• Hindi News
  • Career
  • Career Guidance: Nutritionist is an excellent option to make a career in Health Industry without doing MBBS

करियर गाइडेंस / बिना एमबीबीएस हेल्थ इंडस्ट्री में कॅरिअर बनाने का बेहतरीन विकल्प है न्यूट्रीशनिस्ट

Career Guidance: Nutritionist is an excellent option to make a career in Health Industry without doing MBBS
X
Career Guidance: Nutritionist is an excellent option to make a career in Health Industry without doing MBBS

  • एसोचैम की रिपोर्ट के मुताबिक 2015 में भारत में न्यूट्रीशन इंडस्ट्री का आकार 2.8 बिलियन डॉलर था। 
  • अगले दो सालों में ही यानी साल 2022 तक यह सेक्टर 300% की दर से ग्रोथ कर 8.5 बिलियन डॉलर तक पहुंच सकता है। 

दैनिक भास्कर

Jan 28, 2020, 05:52 PM IST

एजुकेशन डेस्क. हाल ही में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्सेस में प्रवेश के लिए होने वाली नीट(नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट) परीक्षा की आवेदन प्रक्रिया खत्म हुई है। हेल्थ को भारत में एक ड्रीम कॅरिअर माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि एमबीबीएस के जरिए ही हेल्थ इंडस्ट्री में कॅरिअर की बेहतर शुरुआत की जा सकती है, लेकिन यह पूरी तरह सही नहीं है। ऐसे कई अन्य विकल्प भी हैं, जिनके जरिए हेल्थ की फील्ड में सफलता हासिल की जा सकती है। ऐसा ही एक विकल्प है, न्यूट्रीशनिस्ट।

न्यूट्रीशन को आमतौर पर लाइफस्टाइल से जुड़ी फील्ड के रूप में देखा जाता है जबकि इसका एक दूसरा पहलू भी है। दुनिया भर में माल न्यूट्रीशन यानी कुपोषण आज भी एक बड़ी समस्या है। इससे निजात पाने के लिए सरकारों के साथ ही संयुक्त राष्ट्र जैसी अंतरराष्ट्रीय स्तर की संस्थाएं भी काम कर रही हैं। नतीजतन कुपोषण की समस्या के समाधान के तौर पर विभिन्न योजनाओं को जमीनी स्तर पर लागू करने के लिए न्यूट्रीशन एक्सपर्ट्स की मांग भी लगातार बढ़ रही है। आइए जानिए न्यूट्रीशनिस्ट निधि शुक्ला पांडे से न्यूट्रीशन में बेहतर कॅरिअर के नए अवसरों और कोर्सेस के विकल्प।

ग्रेजुएशन के एंट्रेंस में मदद करेगी साइंस स्ट्रीम

  • साइंस स्ट्रीम से 10+2 करने के बाद आप न्यू्ट्रीशन सब्जेक्ट से बीएससी कर सकते हैं। हालांकि देश में कई इंस्टीट्यूट्स ऐसे भी हैं जहां इस कोर्स के लिए साइंस स्ट्रीम होना अनिवार्य नहीं है। अगर आपने स्कूलिंग में साइंस और मैथ्स को अनिवार्य विषय के रूप में पढ़ा है तो इस कोर्स के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा की तैयारी में आपको आसानी होगी।
  • कोर्सेस के विकल्प- क्लीनिकल न्यूट्रीशन, न्यूट्रीशन एंड डायेटिक्स, फूड साइंस एंड न्यूट्रीशन, अप्लाइड न्यूट्रीशन, डायेटिक्स, न्यूट्रीशन एंड फूड साइंस विषयों से बीएससी कर सकते हैं।

अन्य विषयों के ग्रेजुएट्स भी कर सकते हैं पीजी

  • न्यूट्रीशन में एमएससी के अलावा इस विषय की कई स्पेशलाइजेशंस भी हैं, जिनमें आप पीजी कर सकते हैं। वे स्टूडेंट्स भी न्यूट्रीशन के एमएससी कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं जिन्होंने डायेटिक्स, फूड साइंस, बायोलॉजी और माइक्रोबायोलॉजी जैसे विषयों से ग्रेजुएशन किया है।
  • कोर्सेस के विकल्प - होम साइंस, क्लीनिकल न्यूट्रीशन, पीडियाट्रिक न्यूट्रीशन, पब्लिक हेल्थ न्यूट्रीशन, स्पोर्ट्स न्यूट्रीशन, स्पोर्ट्स डायेटिक्स, ग्रोंटोलॉजिकल न्यूट्रीशन।

पीएचडी के भी हैं विकल्प
न्यूट्रीशन सब्जेक्ट से पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद अगर आप रिसर्च और एकेडमिक्स में कॅरिअर बनाना चाहते हैं तो देश में कई बेहतर इंस्टीट्यूट्स हैं जहां से इस सब्जेक्ट से पीएचडी भी कर सकते हैं। इसमें फूड, नरिशमेंट, प्रॉडक्शन, प्रिजर्वेशन, सेफगार्ड जैसे पहलुओं की इनडेप्थ स्टडी करने को मिलती है।

न्यूट्रीशनिस्ट की पढ़ाई के टॉप इंस्टीट्यूट

  • ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हाइजीन एंड पब्लिक हेल्थ
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रीशन, हैदराबाद
  • यूनिवर्सिटी ऑफ मुंबई
  • क्वांटम स्कूल ऑफ हेल्थ साइंस, देहरादून
  • लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, पंजाब
  • जेडी बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ होम साइंस
  • मणिपाल यूनिवर्सिटी, कर्नाटक
  • यूनिवर्सिटी ऑफ मद्रास

यहां हैं कॅरिअर के अवसर

  • कई बार दवाइयों से ज्यादा महत्व डाइट का होता है। यही वजह है कि मेट्रो सिटीज में बड़े पैमाने पर अस्पतालों में न्यूट्रीशनिस्ट की मांग बढ़ रही है।
  • स्कूल्स में मील प्लानिंग के लिए न्यूट्रीशनिस्ट नियुक्त किए जाते हैं।
  • स्पोर्ट्स एकेडमी, फिटनेस सेंटर आदि में डाइट प्लानिंग के लिए न्यूट्रीशनिस्ट नियुक्त किए जाते हैं।
  • कॉर्पोरेट में इन-हाउस न्यूट्रीशिन एक्सपर्ट्स हायर किए जाते हैं।
  • फूड इंडस्ट्री में क्वालिटी की मॉनिटरिंग का जिम्मा न्यूट्रीशनिस्ट्स का ही होता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना