दिल्ली / अब नोएडा के स्कूलों में फीस वृद्धि का विरोध, डीएम ने लिया संज्ञान



फीस वृद्धि को लेकर प्रदर्शन करते पैरंट्स। फीस वृद्धि को लेकर प्रदर्शन करते पैरंट्स।
X
फीस वृद्धि को लेकर प्रदर्शन करते पैरंट्स।फीस वृद्धि को लेकर प्रदर्शन करते पैरंट्स।

  • नोएडा सेक्टर-11 स्थित मॉडर्न स्कूल पर पैरंट्स ने 30-40% फीस वृद्धि का लगाया आरोप
  • पिछले साल जो फीस 4000 रु. प्रति माह थी, इस बार 5600 हो गई

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 05:07 AM IST

नोएडा/नई दिल्ली. दिल्ली के स्कूलों में फीस वृद्धि को लेकर हो रहे प्रदर्शन के बाद अब नोएडा में भी विरोध बढ़ गया है। नोएडा सेक्टर-11 स्थित मॉडर्न स्कूल के अभिभावकों ने मंगलवार को फीस वृद्धि को लेकर प्रदर्शन किया। पिछले 3 हफ्ते में अभिभावकों का यह चौथा प्रदर्शन था। अभिभावकों ने आरोप लगाया कि पिछले साल की तुलना में स्कूल ने 30 से 40 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी है। इसके अलावा फीस देने में देरी होने पर 500 रुपए का अतिरिक्त शुल्क भी लिया जा रहा है।

 

इस मामले में अभिभावकों ने डीएम कार्यालय में भी शिकायत दी है। जिस पर डीएम बीएन सिंह ने बताया कि कोई भी व्यक्ति पहले स्कूल से शिकायत करे और फिर 15 दिन में कार्रवाई नहीं हो तो जिला प्रशासन की समिति में शिकायत करे। स्कूल के बाहर विरोध जताने पहुंचे अभिभावक अखिल ने बताया कि उनकी बेटे की पिछले साल 4 हजार रुपए प्रति माह फीस थी। नए सेशन में 40 फीसदी बढ़ाकर 5600 रुपए मांगी गई है। इतनी बढ़ोतरी कहां तक जायज है?

 

वहीं, विरोध जताने आए सुरेंद्र ने बताया कि नियम के तहत स्कूल प्रशासन को अभिभावक संघ से बात करके फीस बढ़ाने पर फैसला लेना चाहिए था मगर कोई बात नहीं हुई थी। बता दें कि सेक्टर-11 के अलावा नोएडा के अन्य कई स्कूलों में फीस बढ़ोतरी को लेकर विरोध किया जा रहा है।
 

ये हैं यूपी में फीस को लेकर नियम

  • फीस निर्धारण को 2015-16 को आधार वर्ष माना जाएगा और प्राइवेट स्कूल 5% से अधिक वृद्धि नहीं कर सकेंगे।
  • पहली बार नियम तोड़ने पर 1 लाख, दूसरी बार में 5 लाख, तीसरी बार मान्यता तक रद्द हो सकती है।
  • फीस से संबंधित डिटेल स्कूल वेबसाइट पर डालनी होगी।
  • फीस मुद्दे को लेकर कोई भी बनाई समिति को feecommitteegbn@gmail.com पर ईमेल कर सकता है।
  • कोई भी स्कूल एडमिशन फीस एक बार ले सकता है।

(यूपी में लागू अध्यादेश के तहत सालाना 20 हजार रुपए से अधिक फीस लेने वाले स्कूल इस नियम में आते हैं।)

 

इधर, दिल्ली में बढ़ी फीस को लेकर यूं करे शिकायत

दबाव बनाए जाने पर पैरंट्स फीस एनॉमली कमेटी में शिकायत कर सकते हैं। पैरंट्स, स्टूडेंट्स शिक्षा विभाग के डिप्टी डायरेक्टर के कार्यालय में 100 रु. चार्ज जमा कर शिकायत कर सकते हैं। फीस एनॉमली कमेटी 90 दिनों में जांच कर रिपोर्ट शिक्षा निदेशक को देगी।

 

प्रताड़ित करने पर : फीस जमा न करने की स्थिति में स्कूल प्रशासन बच्चे को क्लास रूम से बाहर या अन्य बच्चों से अलग करते हैं तो पैरंट्स दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग में शिकायत कर सकते हैं। साथ ही 1098 पर फोन कर सकते हैं। 

 

टीसी न देने की स्थिति में स्कूल को लिखें पत्र 

कई स्कूल स्टूडेंट्स को दूसरे स्कूल में नए सत्र में जाने पर उन्हें टीसी नहीं दे रहे हैं। पैरंट्स स्कूल में एक एप्लिकेशन लिखें। वह हाईकोर्ट के निर्णय आने पर एरियर जमा कर देंगे और पैरंट्स उसमें नंबर और एड्रेस भी दें।  

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना