• Hindi News
  • Career
  • 50 students were expelled in the first day of Bihar board matriculation examinations, maximum number is in nalanda

बिहार बोर्ड / बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा के पहले दिन नकल करते पकड़ाएं 50 छात्र, सबसे ज्यादा नालंदा से सामने आए मामले

50 students were expelled in the first day of Bihar board matriculation examinations, maximum number is in nalanda
X
50 students were expelled in the first day of Bihar board matriculation examinations, maximum number is in nalanda

दैनिक भास्कर

Feb 18, 2020, 11:37 AM IST

एजुकेशन डेस्क. पूरे प्रदेश में चल रही नियोजित शिक्षकों की हड़ताल के बीच सोमवार से बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा शुरू हो गई है। बिना किसी गड़बड़ी के परीक्षा संचालन के लिए के लिए बिहार बोर्ड ने नियमित शिक्षक और अनुदानित कॉलेज और स्कूलों के शिक्षकों की नियुक्ति की गई है। राज्यभर के नियोजित शिक्षकों ने 17 फरवरी से हड़ताल पर जाने की घोषणा की थी। 

नकल करते पकड़ाएं 50 परीक्षार्थी

बिहार बोर्ड एग्जाम के पहले दिन विज्ञान की परीक्षा में पूरे राज्य से 50 परीक्षार्थी नकल के आरोप में निष्कासित किया गया। राज्य में सबसे ज्यादा नालंदा जिले से 12 परीक्षार्थियों को निष्कासित किया गया है। वहीं, आज मंगलवार को मैथ्य की परीक्षा आयोजित की जा रही है।

किस जिले में कितनों पकड़ाएं

रोहतास 06
पटना 01
सीवान 01
नालंदा 12
भोजपुर 03
अरवल 02
प. चंपारण 02
सारण 03
मधुबनी 06
मुंगेर 01
जमुई 02
समस्तीपुर 02
सहरसा 02
वैशाली 02
लखीसराय 02
मधेपुरा 03


 

दो शिफ्ट में हुए एग्जाम
बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा 17 से 24 फरवरी तक चलेंगी। इस साल परीक्षा में कुल 15 लाख 29 हजार 393 परीक्षार्थी शामिल होंगे, जिसके लिए 1368 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि स्टूडेंट्स की संख्या ज्यादा होने की वजह से दो पालियों में परीक्षा आयोजित की जाएगी। पहली पाली में सुबह 9.30 से 12.15 बजे तक होगी, जिसमें सात लाख 74 लाख 415 स्टूडेंट्स शामिल होंगे। वहीं, दूसरी पाली दोपहर 1.45 से 4.30 बजे तक आयोजित होगी,जिसमें सात लाख 54 हजार 978 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षार्थियों को पहली पाली में 9.20 और दूसरी पाली में 1.35 के बाद प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

गड़बड़ी करने पर सख्त कार्रवाई
वहीं नकल पर लगाम लगाने के लिए परीक्षार्थियों को निर्देश दिए गए है कि वे जूते-मोजे पहनकर नहीं आएं। एग्जाम के दौरान परीक्षा केंद्र में एडमिट कार्ड और पेन के अलावा कुछ भी नहीं ले जाने दिया जाएगा। इसके अलावा परीक्षा के समय सभी केंद्रों के बाहर दो सौ मीटर की दूरी तक धारा 144 लागू रहेगी। साथ ही नगर विकास और आवास विभाग ने सभी नगर निगम के महापौर, नगर परिषद व नगर पंचायत के मुख्य पार्षद को आदेश दिया है कि परीक्षा के समय हड़ताल करने, परीक्षा में बाधा पहुंचाने व मूल्यांकन में सहयोग ना करने वाले शिक्षकों पर सख्त कार्रवाई की जाए। छात्राओं की तलाशी के लिए हर केंद्र में महिला पुलिसकर्मी की तैनाती भी की गई है। इसके अलावा सभी केंद्रों पर महिला अधीक्षक, महिला केंद्राधीक्षक, महिला पदाधिकारी और कर्मी मौजूद रहेंगी।

प्रश्न पत्र पढ़ने के लिए मिलेंगे 15 मिनट
परीक्षा के दौरान स्टूडेंट्स को प्रश्न पत्र पढ़ने और निर्देश को समझने के लिए 15 मिनट का एक्सट्रा समय दिया जाता है। वहीं परीक्षार्थी को आंसर शीट के बाएं और दाएं भाग को ही भरना होगा। उत्तर पुस्तिका के बीच वाले या मध्य भाग परीक्षार्थी को नहीं भरना है। बोर्ड के मुताबिक अगर कोई परीक्षार्थी बीच वाले भाग के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ करता है तो उस विषय की परीक्षा रद्द कर दी जाएगी।
 

इन बातों का रखें ध्यान

  • आंसर शीट मिलने के बाद एडमिट कार्ड में दिए गए विवरण का मिलान कर लें।
  • आंसर शीट के पहले बाएं भाग में परीक्षार्थी को सिर्फ विषय का नाम और आंसर देने वाली भाषा का नाम लिखना है।  
  • आंसर शीट के प्रथम पृष्ठ के दाएं भाग में प्रश्न पत्र के सेट कोड को दिए गए बाक्स में लिखें ।
  • आंसर शीट के क्रम वाइज पेज की गिनती जरूर करें।  
  • कॉपी के पन्नों को न मोड़ें और न ही फाड़ें, प्रश्न पत्र में दी गई संख्या के अनुसार उत्तर लिखें।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना