पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

शूटर श्वेता के परिवार की तीन मांओं की कहानी, सबने संघर्ष से चुनौतियों को हराया

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

नई दिल्ली (राजकिशोर). अब मां पहले वाली मां नहीं रही। वक्त के साथ उसकी भूमिका बदली है। उसकी चुनौतियां बढ़ी हैं। लेकिन जो एक चीज नहीं बदली है वो है उसका लक्ष्य। मां हमेशा से ही अपने बच्चों की तरक्की को सबसे बड़ी प्राथमिकता मानती रही है। ऐसी ही एक परिवार की तीन मां हैं। साल 2014 के एशियन गेम्स में इंडिविजुअल मेडल जीतने वाली शूटर श्वेता चौधरी, उनकी मां  बिमला और दादी बल्लोदेवी। ये तीनों बता रही हैं कि तीन पीढ़ियों में मां की जिम्मेदारी कैसे बदलती गई।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement