दिल्ली / भास्कर: पीएम-जय को केजरीवाल समझ नहीं पा रहे या समझना नहीं चाहते, हर्षवर्धन: अब उन्हें पूरा देश समझने लगा है



Union Health Minister Dr. Harshvardhan criticized Delhi government
X
Union Health Minister Dr. Harshvardhan criticized Delhi government

  • पीएम-जय योजना का एक साल पूरा होने पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्ली सरकार पर किया तंज

Dainik Bhaskar

Sep 18, 2019, 03:33 AM IST

नई दिल्ली. केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना (पीएम-जय) दिल्ली सरकार ने लागू नहीं की है। 5 लाख रुपए की आर्थिक मदद वाली इस स्कीम के दायरे में राजधानी के करीब 30 लाख लोग आते हैं। इन लोगों को केंद्र की इस हेल्थ स्कीम का लाभ कब से मिलेगा इसकी कोई जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के पास भी नहीं है।

 

यह हेल्थ स्कीम दिल्ली में लागू करने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से फोन पर बात की और चिट्‌ठी भी लिखी लेकिन बात नहीं बन पाई। आयुष्मान भारत के एक वर्ष पूरे होने पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दिल्ली में योजना लागू करने के लिए मुख्यमंत्री को बहुत समझाया लेकिन नहीं समझे। इस पर भास्कर ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से सवाल पूछा-  पीएम-जय स्कीम को सीएम केजरीवाल समझ नहीं पा रहे या समझना नहीं चाह रहे। इस पर केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने जवाब दिया कि अब केजरीवाल को पूरा देश समझने लगा है।

 

दिल्ली सरकार ने अभी तक लागू नहीं की है केंद्र की आयुष्मान भारत योजना

सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना के आधार पर दिल्ली के 5 लाख 88 हजार 423 परिवारों को (30 लाख लोग) को इस योजना का लाभ मिलना है। इसके लिए केंद्र और राज्य के बीच कई बार और कई स्तर की बातचीत हो चुकी है। पहले पीएम-जय नाम को लेकर दिल्ली सरकार को आपत्ति थी, क्योंकि दिल्ली सरकार योजना में सीएम शब्द जोड़ना चाह रही थी। इस पर केंद्र तैयार नहीं था। हालांकि बाद में इस पर भी सहमति बन गई थी।

 

दिल्ली में योजना का दायरा बढ़ाने पर हो रहा है काम, समय सीमा तय नहीं

दिल्ली सरकार का कहना है कि मामला अभी खत्म नहीं हुआ है, विचाराधीन है। इसका दायरा बढ़ाने पर भी काम चल रहा है, लेकिन कोई समय सीमा तय नहीं है। साथ में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कई बार दिल्ली की स्वास्थ्य योजनाओं को केंद्र सरकार की पीएम-जय स्कीम से बेहतर बता चुके हैं। इसके तहत न सिर्फ दिल्ली बल्कि दिल्ली के बाहर भी सरकारी या निजी अस्पताल में जाकर इलाज कर सकते हैं। सूची में नाम होने पर लाभार्थी को एक भी रुपया अस्पताल को नहीं देना है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना