नई दिल्ली / जेएनयू स्टूडेंट ने सुसाइड किया, प्रोफेसर को ईमेल में लिखा- मैं मौत का अनुभव करना चाहता हूं



JNU Student committed suicide
X
JNU Student committed suicide

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 05:56 AM IST

नई दिल्ली. जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के माही मंडवी हॉस्टल में रहने वाले एम.ए के छात्र ऋषि जोशुआ थोमस की कथित आत्महत्या के बाद जेएनयू एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। जोशुआ माही मंडवी के हॉस्टल के रूम नंबर 28 में रहता था। शुक्रवार को स्कूल ऑफ लैंग्वेज के रीडिंग रूम में छात्र का शव पंखे से लटका मिला। केरल निवासी 24 वर्षीय छात्र ऋषि अंग्रेजी विषय से एम.ए कर रहा था। साल 2017 में छात्र ने जेएनयू में दाखिला लिया था।

 

आत्महत्या से पहले उसने अपने एक टीचर काे ई-मेल किया था। छह लाइन के ई-मेल में उसने लिखा है, ‘जब तक आप यह ई-मेल पढ़ रहे हाेंगे, तब तक हाे सकता है कि मैं शारीरिक रूप से इस दुनिया में नहीं रहूंगा। मैं माैत का अनुभव करना चाहता हूं।’ पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

साल 2016 में इसी हॉस्टल से गायब हो चुके हैं नजीब :

गौरतलब है कि साल 2016 में माही मांडवी हॉस्टल से नजीब अहमद गायब हो गया था, अभी तक उसका पता नहीं चला है। जेएनयू के छात्र डरे हुए हैं। इस तरह की घटनाओं ने प्रशासन और छात्रों को हिला दिया है। साल 2016 में नजीब के गायब होने के बाद साल 2017 में भी जेएनयू के 27 वर्षीय छात्र ने आत्महत्या कर ली थी। उसने दक्षिण दिल्ली के मुनिरका इलाके में डिप्रेशन के चलते कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी।

 

माही मांडवी हॉस्टल के अध्यक्ष का कहना है छात्र 28 रूम नंबर में रहता था। उसने किसी तरह की परेशानी के बारे में नहीं बताया। एक छात्र ने बताया ऋषि काफी महीनों से डिप्रेशन में था। जोशुआ गुरुवार को अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा देने से चूक गया था। इसके अलावा, उन्होंने सहपाठियों से कहा वह मेडिकल आधार पर जीरो सेमेस्टर के लिए आवेदन करना चाहते हैं। 

 

23 मई को देखिए सबसे तेज चुनाव नतीजे भास्कर APP पर 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना