मदर्स डे / शूटर श्वेता के परिवार की तीन मांओं की कहानी, सबने संघर्ष से चुनौतियों को हराया



Shweta's family, defeated the challenges by all struggles
X
Shweta's family, defeated the challenges by all struggles

Dainik Bhaskar

May 11, 2019, 11:41 PM IST

नई दिल्ली (राजकिशोर). अब मां पहले वाली मां नहीं रही। वक्त के साथ उसकी भूमिका बदली है। उसकी चुनौतियां बढ़ी हैं। लेकिन जो एक चीज नहीं बदली है वो है उसका लक्ष्य। मां हमेशा से ही अपने बच्चों की तरक्की को सबसे बड़ी प्राथमिकता मानती रही है। ऐसी ही एक परिवार की तीन मां हैं। साल 2014 के एशियन गेम्स में इंडिविजुअल मेडल जीतने वाली शूटर श्वेता चौधरी, उनकी मां  बिमला और दादी बल्लोदेवी। ये तीनों बता रही हैं कि तीन पीढ़ियों में मां की जिम्मेदारी कैसे बदलती गई।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना