--Advertisement--

दिल्ली / परिंदाें को भी निशाना बना रहा प्रदूषण, आंखों में इंफेक्शन; सांस लेने में तकलीफ



बर्ड अस्पताल में आए पक्षी। कुछ को सांस लेने में तकलीफ होने पर ऑक्सीजन तक देना पड़ रहा है। बर्ड अस्पताल में आए पक्षी। कुछ को सांस लेने में तकलीफ होने पर ऑक्सीजन तक देना पड़ रहा है।
X
बर्ड अस्पताल में आए पक्षी। कुछ को सांस लेने में तकलीफ होने पर ऑक्सीजन तक देना पड़ रहा है।बर्ड अस्पताल में आए पक्षी। कुछ को सांस लेने में तकलीफ होने पर ऑक्सीजन तक देना पड़ रहा है।

  • 22 प्वाॅइंट जरूर घट गया दिल्ली का एक्यूआई, मगर अभी हालात पूरी तरह ठीक नहीं
  • चांदनी चौक में एक्यूआई 1000 से ऊपर गया, आनंद विहार और वजीरपुर इलाके में पीएम10 का स्तर 600 पार

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 02:48 AM IST

नई दिल्ली. दिल्ली में प्रदूषण का आलम यह है कि इंसान तो इंसान बेजुबान परिंदों का भी दम घोंट रहा है। परिंदों को भी इंसानों की तरह सांस लेने में परेशानी हो रही है और उनकी आंखों में इंफेक्शन हो गया है।

 

pollution

 

दिवाली के बाद से स्तर और खराब: परिंदों को सांस लेने में इतनी परेशानी हो रही है कि इन्हें जिंदा रखने के लिए अस्पताल को ऑक्सीजन तक देनी पड़ रही है। दिवाली के बाद से दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर बहुत खराब स्थिति में है। पुरानी दिल्ली के चांदनी चौक इलाके का प्रदूषण लगातार खराब बना हुआ है। यहां एक्यूआई 1000 से ऊपर तक जा चुका है। इसके चलते ही यहां प्रदूषण का असर अब परिंदों पर भी पड़ रहा है। चांदनी चौक के बर्ड अस्पताल में प्रदूषण से बेसुध परिंदे पहुंच रहे हैं। इनमें सबसे ज्यादा कबूतर बताए जा रहे हैं। इसके अलावा चील, कौवे, तोते और चिड़िया अस्पताल में पहुंचे हैं। कुछ परिंदों को ऑक्सीजन भी देनी पड़ रही है।

 

एनसीआर के शहराें में स्थिति गंभीर: शुक्रवार के मुकाबले दिल्ली के एयर क्वालिटी इंडेक्स में 22 प्वाइंट का सुधार है। शुक्रवार को एक्यूआई 423 था, शनिवार को 401। दिल्ली-एनसीआर में नोएडा और गुड़गांव को छोड़ दिया जाए तो एनसीआर के शहरों में प्रदूषण का स्तर गंभीर की श्रेणी में बना हुआ है। शाम 4 बजे आनंद विहार और वजीरपुर इलाके में पीएम10 का स्तर 600 से पार पहुंच गया था। इस बीच कंस्ट्रक्शन, कोयला और बायोगैस प्लांट के संचालन पर रोक 12 नवंबर तक बढ़ा दी गई है।

 

पटाखों से अब तक 130 परिंदे घायल: सुनील कुमार जैन का कहना है कि छोटी दिवाली से लेकर भाई दूज तक अस्पताल में 170 परिंदे आए हैं जिनमें से 40 को प्रदूषण संबंधित बीमारियों की वजह से भर्ती किया गया। वहीं अन्य को पटाखों या अन्य वजहों से जलने के कारण भर्ती किया गया है। 

 

पटाखे के शोर से डरा कुत्ता, मालिक ने बुलाई पुलिस : सरिता विहार में गोवर्धन पूजा की रात किसी ने गली में पटाखे जलाए। उनकी आवाज से घर का एक पालतू कुत्ता डर गया। डॉग को इस हालत में देख उसके मालिक ने पुलिस बुला ली। जब तक पुलिस पहुंचती पटाखे फोड़ने वाले फरार हो गए।

 

मनोज तिवारी ने ट्वीट में जताई चिंता: दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली प्रदूषण भरी आंखों से बिलख रही है। जहरीले धुएं से सांसें थमी पड़ी हैं पर आप (सीएम केजरीवाल) सपरिवार दुबई की सैर पर हैं। तिवारी ने कहा कि यह देख कर भी डर लगता है कि जिस तरह से एंटी पॉल्यूशन मास्क और एयर प्यूरीफायर बिक रहे हैं, यह एक व्यापार की तरह विकसित हो रहा है। यदि यह व्यापार प्रगति कर गया तो ताउम्र प्रदूषण खत्म नहीं होने देगा और यह प्रदूषण हमारी जिंदगी का अभिन्न हिस्सा बन जाएगा। हमें इस समस्या से बचना है।

 

आप प्रवक्ता ने दी सपुाई : नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने भी ट्वीट किया, पिछले सप्ताह आप सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन दुबई गए थे। डोर स्टेप डिलीवरी का कॉन्ट्रैक्टर भी दुबई में रहता है। दस दिन में मंत्री के बाद सीएम का दुबई जाना, किसी साजिश की बू आ रही है! इस बीच आप प्रवक्ता राघव चड्‌ढा ने बताया कि सीएम केजरीवाल दुबई एक पारिवारिक मित्र के कार्यक्रम में शामिल होने गए हैं।

 

परिंदे प्रदूषण की मार से सड़क पर तड़पते मिल रहे हैं। पुलिस, आम लोग और बर्ड लवर उन्हें अस्पताल पहुंच रहे हैं। ज्यादातर परिंदों को प्रदूषण की वजह से आंखों में इंफेक्शन हो रहा है इसलिए आंख में आई ड्रॉप्स डाली जा रही है। जो परिंदे बेहोश होते हैं उन्हें ऑक्सीजन दी जा रही है। - सुनील कुमार जैन, मैनेजर, बर्ड अस्पताल

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..