दिल्ली / डॉ. महेश शर्मा ब्लैकमेलिंग मामले में दिनकर की नातिन उषा ठाकुर अरेस्ट

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 06:17 AM IST



रामधारी सिंह दिनकर की नातिन व समाज सेविका उषा ठाकुर। रामधारी सिंह दिनकर की नातिन व समाज सेविका उषा ठाकुर।
X
रामधारी सिंह दिनकर की नातिन व समाज सेविका उषा ठाकुर।रामधारी सिंह दिनकर की नातिन व समाज सेविका उषा ठाकुर।

  • केंद्रीय मंत्री का स्टिंग करने वाला मुख्य आरोपी व आलोक कुमार के साथ उषा ठाकुर भी शामिल थी
  • समाजसेवी उषा ठाकुर की निठारी कांड पीड़ितों को न्याय दिलाने में थी अहम भूमिका

नोएडा. केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा को ब्लैकमेल करने के प्रयास के मामले में शुक्रवार को नोएडा की समाजसेवी उषा ठाकुर को गिरफ्तार किया गया। पुलिस का दावा है कि केंद्रीय मंत्री का स्टिंग करने वाला मुख्य आरोपी व प्रतिनिधि चैनल के संपादक आलोक कुमार के साथ साजिश में उषा ठाकुर भी शामिल थी। शुक्रवार दोपहर सेक्टर-31 स्थित घर के बाहर से ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद कोर्ट में पेश कर 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। केंद्रीय मंत्री को ब्लैकमेल करने में यह चौथी गिरफ्तारी है। इससे पहले, महिला पत्रकार नीशू और बाद में आलोक व निशा नामक युवती की गिरफ्तारी हुई थी। अभी खालिद की गिरफ्तारी बाकी है। इसके अलावा पूर्व डीएसपी की भूमिका भी अभी संदेह के घेरे में है। 
 

आरोपियों की 10 करोड़ रुपए की ब्लैकमेलिंग करने की थी साजिश :
केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा को ब्लैकमेल करने का 22 अप्रैल को खुलासा हुआ था। उस समय सेक्टर-27 स्थित केंद्रीय मंत्री के अस्पताल में ही महिला पत्रकार नीशू एक लेटर लेकर आई थी। इसके साथ आलोक व खालिद नामक पत्रकार भी था लेकिन दोनों बाहर ही रह गए थे। नीशू ने जिस लेटर को केंद्रीय मंत्री को दिया था उसमें एक स्टिंग वीडियो का जिक्र करते हुए दो से तीन दिन में 2 करोड़ और फिर बाद में 10 करोड़ देने की मांग की गई थी। केंद्रीय मंत्री ने तुरंत इसकी जानकारी एसएसपी को दे दी थी। एसएसपी वैभव कृष्ण समेत कई पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचकर नीशू के पास से लेटर व वीडियो समेत हिडन कैमरा भी बरामद कर लिया था।

 

शक के आधार पर उस समय भी उषा ठाकुर से हुई थी पूछताछ :

22 अप्रैल को जब महिला नीशू को गिरफ्तार किया गया था उसी दिन उषा ठाकुर भी अपने परिवार में किसी का इलाज कराने के लिए अस्पताल में आई थीं। चूकिं उषा ठाकुर ने ही आरोपी आलोक को केंद्रीय मंत्री से मिलवाया था इसलिए शक के आधार पर पुलिस ने उसी दिन पूछताछ की थी। मगर कोई सबूत नहीं मिलने पर छोड़ दिया गया था। इसके बाद पुलिस ने जब मुख्य आरोपी आलोक व उसकी दूसरी महिला साथी निशा को कोलकाता से गिरफ्तार किया तब दोनों से पुलिस रिमांड में पूछताछ की गई थी। इस दौरान आलोक ने पुलिस को बयान दिया कि उषा ठाकुर ने ही साजिश बनाई थी और वह अपने साथियों से मिलकर अंजाम दिया था।

 

नोएडा की जानी-मानी समाजसेविका हैं उषा ठाकुर :

उषा ठाकुर की पहचान नोएडा की जानी-मानी समाजसेविका के रूप में है। वह राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की नातिन हैं। इन्होंने नोएडा के निठारी से लापता हो रहे बच्चों के परिजनों को न्याय दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। वह सीएम से लेकर गृह मंत्रालय तक जाकर लापता हो रहे बच्चों की तलाश कराने के लिए परिजनों की मुलाकात कराई थी। जिसके बाद जांच तेज हुई थी और फिर दिसंबर 2006 में निठारी कांड का खुलासा हुआ था।

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543