पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Delhi Election Result 2020 Hot Seats; Arvind Kejriwal Vs BJP Sunil Yadav, Manish Sisodia (Patparganj), Alka Lamba (Chandni Chowk), Kapil Mishra (Model Town)

10 प्रमुख सीटें: नई दिल्ली से मुख्यमंत्री केजरीवाल और पटपड़गंज से उप-मुख्यमंत्री सिसोदिया जीते; आप के बागी भाजपा के कपिल मिश्रा हारे

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रोहिणी से भाजपा के विजेंद्र गुप्ता जीते, उनके सामने इस बार सीट बचाने की चुनौती थी
  • गांधी नगर से कांग्रेस के अरविंदर सिंह लवली हार गए, वे शीला दीक्षित सरकार में मंत्री थे
  • द्वारका से लाल बहादुर शास्त्री के पोते आदर्श शास्त्री हारे, 2015 में आप के टिकट पर जीते थे

नई दिल्ली. दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से 10 सीटें ऐसी हैं, जिन पर सबकी नजर है। 2015 में इन 10 में से आम आदमी पार्टी ने 9 सीटें जीती थीं। पटपड़गंज सीट पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और राजेंद्र नगर से राघव चड्ढा को जीत मिली है। नई दिल्ली सीट से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जीत गए हैं। आप से कांग्रेस में आईं अलका लांबा चांदनी चौक सीट हार गई हैं जबकि ओखला सीट से अमानतुल्ला खान जीत गए हैं।

नई दिल्ली
यहां से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 21967 वोट से जीते। पिछले 22 साल से यहां से जीता विधायक ही दिल्ली का मुख्यमंत्री बन रहा है। 1998 से 2013 तक कांग्रेस की शीला दीक्षित यहां से विधायक और राज्य की सीएम रहीं। 2013 से अरविंद केजरीवाल यहां से जीत रहे हैं।

पटपड़गंज
यहां से उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को जीत मिली है। सिसोदिया के सामने भाजपा ने रवि नेगी तो कांग्रेस ने लक्ष्मण रावत को उतारा था। 2015 में सिसोदिया ने आप के पूर्व विधायक और भाजपा उम्मीदवार विनोद कुमार बिन्नी को 28 हजार से ज्यादा वोटों से हराया था।

राजेंद्र नगर
यहां से आप के राघव चड्ढा को जीत मिली। 2015 में राजेंद्र नगर सीट से आप के विजेंद्र गर्ग जीते थे। आप ने 2019 लोकसभा चुनाव के 3 तीन उम्मीदवारों राघव चड्ढा, आतिशी मार्लेना और दिलीप पांडेय को इस बार विधानसभा चुनाव में भी उतारा। कालकाजी से आतिशी मार्लेना 11 हजार और तिमारपुर से दिलीप पांडेय 12 हजार से ज्यादा वोटों से आगे चल रहे हैं।

रोहिणी
यहां से भाजपा के विजेंद्र गुप्ता जीत गए हैं। 2015 में जब भाजपा को सिर्फ 3 सीटें मिली थीं, इनमें रोहिणी सीट भी थी। गुप्ता 2013 में अरविंद केजरीवाल के खिलाफ नई दिल्ली सीट से चुनाव लड़े थे। हालांकि, उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। आप ने 2013 में यहां जीते राजेश बंसीवाला को एक बार फिर मैदान में उतारा है।

ओखला
यहां से आप के अमानतुल्ला खान जीत गए हैं। ओखला विधानसभा सीट में ही शाहीन बाग इलाका आता है। पूरे चुनाव में भाजपा शाहीन बाग का मुद्दा उठाती रही। इस विधानसभा में 43% मुस्लिम मतदाता हैं। दिल्ली की तीन विधासभा सीटें जहां 40% से ज्यादा मुस्लिम वोटर हैं, उनमें ओखला, सीलमपुर और मटियामहल शामिल हैं।

चांदनी चौक
यहां कांग्रेस की अलका लांबा हार गईं, उन्हें केवल 3876 वोट मिले। आप उम्मीदवार प्रहलाद सिंह साहनी 29,584 वोटों से जीते। 2015 में आप की अलका लांबा ने चार बार के विधायक प्रह्लाद सिंह को हराया था। इस बार अलका, कांग्रेस उम्मीदवार हैं। पिछली बार तीसरे नंबर पर रहे कांग्रेस के प्रह्लाद सिंह इस बार आप के टिकट पर चुनाव लड़े।

मॉडल टाउन
यहां से भाजपा के कपिल मिश्रा हार गए। मिश्रा 2015 में करावल नगर से आप के टिकट पर जीते थे। केजरीवाल सरकार में मंत्री रहे। विवादित तरीके से कैबिनेट से बाहर किए जाने के बाद आप विधायक रहते हुए लगातार अपनी सरकार पर हमलावर रहे।

बल्लीमारान
कांग्रेस के हारून यूसुफ हार गए। उन्हें आप के इमरान हुसैन ने हराया। यूसुफ 1993 से 2013 तक लगातार 5 बार यहां से विधायक रहे। शीला दीक्षित सरकार में मंत्री रहे। 2015 में भी उन्हें आप के इमरान ने हराया था। 

द्वारका
द्वारका से लाल बहादुर शास्त्री के पोते आदर्श शास्त्री हारे। इस सीट से आप के विनय मिश्रा ने 14387 वोटों से जीत दर्ज की। आदर्श 2015 में आप के टिकट पर यहां से जीते थे। उन्होंने चार बार के विधायक कांग्रेस के महाबल मिश्रा को हराया था। भाजपा ने एक बार फिर द्वारका से दो बार विधायक रहे प्रद्युम्न राजपूत को उतारा था।

गांधी नगर
यहां से कांग्रेस के अरविंदर सिंह लवली हार गए। वे शीला दीक्षित सरकार में मंत्री रहे थे। यहां से चार बार विधायक रहे लवली 2017 में भाजपा में चले गए थे। 2018 में उनकी कांग्रेस में दोबारा वापसी हुई। 2015 में उन्हें आप के अनिल कुमार वाजपेयी ने हराया था। यहां से भाजपा के अनिल कुमार वाजपेई ने 6079 वोटों से जीत दर्ज की। लवली को 21818 वोट मिले।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें