‘आप’ में टिकट कटने से बगावत / विधायक एनडी शर्मा ने सिसाेदिया पर टिकट के लिए 10 कराेड़ रुपए मांगने का आरोप लगाया

टिकट कटने से नाराज विधायकों को मनाने के लिए संजय सिंह ने कवायद शुरू की है। टिकट कटने से नाराज विधायकों को मनाने के लिए संजय सिंह ने कवायद शुरू की है।
X
टिकट कटने से नाराज विधायकों को मनाने के लिए संजय सिंह ने कवायद शुरू की है।टिकट कटने से नाराज विधायकों को मनाने के लिए संजय सिंह ने कवायद शुरू की है।

  • ‘आप’ में टिकट कटने से बगावत पार्टी ने रूठों को मनाने की शुरू की कवायद, देनी पड़ी सफाई 
  • दिल्ली चुनाव प्रभारी संजय सिंह ने कहा- तीन स्तरीय सर्वे रिपोर्ट के आधार पर कटे हैं टिकट

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2020, 07:03 AM IST

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी की ओर से सभी सीटों के लिए 70 उम्मीदवारों की सूची जारी होने के बाद बगावत शुरू हो गई। जिन 15 विधायकों के टिकट काटे गए हैं उनमें शामिल बदरपुर से विधायक एनडी शर्मा ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर टिकट के लिए 10 करोड़ रुपए मांगने तक का आरोप लगा दिया। उन्होंनें निर्दलीय लड़ने की भी घोषणा की। बाकी विधायकों ने भी बागी तेवर अपना लिए हैं।

बुधवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता रूठे विधायकों को मानने में जुटे रहे। डैमेज कंट्रोल के लिए खुद आप के दिल्ली चुनाव प्रभारी संजय सिंह को सामने आना पड़ा। टिकट कटने के बाद बुधवार को कई विधायक संजय सिंह के निवास पर पहुंचे। सुबह दिल्ली कैंट के विधायक कमांडो सुरेन्द्र कुमार उनके निवास पर पहुंचे। इसके बाद संसद सिंह पार्टी मुख्यालय पर पहले से तय प्रेसवार्ता में मुंडका विधायक सुखबीर दलाल और कमांडो सुरेन्द्र कुमार को लेकर आए। इसके बाद दोपहर में संजय सिंह के घर पर बवाना विधायक रामचंद्र और हरी नगर से विधायक जगदीप सिंह भी अपने समर्थकों के साथ गए। यहां पर उनकी लंबे समय तक बातचीत होती रही।

इससे पहले प्रेसवार्ता में सिंह ने कहा कि पार्टी की पीएसी ने तीन स्तरीय सर्वे में कामकाज के आधार पर टिकट दी है। जिन विधायकों का टिकट कटा है, उनका नाराज होना स्वाभाविक है। वह हमारे साथी हैं। उनको संगठन सहित अन्य जिम्मेदारियां दी जाएंगी। उनको समझाकर साथ लेकर आएंगे। उन्होंने कहा कि टिकट कटने के बाद आरोप में कोई नई बात नहीं है। पहले भी पार्टी ने ही उनको टिकट दी थी। वहीं, एक दिन पहले पार्टी ज्वाइन करने वाले कांग्रेस नेताओं को टिकट देने पर सिंह ने कहा कि पार्टी की शुरुआत में भी नए लोगों को ही टिकट दी गई थी। इसमें कुछ अगल नहीं है। वहीं, एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि अधिकतर नाराज विधायकों को मना लिया गया है।

  • राम सिंह के पार्टी ज्वाइंन कराने से ही पार्टी के कार्यकर्ता नाखुश हैं। हमने पांच साल गुंडाें से बदरपुर को निजात दिलाई। अब पार्टी ही उनको ले आई। मुझसे मनीष सिसोदिया ने कहा कि राम सिंह पार्टी ज्वाइन करने के लिए 21 करोड़ रुपए दे रहा है। तुम्हें टिकट चाहिए तो 10 करोड़ रुपए दो। मैंने पार्टी छोड़ दी। अब निर्दलीय चुनाव लडूंगा।  - एनडी शर्मा, विधायक, बदरपुर
  • मेरे पांच साल की मेहनत पर पार्टी ने प्रश्नचिन्ह लगा दिया। अब यह आम आदमी पार्टी नहीं स्मार्ट आदमी पार्टी हो गई है। मेरे घर पर आकर टिकट दिया था। गुरुवार को निर्णय लूंगा। - अवतार सिंह कालकाजी, विधायक, कालकाजी।
  • मेरी पूरी मेहनत पर पानी फेर दिया। चेहते को  टिकट देने के लिए सबकुछ दरकिनार कर दिया गया। दूसरी पार्टियों से भी नीचे गिर गई पार्टी। मैं जनता और अपने समर्थकों के साथ जनसंपर्क कर रहा हूं। आगे का निर्णय कर लूंगा। -विजेंद्र गर्ग, विधायक, राजेंद्र नगर
  • मेरे पार्टी ने आखरी समय में मेरा टिकट काट दिया। मैंने सीएए की हिंसा में मुख्यमंत्री को समझाने को कहा था। इसी बात के बाद मेरा टिकट काटा गया।  जिस पार्टी में मेरा मान सम्मान नहीं है।  ऐसी पार्टी में मैं नहीं रहूंगा। - हाजी इशराक, विधायक, सीलमपुर
  • जिन विधायकों का टिकट कटा है, उनका नाराज होना स्वाभाविक है। उनको संगठन सहित अन्य जिम्मेदारियां दी जाएंगी। उनको समझाकर साथ लेकर आएंगे। उन्होंने कहा कि टिकट कटने के बाद आरोप में कोई नई बात नहीं है। - संजय सिंह, प्रभारी दिल्ली, आम आदमी पार्टी
  • इस पार्टी में बात करने का लायक कोई नहीं बचा। मैं पार्टी में रहूंगा और पार्टी विरोधी निर्णयों के खिलाफ आवाज उठाएंगा। काम ठीक नहीं होने के सर्वे पर मेरा टिकट काटने की बात कही जा रही है।”  - मनोज कुमार, विधायक, कुंडली

इधर संजय सिंह ने दिया गौतम गंभीर को जवाब, कहा- सरकार बनने पर फ्री सेवाएं जारी रहेंगी 
भाजपा नेताओं के मुफ्त सेवाओं पर बयान को लेकर आम आदमी पार्टी ने बुधवार को भाजपा पर निशाना साधा। प्रेसवार्ता में संजय सिंह ने कहा कि पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने कहा कि यदि जनता को फ्री सेवाएं दी जाएंगी तो जनता उसका महत्व नहीं समझेगी। सिंह ने कहा कि मैं गंभीर से कहना चाहता हूं कि सांसद के तौर पर वह सरकार से फ्री सुविधाएं ले तो ठीक, आम जनता को केजरीवाल सरकार वह सुविधा देने लगे तो गलत।। इससे साबित होता है कि भाजपा आम जनता विरोधी मानसिकता से ग्रस्त है। सरकार की सुविधाओं की अहमियत गरीब जनता ही समझ सकती है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना