--Advertisement--

दिल्ली / विंटेज कारों का भी हो सकेगा रि-रजिस्ट्रेशन और फिटनेस, लेकिन सिर्फ रैली और प्रदर्शनी में चल सकेंगी



Vintage cars re-registrations
X
Vintage cars re-registrations

  • फिटनेस व रि-रजिस्ट्रेशन मिलने से बीमा भी हो सकेगा
  • 15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल गाड़ियों पर प्रतिबंध के चलते गैराज में खड़ी हैं करीब दो हजार विंटेज कारें

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 06:16 AM IST

नई दिल्ली. राजधानी में विंटेज या एंटीक कार सड़क पर उतारने की बाधा जल्द दूर हो जाएगी। परिवहन विभाग इन कारों को फिटनेस सर्टिफिकेट देने के अलावा रि-रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी देगा। विभाग ने एनजीटी के 18 दिसंबर 2017 के आदेश का हवाला देकर एक सर्कुलर जारी करके एंटीक (विंटेज) कारों के रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था वाहन सॉफ्टवेयर में करने के निर्देश सिस्टम एनालिस्ट को दिए हैं। 

 

सॉफ्टवेयर में सुधार के बाद रजिस्ट्रेशन शुरू हो जाएगा।  परिवहन विभाग की उपायुक्त (परिचालन) आशा चौधरी मल्होत्रा ने सर्कुलर में एनजीटी के आदेश का हवाला देकर साफ किया है कि एंटीक वाहनों को सिर्फ रैली और प्रदर्शनी में जाने की शर्त के साथ रजिस्ट्रेशन दिया जाएगा। सामान्य तौर पर दिल्ली की सड़क पर इन्हें रेगुलर चलने की छूट नहीं होगी। दिल्ली में करीब दो हजार विंटेज कारें हैं जो एनजीटी के 10 साल पुराने डीजल व 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध के कारण लोगों की गैराज में खड़ी हैं।   
 

ट्रैफिक पुलिस व चालान के डर से नहीं ले जाता हूं :  
विंटेज कारों के शौकीन सचिन के पास 1952 मॉडल की विल्ली जीप है, जो गैराज में 2014 से खड़ी है। सचिन कहते हैं कि विंटेज कार है, जिसे कई बार शादी या शौक में कहीं ले जाना चाहूं तो डर के कारण नहीं ले जाता। अब फिटनेस सर्टिफिकेट मिलेगी और इंश्योरेंस होगा तो अच्छी बात है। उन्होंने दो विंटेज कारों के नंबर नए वाहन पर भी ले लिए हैं।

 

1934 की कार को नई सीरिज में मिले रजिस्ट्रेशन :
हेरिटेज मोटरिंग क्लब ऑफ इंडिया के सदस्य ज्ञान शर्मा कहते हैं कि ट्राइंफ गाड़ी 1970 मॉडल की है, जो तीन साल बाद विंटेज हो जाएगी। इसी तरह 1928 मॉडल की ऑस्टिन और 1934 मॉडल की बलिमा है। अब इन्हें फिटनेस और रि-रजिस्ट्रेशन मिलेगा तो सड़क पर आ सकेगी। बीमा हो सकेगा और शौक भी पूरा होगा। यह एक अच्छा प्रयास है।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..