• Hindi News
  • Election
  • Delhi Election
  • Manish Sisodia Result | AAP Party Manish Sisodia Patparganj Election Results Latest News and Updates; All You Need to Know About Delhi deputy chief minister

दिल्ली नतीजे / मनीष सिसोदिया ने लगाई जीत की हैट्रिक, पत्रकार से दिल्ली के डिप्टी सीएम तक का सफर तय किया

मनीष सिसोदिया ने भाजपा उम्मीदवार रविंद्र सिंह नेगी को 3207 वोटों से हराया। मनीष सिसोदिया ने भाजपा उम्मीदवार रविंद्र सिंह नेगी को 3207 वोटों से हराया।
X
मनीष सिसोदिया ने भाजपा उम्मीदवार रविंद्र सिंह नेगी को 3207 वोटों से हराया।मनीष सिसोदिया ने भाजपा उम्मीदवार रविंद्र सिंह नेगी को 3207 वोटों से हराया।

  • उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पटपड़गंज सीट से भाजपा प्रत्याशी रविंद्र नेगी को हराया
  • चुनाव में आप के लिए शिक्षा बड़ा मुद्दा रहा, सिसोदिया की पहचान दिल्ली में इसकी दशा और दिशा बदलने की

दैनिक भास्कर

Feb 11, 2020, 09:02 PM IST

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पटपड़गंज सीट से जीत की हैट्रिक लगाई है। उन्होंने कड़े मुकाबले में भाजपा उम्मीदवार रविंद्र सिंह नेगी को 3207 वोटों से हराया। मनीष सिसोदिया को 69974 वोट मिले, जबकि दूसरे नंबर पर रहे नेगी ने 66703 वोट हासिल किए। तीसरे नंबर पर कांग्रेस प्रत्याशी लक्ष्मण रावत रहे हैं। उन्हें 2767 वोट मिले हैं। इस विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने शिक्षा को सबसे बड़ा मुद्दा बनाया और मनीष सिसोदिया की पहचान दिल्ली में इसकी दिशा और दशा को बदलने की रही है।

जीत के बाद सिसोदिया ने कहा, मैं फिर से पटपड़गंज विधानसभा क्षेत्र से विधायक बनकर खुश हूं। भाजपा ने नफरत की राजनीति करने की कोशिश की, लेकिन दिल्ली के लोगों ने ऐसी सरकार चुनी जो लोगों के लिए काम करती है।

पत्रकार से डिप्टी सीएम तक का सफर

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सबसे करीबी और सरकार में नंबर दो की हैसियत रखने वाले 48 वर्षीय मनीष सिसोदिया ने पत्रकार से लेकर दिल्ली के डिप्टी सीएम तक का सफर तय किया। 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप को ऐतिहासिक जीत मिली। यहां से शिक्षा मंत्री के तौर पर सिसोदिया ने अपनी एक अलग पहचान बनाई। दिल्ली के सरकारी स्कूलों के हालात सुधारने और शिक्षा का स्तर उठाने के लिए उनको जाना जाता है। इसी के चलते उन्हें राष्ट्रपति के हाथों साल 2019 का चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड भी मिला था।

न्यूज रीडर, डॉक्यूमेंट्री मेकर और एक्टिविस्ट

मनीष सिसोदिया ने भारतीय विद्या भवन से पत्रकारिता की पढ़ाई के बाद कॅरियर की शुरुआत डॉक्युमेंटरी मेकर और न्यूज रीडर के तौर पर की थी। पत्रकार के तौर पर साल 1997 से 2005 तक न्यूज चैनल्स और ऑल इंडिया रेडियो में भी काम किया। ऑल इंडियो रेडियो के लोकप्रिय कार्यक्रम जीरो आवर को होस्ट किया करते थे।

एनजीओ का गठन किया और पहली बार केजरीवाल के साथ जुड़े

इसके बाद 2006 में सिसोदिया ने एक एनजीओ पब्लिक कॉज़ रिसर्च फाउंडेशन की शुरुआत की। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल भी इस संस्था के संस्थापक सदस्यों में से एक थे। आने वाले सालों में एक अन्य मीडिया संस्थान के साथ मिलकर ये एनजीओ कई ऐसे लोगों को सामने लेकर आया जो राइट टू इंफॉर्मेशन की दिशा में अहम काम कर रहे थे।

अन्ना के आंदोलन से जुड़े और फिर हुआ "आप" का गठन

मनीष सिसोदिया सबसे पहले 2011 में तब लाइम लाइट में आए जब भ्रष्टाचार के खिलाफ अन्ना हजारे के आंदोलन से जुड़े। इसके बाद अरविंद केजरीवाल के साथ मिलकर आम आदमी पार्टी का गठन किया। दिल्ली के सरकारी स्कूलों में हैप्पीनेस और एंटरप्रेन्योरशिप माइंडसेट करिकुलम की शुरुआत की। शिक्षा के अलावा वित्त, टूरिज्म, महिला और बाल विकास जैसे अहम विभाग संभालते सिसोदिया ने पिछले वित्त वर्ष के बजट में कई खास चीजें रखीं और इसे नाम दिया ग्रीन बजट।

विवादों से भी जुड़ा रहा नाता

कुछ विवादों में भी उनका नाम आया। हाल ही में एक घूसकांड में सीबीआई ने दिल्ली सरकार के जिस अधिकारी को पकड़ा, वो डिप्टी सीएम सिसोदिया का ओएसडी है। इस कार्रवाई पर अधिकारी का किसी तरह बचाव न करते हुए सिसोदिया ने घूसखोर अधिकारी पर सख्त एक्शन की बात की। जामिया विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के दौरान फेक न्यूज शेयर करने के आरोप में सिसोदिया पर दिल्ली की एक अदालत में आपराधिक शिकायत दर्ज की गई थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना