पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

केरल के मिनी इंडिया से रिपोर्ट:मट्‌टानचेरी में गुजराती से लेकर बंगाली तक 18 भाषाएं बोलने वाले रहते हैं, लेकिन CPM के खिलाफ खुलकर बोलने से डरते हैं

कोच्चिएक महीने पहलेलेखक: गौरव पांडेय
  • कॉपी लिंक
मट्‌टानचेरी स्थित ज्यू टाउन को शॉपिंग हब के रूप में जाना जाता है। खासकर के पुरानी और ऐतिहासिक महत्व की चीजों की खरीदारी के लिए देशभर से लोग यहीं आते हैं। - Dainik Bhaskar
मट्‌टानचेरी स्थित ज्यू टाउन को शॉपिंग हब के रूप में जाना जाता है। खासकर के पुरानी और ऐतिहासिक महत्व की चीजों की खरीदारी के लिए देशभर से लोग यहीं आते हैं।

कोच्चि सीट का मट्‌टानचेरी टाउन, शहर से करीब 10 किमी दूर आइलैंड पर बसा है। 20 हजार से ज्यादा लोग यहां रहते हैं, लेकिन यह इलाका यहां मिनी इंडिया के नाम से भी मशहूर हैं। ऐसा इसलिए, क्याेंकि इस टाउन में आपको कश्मीरी, गुजराती, तमिल, तेलगु, असमी, मणिपुरी, कन्नड़, मराठी, हिंदी, बंगाली, कोंकणी, मलयालम, जैन, यहूदी, क्रिश्चियन, ऊर्दू, एंग्लो इंडियन समेत 18 भाषा बोलने वाले लोग एक साथ रहते हुए मिल जाएंगे। कोचीन यहूदी, जिन्हें देश का सबसे पुराना यहूदी ग्रुप माना जाता है, उस समुदाय के अब देश में सिर्फ 26 यहूदी बचे हैं, जिनमें से दो यहीं रहते हैं। देश में यहूदी सबसे पहले यहीं मट्‌टानचेरी में आए थे।

मट्‌टानचेरी में जिस तरह अलग-अलग भषाएं हैं, उसी तरह अलग-अलग पार्टियों के समर्थक भी हैं। मट्‌टानचेरी के हर गली, तिराहे और चौराहे पर आपको अलग-अलग पोलों पर अलग-अलग पार्टियों के झंडे लहराते मिलेंगे। यहां की गलियां समुदायों के लोगों के नाम से जानी जाती हैं। जैसे-अमरावती, गुजराती, जैन, यहूदी, एंग्लो-इंडियन आदि।

तस्वीर मट्‌टानचेरी स्थित तिरुमाला देवासोम मंदिर की है। यहां भगवान वेंकेटेश्वर को पालकी में ले जाया जा रहा है। यह केरल के सारस्वत ब्राह्मणों का सबसे बड़ा धार्मिक स्थल है।
तस्वीर मट्‌टानचेरी स्थित तिरुमाला देवासोम मंदिर की है। यहां भगवान वेंकेटेश्वर को पालकी में ले जाया जा रहा है। यह केरल के सारस्वत ब्राह्मणों का सबसे बड़ा धार्मिक स्थल है।

ज्यू मार्केट में चाय-नाश्ते की दुकान चलाने वाले मधुकर कमल कोंकणी समुदाय से आते हैं। बात केरल से लेकर तमिलनाडु चुनाव तक की करते हैं। कहते हैं- मैं सारस्वत ब्राह्मण हूं। हम लोग गोवा से आए थे। यहां के लोग बहुत समझदार हैं, सबकुछ सोच-समझकर वोट करते हैं। केरल के लोग तमिल जैसे थोड़े हैं कि चावल, साड़ी, पैसे और टीवी लेकर किसी को वोट कर देंगे। हम कोंकणी यहां BJP को ही वोट करते हैं, भले ही वो विधानसभा न जीते, लेकिन हमारे चेरलाई इलाके का काउंसलर 35 साल से BJP का ही है। इस बार यहां से कांग्रेस ही जीतेगी, लेकिन कम्युनिस्टों ने गजब गंद मचा रखी है, धंधा अपने लोगों को ही देती है, नौकरी भी अपने लोगों को देती है और सरकार गोल्ड स्मगलिंग करती है।

मधुकर कमल कोंकणी समुदाय से आते हैं और सारस्वत ब्राह्मण हैं। वे कहते हैं कि BJP जीते या नहीं, हम लोग हमेशा उसी को वोट करते हैं।
मधुकर कमल कोंकणी समुदाय से आते हैं और सारस्वत ब्राह्मण हैं। वे कहते हैं कि BJP जीते या नहीं, हम लोग हमेशा उसी को वोट करते हैं।

अनूप अमरावती एसोसिएशन के महासचिव हैं। कहते हैं कि यहां 350 अमरावती परिवार रहते हैं। मैं यहां अपना NGO चलाता हूं। अभी चुनाव में कौन जीतेगा, कुछ कहा नहीं जा सकता है, लेकिन हम लोगों का काम-धंधा यहां बुरी तरह से डैमेज हुआ, अब जाकर लोग लौट रहे हैं।

कश्मीर के नसीम यहां 12 साल से रहते हैं। वोट किसे देंगे, इस सवाल पर सामने खड़े दूसरे साथी को आंख मारते हुए कहते हैं कि वोट हम CPM को देंगे। यहां की सरकार जे एंड के से तो अच्छी ही है। बाद में दूसरे साथी ने बताया कि हम यहां CPM के खिलाफ कुछ बोल नहीं सकते हैं। ऐसा इसलिए कहना पड़ता है कि क्योंकि हर गली में ट्रेड यूनियंस से जुड़े लोग घूम रहे होते हैं।

तस्वीर मट्‌टानचेरी स्थित आवर लेडी ऑफ लाइफ चर्च की है। यहां अच्छी तादाद में क्रिश्चियन वोटर्स भी रहते हैं।
तस्वीर मट्‌टानचेरी स्थित आवर लेडी ऑफ लाइफ चर्च की है। यहां अच्छी तादाद में क्रिश्चियन वोटर्स भी रहते हैं।

धर्मेश यहां गुजराती गली में मिठाई की दुकान चलाते हैं, कहते हैं कि मैं पैदाइशी यहीं का हूं। साल में एकाध बार गुजरात जाते हैं। कहते हैं कि सालों से हम मलयाली लोगों को गुजराती फूड खिला रहे हैं। किस पार्टी को वोट देंगे? इस सवाल पर कहते हैं कि ऐसा इधर बोल नहीं सकते हैं, लेकिन भइया हम तो मोदी के समर्थक हैं। यहां ढाई हजार गुजराती घर हैं। विजयन सरकार कैसा कर रही है? इस पर कहते हैं कि कुछ कह नहीं सकता हूं, लेकिन सेफ्टी नहीं है।

इब्राहिम यहां की सबसे पुरानी मसाला मार्केट में दुकान के आगे कुर्सी लगाकर बैठे हैं। चुनाव पर बात करते ही कहते हैं कि मैं 65 साल से यहीं पर रह रहा हूं। यहां पीसफुल माहौल है, लोग बहुत खुश हैं। कोई दिक्कत नहीं है। यहां तो LDF ही आने वाली है, इसमें कोई शक नहीं है। अब लोगों के समझ में आ गया है कि लोगों के लिए कुछ करोगे, तभी रहोगे। इस बार उन्होंने कदम जमा दिया है। अपोजीशन अनाप-शनाप बोल रहा है। कोई इश्यू नहीं है, इंडिया के बाकी हिस्सों की तुलना में यहां सबकुछ अच्छा है।

मूल रूप से कश्मीर के रहने वाले नसीम कपड़े की दुकान चलाते हैं। वे पिछले 12 साल से यहां रह रहे हैं।
मूल रूप से कश्मीर के रहने वाले नसीम कपड़े की दुकान चलाते हैं। वे पिछले 12 साल से यहां रह रहे हैं।

एंग्लो इंडियन के निविंग ह्यूबर्ट हाल ही में यहां से काउंसलर पद के लिए BJP के टिकट पर मैदान में थे। वे कहते हैं कि पहली बार BJP इस माइनॉरिटी कम्युनिटी वाले वार्ड में लड़ी थी। मैं चौथे नंबर पर रहा था। दरअसल, BJP की माइनॉरिटी इलाके में पैठ बहुत कमजोर है। कैथोलिक क्रिश्चियन BJP को वोट दे रहे हैं, इस सवाल पर वे कहते हैं कि तभी तो मुझे 240 वोट मिले, उस इलाके में 90% क्रिश्चियन रहते हैं। जैन मंदिर कैंपस में खड़ी रेखा कहती हैं कि अभी तो यहां इश्यू पेट्रोल और डीजल का दाम है। मोदी जी यदि पेट्रोल-डीजल के दाम कम करेंगे तो उनके जीतने के अवसर बढ़ जाएंगे। हम लोग हमेशा से BJP वाले ही हैं।

मट्‌टानचेरी की एक खासियत और है। यहां हर गली में आपको अलग-अलग धर्मों और समुदाय के लोगों से जुड़े मंदिर, चर्च, मस्जिद देखने को मिल जाएंगे। यहां कोच्चि का सबसे बड़ा तिरुमाला मंदिर और सबसे पुराना चर्च और मस्जिद भी है। गुजराती, जैन समुदाय के भी मंदिर हैं। यहूदी और डच चर्च भी हैं। इतनी विविधताओं के बीच माहौल पूरी तरह से चुनावी है, आपको नेशनल से लेकर इंटरनेशल इश्यू पर चर्चा करने वाले लोग यहां आसानी से मिल जाएंगे।

निविंग ह्यूबर्ट BJP के टिकट पर काउंसलर पद का चुनाव लड़ चुके हैं। उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। वे चौथे स्थान पर रहे थे।
निविंग ह्यूबर्ट BJP के टिकट पर काउंसलर पद का चुनाव लड़ चुके हैं। उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। वे चौथे स्थान पर रहे थे।

कोच्चि सीट पर 40% क्रिश्चियन वोटर्स ही हार-जीत का फैसला करते हैं

कोच्चि सीट 2011 में बनी। पहली बार कांग्रेस ने यहां कब्जा किया था। 2016 के चुनाव में CPM के केजे मैक्सी विजयी हुए। कोच्चि में 1.77 लाख वोटर्स हैं। महिला वोटर्स की संख्या पुरुषों से ज्यादा है। इस बार यहां CPM से मैक्सी, कांग्रेस से टोनी चाम्मानी और BJP से सीजी राजागोपाल उम्मीदवार हैं। इस सीट पर करीब 40% क्रिश्चियन वोटर्स हैं, वही यहां हार-जीत का फैसला करते हैं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

और पढ़ें