दिल्ली / मनोज तिवारी ने की इस्तीफे की पेशकश, हाईकमान का पद पर रहने का निर्देश

Manoj Tiwari offers resignation, directs to remain high command
X
Manoj Tiwari offers resignation, directs to remain high command

  • भाजपा प्रदेश कार्यालय में नए चुने गए विधायकों के साथ की गई बैठक
  • तिवारी बोले- जनता के जनादेश का हम सम्मान करते हैं

दैनिक भास्कर

Feb 13, 2020, 04:24 AM IST

नई दिल्ली. चुनावी हार के बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस्तीफे की पेशकश की है। हालांकि पार्टी सूत्रों ने दावा किया है कि उन्हें अभी इस पद पर बने रहने के लिए कहा गया है। चुनाव में पार्टी की बुरी तरीके से हार हुई है। तिवारी ने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देने की बात की है। आपको बता दें कि 8 फरवरी को दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव के मतदान के बाद भाजपा को बड़ी जीत की उम्मीद थी। खुद मनोज तिवारी ने ट्वीट कर कहा था कि एग्जिट पोल भले ही कुछ और दावे कर रहे हो लेकिन भाजपा दिल्ली में 48 सीट जीतेगी। पर 11 फरवरी को चुनावी नतीजों ने भाजपा की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। भाजपा 70 में से सिर्फ 8 सीटें जीत पाई। दिल्ली भाजपा प्रदेश कार्यालय में बुधवार को भाजपा के नवनिर्वाचित विधायकों ने तिवारी एवं संगठन महामंत्री सिद्धार्थन के साथ बैठक की। बैठक में विधायक विजेन्द्र गुप्ता, ओपी शर्मा, मोहन सिंह बिष्ट, रामबीर सिंह बिधूड़ी, जितेन्द्र महाजन, अजय महावर एवं अनिल बाजपेयी उपस्थित थे।

हार के बाद ट्विटर पर खामोश हैं दिल्ली भाजपा के नेता
भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के ट्विटर हैंडल से 11 फरवरी के बाद से कोई ट्वीट नहीं हुआ है। नतीजों के अगले दिन यानी बुधवार को उन्होंने एक भी ट्वीट या रिट्वीट नहीं किया। वहीं सांसद प्रवेश वर्मा ने भी मंगलवार को नतीजों के बाद कार्यकर्ताओं को ट्वीट कर एक संदेश दिया, इसके बाद से कोई ट्वीट नहीं किया है। सांसद गौतम गंभीर ने भी 11 फरवरी को आए नतीजों के बाद से अब तक एक भी ट्वीट नहीं किया है। सभी नेताओं ने अंतिम बार जनता को धन्यवाद कहा था।

विस में नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी के लिए भाजपा में कई की दावेदारी, सबसे वरिष्ठ मोहनसिंह बिष्ट

दिल्ली में भाजपा को 38.51 फीसदी यानी 35.75 लाख वोट मिले लेकिन सीटें सिर्फ 8 मिली हैं। नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी के लिए तय 10 फीसदी सीट से एक ज्यादा है। पिछली बार ये संख्या महज 3 थी जिस पर नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी आम आदमी पार्टी सरकार की तरफ से दी गई थी। पार्टी ने राजनीति में अनुभव के हिसाब से सीनियर विजेंद्र गुप्ता को नेता प्रतिपक्ष बनाया था। अबकी बार अनुभव के हिसाब से सबसे वरिष्ठ करावल नगर से पांचवी बार विधायक चुने गए मोहन सिंह बिष्ट हैं। बदरपुर से विधयक रामबीर सिंह बिधूड़ी चौथी बार विधायक बने हैं। विश्वास नगर से विधायक ओपी शर्मा तीसरी बार, रोहताश नगर से जितेंद्र महाजन, गांधी नगर से अनिल कुमार बाजपेयी और रोहिणी से विजेंद्र गुप्ता दूसरी बार विधायक बने हैं। वहीं लक्ष्मी नगर से अभय वर्मा और घौंडा से अजय महावर पहली बार विधायक बने हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना