हार पर मंथन / भाजपा में उठे सवाल:‘काम पर चुनाव’ का जवाब शाहीन बाग से क्यों दिया?

मंगलवार को अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता का जन्मदिन था। इसी दिन जीत की खबर भी आई। मंगलवार को अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता का जन्मदिन था। इसी दिन जीत की खबर भी आई।
X
मंगलवार को अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता का जन्मदिन था। इसी दिन जीत की खबर भी आई।मंगलवार को अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता का जन्मदिन था। इसी दिन जीत की खबर भी आई।

  • दिल्ली एक बड़े भाजपा नेता ने प्रचार अभियान संभालने वालों से जवाब मांगा
  • बाहरी व्यक्ति मनाेज तिवारी काे प्रदेशाध्यक्ष बनाना महंगा पड़ने की चर्चा भी पार्टी में छिड़ी

दैनिक भास्कर

Feb 12, 2020, 08:01 AM IST

नई दिल्ली (मुकेश कौशिक ) . दिल्ली में आक्रामक प्रचार के बावजूद आम आदमी पार्टी से करारी शिकस्त पर भाजपा में अब मंथन शुरू हाे गया है। दिल्ली के कुछ बड़े नेता दबी जुबान में प्रचार की रणनीति और चुनावी मुद्दाें के चयन पर सवाल उठा रहे हैं। एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि प्रचार अभियान संभाल रहे नेता चुनावी नतीजाें के बारे में मीडिया के सामने प्रतिक्रिया जरूर दें। साथ ही बताएं कि केजरीवाल की ‘काम पर चुनाव’ की चुनाैती का जवाब शाहीन बाग से क्यों दिया? कुछ वरिष्ठ भाजपा नेताओं का मत है कि सीएए के खिलाफ शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन काे केंद्र में रखकर चलाया गया अति राष्ट्रवादी प्रचार अभियान इस हार की बड़ी वजह है। गृह मंत्री अमित शाह अपने ज्यादातर भाषणाें के अंत में अपील करते थे कि ईवीएम का बटन इतनी जाेर से दबाना कि करंट शाहीन बाग तक पहुंचे।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने गाेली मारने और सांसद प्रवेश वर्मा ने केजरीवाल काे आतंकवादी बताने जैसे विवादित बयान भी दिए। आप और कांग्रेस ने भाजपा पर नफरत और बंटवारे की राजनीति करने का आराेप लगाया। दिल्ली के एक नेता कहते हैं कि हिंदुत्व और राष्ट्रवाद के एजेंडे पर चलते-चलते पार्टी काफी आगे निकल गई थी। गाेली माराे जैसे नारे लगाकर आम लाेगाें से सकारात्मक प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं कर सकते। भाजपा नेताओं का मत है कि महिलाओं काे बसाें में मुफ्त यात्रा, बिजली और पानी मुफ्त देने के दांव का भी भाजपा ताेड़ नहीं ढूंढ सकी। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मनाेज तिवारी ने बांटने की राजनीति के आराेप नकारते हुए कहा कि हार के कारणाें पर पार्टी फाेरम में विचार हाेगा। कुछ नेताओं की राय है कि सीएम पद के लिए चेहरा नहीं देना भाजपा काे भारी पड़ गया। बाहरी व्यक्ति को प्रदेशाध्यक्ष बनाना अाैर दिल्ली इकाई में फूट भी हार की वजह मानी जा रही है।


पीएम मोदी ने बधाई दी, केजरीवाल बोले- शुक्रिया, दिल्ली के लिए सहयोग की उम्मीद 
पीएम  मोदी ने अरविंद केजरीवाल को ट्वीट कर बधाई दी है। जवाब में केजरीवाल ने भी उन्हें शुक्रिया कहते हुए राजधानी दिल्ली को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने के लिए उनसे सहयोग की उम्मीद जताई।

बर्थडे गिफ्ट...

‘दिल्ली के लोगों ने नकारात्मक राजनीति को नकार दिया है, ये सच की जीत है। विश्वास था कि जीत होगी। दिल्ली के लोगों ने जन्मदिन पर बड़ा गिफ्ट दिया है। सच की जीत हुई है। हम लोगों के बीच जा रहे थे। लोगों को काम पर विश्वास था। मुझे जीत का। दिल्ली के लोग समझदार हैं। हमें पता था  कि नकारात्मक राजनीति को दिल्ली के लोग नकार देंगे।’ - सुनीता केजरीवाल

दिल्ली ने अपने बेटे पर भरोसा किया, ये नई राजनीति देश के लिए शुभ संदेश: केजरीवाल
जीत के बाद केजरीवाल ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। कहा- ‘दिल्लीवालो! गजब कर दिया आप लोगों ने। आई लव यू। ये दिल्ली के हर उस परिवार की जीत है, जिसने मुझे बेटा मानकर समर्थन दिया। ये उन परिवारों की जीत है, जिनके बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलने लगी है, जिनका अस्पतालों में अच्छा इलाज होने लगा है। दिल्ली के लोगों ने आज देश में एक नई राजनीति को जन्म दिया है, जिसका नाम काम की राजनीति है। ये शुभ संदेश है। ये भारत माता की जीत है। 

फायदा: आप ने जिन 15 विधायकों के टिकट काटेे, वहां 14 जीत गए

आम आदमी पार्टी ने रिपोर्ट कार्ड को आधार बनाकर 15 विधायकों के टिकट काट दिए थे। जिनके टिकट कटे, उन्होंने पार्टी नेतृत्व पर कई गंभीर आरोप लगाए। विश्लेषकों ने भी कहा कि पार्टी में भितरघात से नुकसान होगा। लेकिन सबको पीछे छोड़ते हुए पार्टी ने 15 में से 14 सीटें बचा लीं। सिर्फ बदरपुर में हार झेलनी पड़ी। बाजी भाजपा के रामवीर सिंह बिधूड़ी के हाथ लगी। आप ने विधायक एनडी शर्मा का टिकट काटकर राम सिंह नेताजी को उतारा था। शर्मा बसपा से लड़े। सीट तो नहीं बचा सके, पर आप का नुकसान कर गए। 

  • द्वारकाः शास्त्रीजी के पोते का टिकट काट महाबल मिश्रा के बेटे को दिया
  • 2015 में जीते आदर्श शास्त्री का टिकट काटकर दिग्गज कांग्रेसी नेता महाबल मिश्रा के बेटे विनय को उतारा। उन्होंने भाजपा के प्रद्युम्न राजपूत को हराया।
  • कालकाजीः लोकसभा चुनाव हारीं आतिशी को उतारा, इस बार जीत गईं
  • अवतार सिंह का टिकट काट आतिशी को दिया। भाजपा के धर्मवीर को हराया।
  • राजेंद्र नगर: पार्टी प्रवक्ता राघव चड्ढा पर दांव, लोकसभा चुनाव में हारे थे
  • विजेंद्र गर्ग की जगह राघव चड्ढा को उतारा। भाजपा के आरपी सिंह को हराया।

नुकसान: दल-बदलू कपिल और अलका लांबा को लोगों ने नकारा

  • दिल्ली में उन नेताओं पर सभी की निगाहें थीं, जिन्होंने दलबदल किया था। 
  • मॉडल टाउनः आप से विधायक रहे कपिल मिश्रा भाजपा में जाकर हारे
  • आप के अखिलेशपति त्रिपाठी ने भाजपा के कपिल मिश्रा को हरा दिया। कपिल 2015 में आप के टिकट से जीते थे।
  • चांदनी चौकः कांग्रेस के साहनी आप  से जीते, आप की अलका कांग्रेस से हार गईं
  • 2015 में अलका लांबा ने 4 बार के कांग्रेस विधायक प्रह्लाद साहनी को हराया था। इस बार साहनी आप और अलका कांग्रेस से लड़ीं। लेकिन इस बार साहनी जीत गए। वे 5वीं बार विधायक बने हैं।
  • 5 पार्टियों से 7 बार चुनाव लड़ने वाले शोएब छठी बार विधायक बने
  • दिल्ली में मटिया महल चर्चित सीट है। क्योंकि यहां आपके शोएब इकबाल छठी बार जीते हैं। वे पिछले 6 चुनाव में 5 बार 4 अलग-अलग पार्टियों से विधायक रहे हैं। इस बार वे आम आदमी पार्टी से जीते हैं। उनके नाम एक ही सीट से लगातार 5 बार जीतने का रिकॉर्ड है। 1993 से अब तक वे 5 पार्टियों- जनता दल (2 बार), जेडीएस, एलजेपी,  जेडीयू और  अब आप से जीतकर विधायक बने हैं। पिछली बार वे कांग्रेस से लड़े थे, लेकिन आप के प्रत्याशी से हार गए थे।

 लोगों ने भाजपा को नकारा दिया है। सिर्फ विकास का मुद्दा काम करेगा, सीएए, एनआरसी और एनपीआर को खारिज कर दिया जाएगा। - ममता बनर्जी, सीएम, प. बंगाल
लोगों ने दिखा दिया है कि देश जन की बात से चलता है न कि मन की बात से। भाजपा ने केजरीवाल को आतंकी कहा, पर उन्हें हरा नहीं सकी। - उद्धव ठाकरे, सीएम, महाराष्ट्र
दिल्ली के लोगों को धन्यवाद, जिन्होंने नफरत, धोखे और तबाही की राजनीति को नकारा। इस नतीजे के बाद, भाजपा को कोई बाग याद नहीं रहेगा। - अखिलेश यादव, सपा प्रमुख
लोगों ने मन बना लिया था कि वे आप या भाजपा को वोट देंगे। यह चुनाव विकास के मुद्दे पर हुआ। दैत्य और बौने के बीच की लड़ाई में बौना जीत गया। - अधीर रंजन चौधरी, कांग्रेस
जनादेश का सम्मान और अरविंद केजरीवाल को बधाई। उम्मीद है वे दिल्ली की अपेक्षाएं पूरी करेंगे। हमारी अपेक्षाएं खरी नहीं उतरीं, इसकी समीक्षा करेंगे। - मनोज तिवारी, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष
हम नतीजे स्वीकार करते हैं। अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के लोगों को बधाई। मुझे उम्मीद है कि केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली का विकास होगा। - गौतम गंभीर, भाजपा सांसद

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना