पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Teachers Will Teach Ways To Control Anger, So That The Child Goes Home And Says 'You Are Not Allowed To Get Angry'

गुस्से पर कंट्रोल के तरीके सिखाएंगे टीचर, ताकि बच्चा घर जाकर कहे-‘आपको गुस्सा करने की अनुमति नहीं’

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिक्षक बच्चे को गुस्से को कंट्रोल करने के तरीके और किस तरह दूसरों का गुस्सा नियंत्रित किया जा सकता है ये सिखाएंगे।
  • सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने स्कूल प्रमुखों को भेजा पत्र, सीबीएसई के स्कूलों में बनेगा गुस्सा मुक्त क्षेत्र
  • हेल्थ एंड फिजिकल एजुकेशन का एक पीरियड अनिवार्य

नई दिल्ली . केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) से संबद्ध सभी स्कूलों में एक गुस्सा मुक्त क्षेत्र बनेगा। शिक्षक बच्चे को गुस्से को कंट्रोल करने के तरीके और किस तरह दूसरों का गुस्सा नियंत्रित किया जा सकता है ये सिखाएंगे। गुस्सा मुक्त क्षेत्र में शिक्षक, अभिभावक, स्कूल स्टाफ व अन्य को अपना गुस्सा नियंत्रित करने की कोशिश करनी है। 

बच्चे खुश रहेंगे और सकारात्मक तरीके बहुत कुछ सीखेंगे
पत्र के अनुसार शिक्षक व छात्र प्राकृतिक मुस्कुराहट रहे, शांत तरीके से बात करें और हर समय मोबाइल फोन पर न जुटे रहें, लंबी सांस लेना और खुद को 20 मिनट देने की आदत जरूरी है। सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने केंद्रीय विद्यालय, दिल्ली, चंडीगढ़ सहित कुछ अन्य राज्यों के शिक्षा विभाग को भी पत्र भेजकर स्कूलों में गुस्सा मुक्त क्षेत्र बनाने, अपने स्कूल को गुस्सा मुक्त घोषित करने के प्रयास करने को कहा है।


सीबीएसई सचिव ने संबद्ध स्कूलों को भेजे गए पत्र में कहा है कि हर दिन एक पीरियड हेल्थ और फिजिकल एजुकेशन के लिए रिजर्व की अनिवार्यता की हुई है। इसमें स्पोर्ट्स, आर्ट, योगा क्लास को जोड़कर लर्निंग को आसान और मनोरंजक बनाएं। उम्मीद है कि सीबीएसई के स्कूल ये प्रयास करेंगे तो स्कूल गुस्सा मुक्त क्षेत्र बनेगा, जिससे बच्चे खुश रहेंगे और सकारात्मक तरीके से बहुत कुछ सीखेंगे।

फायदा: बच्चों में डर, अनादर, अपमान, आहत होने की दिक्कत खत्म हो जाएगी
सीबीएसई सचिव ने भेजे गए पत्र में कहा है कि अपने स्कूल को गुस्सा मुक्त क्षेत्र बनाने से छात्रों में अच्छी स्किल विकसित होगी जबकि गुस्से के कारण पनपने वाली दिक्कतें डर, अनादर, अपमान, आहत होने की दिक्कत खत्म हो जाएगी। बच्चे भावनात्मक और मानसिक रूप से मजबूत होंगे। चार्ज होकर घर लौटेंगे और इससे अगले दिन स्कूल आने की इच्छा भी रहेगी। बच्चे जो स्कूल में पढ़ते हैं, वो अभिभावकों को जाकर भी वहीं बताते हैं। कल्पना करना होगा कि बच्चे अभिभावक को जाकर कहेंगे कि आपको गुस्सा करने की अनुमति नहीं है।

स्कूल के रिसेप्शन के पास लगाएं, ‘ये गुस्सा मुक्त क्षेत्र है’ का बोर्ड: सीबीएसई
सीबीएसई ने कहा है कि स्कूल के रिसेप्शन के पास ‘ये गुस्सा मुक्त क्षेत्र है’ का बोर्ड लगाएं।  बच्चों को एक्सरसाइज करवाएं। अच्छे अनुभव रिकार्ड करें। सोशल मीडिया पर #सीबीएसईनोएंगर लगाकर बताएं कि हमारा स्कूल गुस्सा मुक्त बन रहा है। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपका कोई सपना साकार होने वाला है। इसलिए अपने कार्य पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित रखें। कहीं पूंजी निवेश करना फायदेमंद साबित होगा। विद्यार्थियों को प्रतियोगिता संबंधी परीक्षा में उचित परिणाम ह...

और पढ़ें