पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उत्तर बंगाल की 10 सीटों से रिपोर्ट:कभी वामदलों का गढ़ रहे इस इलाके में BJP मजबूत; गोरखा कम्युनिटी को लुभाने में जुटी TMC, राहुल गांधी भी कर चुके हैं रैली

नक्सलबाड़ी/सिलीगुड़ीएक महीने पहलेलेखक: मधुरेश/ अमरेंद्र कुमार
  • कॉपी लिंक

उत्तर बंगाल का इलाका अपने आप में राजनीति की कई परतों को समेटे हुए है। चाहे उत्तर बंगाल का सबसे बड़ा कॉमर्शियल सेंटर बन चुका सिलीगुड़ी हो या व्यवस्था के खिलाफ हथियारबंद विद्रोह का पर्याय बन चुका नक्सलबाड़ी। यहां हर सीट की अपनी एक कहानी है। सिलीगुड़ी समेत आस-पास की 10 सीटों मायनागुड़ी, जलपाईगुड़ी, राजगंज, डाबग्राम फुलवारी, नगरा काटा, माल, माटीगारा-नक्सलबाड़ी, फांसीदेवा और धुपगुरी में 17 अप्रैल को मतदान होना है।

सबसे खास बात ये है कि कभी वामदलों का गढ़ रहे इस इलाके में लगभग हर सीट पर भाजपा कड़ी टक्कर दे रही है। टीएमसी हो या लेफ्ट-कांग्रेस का संयुक्त मोर्चा दोनों ही अपना मुख्य प्रतिद्वंद्वी भाजपा को मानते हैं। नक्सलबाड़ी की बात करें तो कांग्रेस-सीपीएम के सीटिंग विधायक शंकर मालाकार हों या टीएमसी के राजेन सुंदास, दोनों अपना मुकाबला भाजपा से मानते हैं। भाजपा ने अपने पुराने खिलाड़ी आनंदमय वर्मन पर दांव आजमाया है। टीएमसी ने आखिरी समय में उम्मीदवार बदला। नलिनी रंजन राय को हटाकर राजेन को टिकट दिया।

उत्तरी दिनाजपुर में रोड शो के दौरान गृहमंत्री अमित शाह।
उत्तरी दिनाजपुर में रोड शो के दौरान गृहमंत्री अमित शाह।

इस बदलाव के पीछे बिमल गुरुंग का दिमाग रहा। मकसद यही कि इससे गोरखा समुदाय के लोग टीएमसी की तरफ और झुकेंगे, जिससे इस समुदाय के असर वाली कई सीटों को जीतने में सहूलियत होगी। नक्सलबाड़ी में लेनिन, स्टालिन, माओ, लीन प्याओ, चारु मजूमदार, सरोज दत्ता एवं महादेव मुखर्जी की प्रतिमाएं एक साथ, एक कतार में हैं। नक्लबाड़ी आंदोलन में शहीद हुए लोगों का स्मारक है, लेकिन इलाका, बेहतर जीवन की जरूरतों का खुला तगादा है।

पिछले दिनों इन क्षेत्रों में पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर अमित शाह, योगी आदित्यनाथ और ममता बनर्जी ही नहीं, राहुल गांधी तक अपनी चुनावी सभा कर गए हैं। राहुल ने दो विधानसभा सीटों माटीगरा-नक्सलबाड़ी और उत्तरी दिनाजपुर में सभा की।

माटीगरा में चुनावी सभा के दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी।
माटीगरा में चुनावी सभा के दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी।

राजवंशी, आदिवासी, गोरखा, बंगाली और बिहारी की बहुलता वाले इन क्षेत्रों में सिलीगुड़ी सीट ही एक ऐसा क्षेत्र है जहां सीपीएम का पलड़ा भारी लग रहा है। सिलीगुड़ी में सीपीएम व संयुक्त मोर्चा के प्रत्याशी अशोक भट्टाचार्य और भाजपा के शंकर घोष के बीच मुकाबला है। वामदल के इस गढ़ में भट्‌टाचार्या का पलड़ा इस दौर में भी भारी दिखता है। वैसे टीएमसी के ओम प्रकाश मिश्रा भी संघर्ष में आने के लिए जोर लगा रहे हैं। शंकर घोष हाल ही में माकपा से भाजपा में शामिल हुए हैं। उनकी पहचान भट्‌टाचार्य के शिष्य के रूप में थी। अब वे उन्हें कड़ा मुकाबला दे रहे हैं। वामदल की सरकार में भट्‌टाचार्य 4 बार मंत्री रह चुके हैं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

और पढ़ें