधिकार में आते थे।

 

बात न मामने पर इंस्पेक्टर महिला मित्र द्वारा रेप के झूठे केस में फंसाने की तीन माह से धमकी दे रहा था। पुलिस का यह भी कहना है कि इंस्पेक्टर की महिला मित्र अपने ससुर पर भी इसी तरह का आरोप लगाकर दबाव डाल रही थी। इंस्पेक्टर ने डीसीपी को दुष्कर्म का आराेप लगवाकर मीडिया में बदनाम कर कॅरियर  बर्बाद करने की धमकी भी दी थी।  

 

डीसीपी की पत्नी के सामने घर पर दी थी धमकी : पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आरोपी 13 अगस्त को भी डीसीपी के आवास पर गया था। डीसीपी के साथ देने से इंकार करने पर उसने तेज आवाज में ब्लैकमेल करने की धमकी दी थी। उसकी आवाज सुनकर डीसीपी की पत्नी नीलम कपूर भी वहां आ गई थीं। इसके बाद भी वह धमकी देकर चला गया था। एसआईटी हेड और एसीपी क्राइम अनिल कुमार ने बताया कि आरोपी अब्दुल शहीद व उसके आरोपी दोस्त सतीश मलिक से परेशान होकर ही डीसीपी ने आत्महत्या की है। नामजद सतीश मलिक की तलाश की जा रही है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना