प्रदर्शनकारियों ने कहा- ट्रम्प हांगकांग को आजाद कराएं

Delhi-ncr News - नई दिल्ली, सोमवार, 09 सितंबर, 2019 अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के सामने 5 लाख लोगों की रैली माइक इवेज/इज्रा चेउंग |...

Sep 09, 2019, 07:20 AM IST
नई दिल्ली, सोमवार, 09 सितंबर, 2019

अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के सामने 5 लाख लोगों की रैली

माइक इवेज/इज्रा चेउंग | हांगकांग

हांगकांग में प्रत्यर्पण बिल के खिलाफ चल रहे अंब्रेला आंदोलन ने रविवार को तीन महीने पूरे कर लिए। इसके साथ आंदोलनकारियों ने चीन को झुंझला देने वाला एक और कदम उठा दिया है। करीब 5 लाख आंदोलनकारी अमेरिका के झंडे और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के पोस्टर लेकर सड़कों पर उतरे। उन्होंने आजादी के गीत भी गाए। उनके बैनरों पर लिखा था- राष्ट्रपति ट्रम्प, कृपया हांगकांग को आजाद कराएं। इन लोगों ने प्रमुख प्रदर्शन स्थल चार्टर गार्डन से अमेरिकी वाणिज्य दूतावास तक मार्च किया। अमेरिकी सरकार से कहा कि वह उनकी मांग पूरी करने के लिए चीन पर दबाव बनाए। अपनी संसद में हांगकांग लोकतांत्रिक और मानवाधिकार बिल पारित करें। इस बिल में मानवाधिकारों का दमन करने वाले हांगकांग और चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंध का प्रावधान है। अमेरिकी संसद में सांसदों के एक समूह ने जून में यह बिल पेश किया था। शुुरू में रैली शांतिपूर्ण रही, पर बाद में कुछ प्रदर्शनकारियों ने शा टिन न्यू टाउन स्टेशन में आग लगा दी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े।

विंडो

अमेरिका: ट्रम्प ने कहा था-सब ठीक होगा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पिछले महीने हांगकांग आंदोलन में रुचि दिखाई थी। उन्होंने कहा था कि वह उम्मीद करते हैं कि इस आंदोलन के बाद हांगकांग समेत चीन में सब ठीक हो जाएगा। किसी का मन आहत नहीं होगा।

नई दिल्ली, सोमवार, 09 सितंबर, 2019

नई दिल्ली, सोमवार, 09 सितंबर, 2019

कार्रवाई: अब तक 1140 लोग गिरफ्तार

पुलिस ने तीन महीनों में करीब 1140 लोगों को गिरफ्तार किया है। पिछले एक सप्ताह में 240 प्रदर्शनकारी गिरफ्तार किए गए। प्रदर्शन के दौरान अब तक 300 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इनमें पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।

आगे क्या: प्रदर्शनकारी 5 मांग पर अड़े

हांगकांग प्रशासन ने बुधवार को कहा था कि वह औपचारिक तौर पर प्रत्यर्पण बिल जल्द वापस लेगा। इस पर आंदोलन-कारियों ने कहा कि अब देर हो चुकी है। उनकी सभी पांच मांगें पूरी की जाए। तभी आंदोलन वापस लेंगे।

कांग्रेस का कर्तव्य धर्मनिरपेक्षता की रक्षा करना है, ‘लाइट हिंदुत्व’ समाधान नहीं, इससे पार्टी जीरो हो जाएगी: थरूर

नई दिल्ली|कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा है िक कांग्रेस का यह कर्तव्य है कि वह धर्मनिरपेक्षता की रक्षा करे। हिंदी पट्टी में पार्टी का संकट भाजपा के ‘बहुसंख्यक तुष्टीकरण’ या ‘कोक लाइट’ से डरकर ‘लाइट हिंदुत्व’ काे अपनाने से दूर नहीं हाे सकता है, क्योंकि इस रास्ते पर चल कर ‘कांग्रेस जीरो’ हो जाएगी। थरूर ने पुस्तक ‘द हिंदू वे: एन इंट्रोडक्शन टू हिंदुइज्म’ के लोकार्पण से पहले इंटरव्यू में कहा कि सत्ता में बैठे लोग जो प्रचार कर रहे हैं, वह सही मायनों में हिंदुत्व नहीं है, बल्कि एक महान मत को ‘विकृत किया जा रहा’ है, जिसे उन लोगों ने विशुद्ध राजनीतिक और चुनावी लाभ के लिए एक संकीर्ण राजनीतिक औजार में बदल दिया है। थरूर ने कहा, ‘हिंदुत्व की खूबसूरती यह है कि हमारे यहां कानून बनाने के लिए कोई पोप नहीं है, कोई इमाम फतवा जारी कर नहीं बताता है कि सच्चा मत क्या है, कोई अकेला पवित्र ग्रंथ नहीं है। हिंदू मत में ऐसी कोई बात नहीं है।’

तस्वीर हांगकांग स्थित अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के सामने की है।

13

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना