पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Career
  • These Big Changes In The Pattern Of Board Exam, New Question Papers Will Be Based On Creativity

बोर्ड परीक्षा के पैटर्न में बड़ा बदलाव, क्रिएटिविटी पर आधारित होंगे नए प्रश्न पत्र

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नए शिक्षा नीति का लक्ष्य व्यावसायिक विषय और मुख्य विषय के बीच के अंतर को समाप्त करना है
Advertisement
Advertisement

एजुकेशन डेस्क. केंद्रिय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने विद्यार्थिओं की क्रिएटिविटी को बढावा देने के लिए 10वीं और 12वीं परीक्षा पैटर्न में बड़े परिवर्तन किए हैं। नए पैटर्न में बोर्ड परीक्षा में अब हर विषय के पेपर में 1 नंबर वाले 25 फीसदी ऑप्शनल सवाल पूछे जाएंगे।
 
लोकसभा में सांसद केशरी देव पटेल और चिराग पासवान द्वारा उठाए गए सवाल के जवाब देते हुए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 2019-20 सेशन से 10वीं और 12वीं कक्षा के पैटर्न में बदलाव छात्रों की सोचने की क्षमता को बढ़ाने के लिए किए गया हैं। CBSE के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने कहा कि देश के भविष्य को ध्यान में रखते हुए ऐसा करना वक्त की जरूरत है।

भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग मंडल (एसोचैम) द्वारा आयोजित शिक्षा शिखर सम्मेलन में त्रिपाठी ने कहा, ‘‘इस साल जहां 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों को 20 फीसदी वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को हल करना होगा, वहीं 10 फीसदी सवाल रचनात्मक विचार पर आधारित होंगे. वहीं 2023 तक 10वीं और 12वीं कक्षाओं के प्रश्नपत्र रचनात्मकता, आलोचनात्मक और विश्लेषण पर आधारित होंगे''।
 
उन्होंने कहा कि भारत में बिजनेस सब्जेक्ट के ज्यादा स्टूडे्ंट नहीं मिलते है जिसका कारण स्थिरता की कमी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं होना है। इसके अलावा त्रिपाठी ने शिक्षा प्रणाली में बुनियादी ढ़ांचे, शिक्षकों, अभिभावकों और विद्यार्थियों के बीच संबंध को बढ़ावा देना बेहद जरूरी है। 
 
नए शिक्षा नीति का लक्ष्य व्यावसायिक विषय और मुख्य विषय के बीच के अंतर को समाप्त करना है। 

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज वित्तीय स्थिति में सुधार आएगा। कुछ नया शुरू करने के लिए समय बहुत अनुकूल है। आपकी मेहनत व प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। विवाह योग्य लोगों के लिए किसी अच्छे रिश्ते संबंधित बातचीत शुर...

और पढ़ें

Advertisement